Homeराज्यहरियाणाभिवानी : कम्प्यूटर कर्मचारी मांगों को लेकर उपायुक्त से मिले

भिवानी : कम्प्यूटर कर्मचारी मांगों को लेकर उपायुक्त से मिले

पंकज सोनी, भिवानी :
जिले के सभी उप-तहसील, तहसील, उप-मंडल, आरटीए व अन्य सभी विभागों में कार्यरत कम्प्यूटर आप्रेटर जोकि लगभग 20 वषों से लगातार काम करते आ रहे थे। उपायुक्त ने उनको ठेका प्रथा के अंदर करने के आदेश दिए हैं। जिसके रोष स्वरूप सभी विभागों को कम्प्यूटर कर्मचारी इसके विरोध में 13 जुलाई मंगलवार से उपायुक्त के कार्यालय के सामने धरने पर बैठ  हुए हैं। धरने के दुसरे दिन कम्प्यूटर कर्मचारी अपनी मांगों को लेकर उपायुक्त से मिलने गए तब भी उपायुक्त के रैवये में कोई बदलाव नहीं था। उन्होंने कर्मचारियों के साथ सही ढंग से बात नहीं की और अपनी हठधर्मिता पर अड़े रहे।

कम्प्यूटर प्रोफेसनल संघ के राज्य कमेटी के राज्य मंत्री दिनेश कुमार ने बताया कि उसके बाद कृषि मंत्री जेपी दलाल के आवास का घेराव किया और उन्हें मांगों का ज्ञापन पत्र सौंपा तथा उपायुक्त के रवैये से भी अगवत करवाया। इस विषय पर जिला अध्यक्ष अनिल कुमार ने बताया कि भारतीय मजदूर संघ के साथ मिलकर एक प्रतिनिधि मण्डल उपायुक्त कार्यालय में बातचीत करने हेतु भेजा। जिस प्रतिनिधि मण्डल में भारतीय मजदूर संघ के प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य पदम सिंह तंवर, स्वास्थ्य कर्मचारी संघ के अध्यक्ष पवन बागनवाला, संगठन मंत्री विजय कुमार, कम्प्यूटर प्रोफेसनल संघ के राज्य कमेटी के राज्य मंत्री दिनेश कुमार, राज्य के प्रमुख सलाहकार मुकेश सिहाग व जिला महामंत्री सुशील बिश्रोई उपस्थित थे।

प्रतिनिधि मण्डल ने अपनी मांगों का ज्ञापन उपायुक्त को सौपते हुए कहा कि प्रदेश के किसी जिले में भी किसी उपायुक्त ने इस तरह के आदेश जारी नहीं किए हैं कि डीआईटीएस के तहत कार्य करने वाले कर्मचारियों के मुख्यमंत्री द्वारा 11 सितंबर 2019 को भारतीय मजदूर संघ के पदाधिकारियों के साथ बातचीत करते हुए इनके सर्विस रूल आईटी विभाग द्वारा जारी किए जा चुके हैं। जिनको शीघ्र ही लागू किया जाएगा। लेकिन उपायुक्त ने मुख्यमंत्री के आदेशों की अवेहलना करते हुए प्रतिनिधि मण्डल के साथ अपने पद का दुरूपयोग करते हुए धमकाना शुरू कर दिया और कहा कि अगर काम करना है तो मेरे कहे अनुसार चलो नहीं तो सभी को घर बैठा दिया जाएगा।

जिला महामंत्री सुशील कुमार बिश्रोई व कार्यकारी अध्यक्ष पवन कौशिक ने अपनी मांगों का ज्ञापन भारतीय मजदूर संघ के प्रतिनिधि मंडल के साथ मिलकर मुख्यमंत्री को भेजा। उन्होंने कहा कि डीआईटीएस भिवानी में लगभग 15 से 20 वर्षों से अनुबंध आधार पर कार्यरत कम्प्यूटर प्रोफेसनल को आउट सोर्शिंग की प्रक्रिया से करने की कार्रवाई को तुरंत प्रभाव से रद्द किया जाए, पहले से लगे सभी कम्प्यूटर प्रोफेसनल को डी.आई.टी.एस. के अनुबंध आधार पर ही रखा जाए, डी.आई.टी.एस/आउट र्सोसिंग/हाट्रोन भिवानी में कम्प्यूटर प्रोफेशनल का टाईप टैस्ट रद्द किया जाए, प्रधान सचिव इलेक्ट्रोनिक एवं सूचना प्रोद्योगिकि विभाग हरियाणा चण्डीगढ़ द्वारा 7 जनवरी 2021 को कम्प्यूटर प्रोफेशनल के वेतनमान में पूरे प्रदेश में बढ़ोतरी की गई थी।

अन्य जिलों में लागू हो गई परंतु यहां उपायुक्त उसे दबाए हुए बैठे  हैं जिससे उनकी मनसा पर शक होता है। उसे तुरंत प्रभाव से लागू करवाया जाए और पिछले तीन माह से बगैर वेतन के ये कम्प्यूटर प्रोफेशनल कर्मचारी काम कर रहे हैं जिसे तुरंत प्रभाव से जारी किया जाए। जिन कम्प्यूटर प्रोफेशनल को हाट्रोन रेट से डीसी रेट पर कर दिया गया है। उन्हें पून: हाट्रोन पॉलिसि का लाभ देते हुए हाट्रोन रेट दिया जाए। जो कम्प्यूटर प्रोफेशनल हाट्रोन की सेवा शर्त को पूर्ण करता है उसे हाट्रोन रेट में शामिल किया जाए। जिला भिवानी के डीसी रेट में 25 प्रतिशत की बढौतरी करते हुए अन्य जिलों की भांति अनुभव के आधार पर डीसी रैट में कम्प्यूटर प्रोफेशनल की श्रेणी में शामिल किया जाए ताकि वरिष्ठ कर्मचारी जो डीसी रेैट ले रहे हैं। उन्हें इनका लाभ मिल सके।

मुख्य सचिव ईलेक्ट्रोनिक सुचना प्रोद्योगिक विभाग हरियाणा चण्डीगढ द्वारा 7 जून व 15 जून 2018 की हिदायतों के अनुसार तुरंत प्रभाव से जिला भिवानी के डी.आई.टी.एस में लागू किया जाए जो हिदायतें इस प्रकार हैं। जिला आई.टी सोसायटी में दिन प्रतिदिन नए-नए कर्मचारियों को उपायुक्तों द्वारा लगाया जा रहा है जोकि हरियाणा आईटी विभाग के निदेर्शों की पालना नहीं की जा रही है। डी.आई.टी.एस. के कर्मचारियों को उक्त पत्र क्रमाक की हिदायतों के अनुसार केवल डी.आई.टी.एस. के प्रोजेक्टों में डयूटी लगाई जाए, अन्य विभागों में न लगाया जाए। उक्त पत्र अनुसार कम्प्यूटर प्रोफेसनल का अनुबंध 3 वर्ष/ 5 वर्ष किया जाए। इस अवसर पर कार्यकारी अध्यक्ष पवन कौशिक ने बताया कि उनकी उक्त मांगों को नहीं माना जाता है और उपायुक्त अपने अडिय़ल एवं तानाशाही रवैये पर कायम रहते हैं तो यह धरना अनिश्चितकालीन के लिए शुरू हो जाएगा और पूरे प्रदेश के कम्प्यूटर आॅप्रेटर राज्य स्तर पर इसमें शामिल हो जाएंगे। जिसके लिए पूर्ण तह उपायुक्त भिवानी जिम्मेवार होंगे। इस अवसर पर पूरे जिले के सभी विभागों के कम्प्यूटर आप्रेटर उपस्थित रहे।

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular