Homeराज्यहरियाणाकैथल: सोलर इन्वर्टर चार्जर को अनुदान पर लगाने की योजना का लाभ...

कैथल: सोलर इन्वर्टर चार्जर को अनुदान पर लगाने की योजना का लाभ उठाएं लाभार्थी

मनोज वर्मा, कैथल:
अतिरिक्त उपायुक्त सतबीर कुंडू ने बताया कि नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा विभाग द्वारा पहले से लगे पारंपरिक इन्वर्टर को चार्ज करने के लिए सोलर इन्वर्टर चार्जर को अनुदान पर लगाने की योजना लागू की गई है। सोलर इन्वर्टर चार्जर के दो मॉडल जैसे 320 वॉट क्षमता का सोलर इन्वर्टर चार्जर, जिसमें 320 वॉट क्षमता के पैनल व 20 एम्पीयर का इंटरफेस चार्ज कंट्रोलर शामिल है। पहले से लगे पारंपरिक 600-800 वॉट के इन्वर्टर, जिसमें 12 वॉट ष्ठष्ट ङ्ग 120-180 ्र॥ की सिंगल बैटरी पर स्थापित किया जाएगा तथा दूसरा मॉडल 640 वॉट क्षमता के पैनल व 40 एम्पीयर का इंटरफेस चार्ज कंट्रोलर शामिल है। पहले से लगे 1000-1800 वीए के पारंपरिक इन्वर्टर पर जिसमें 12 वी ष्ठष्ट ङ्ग 120-180 ्र॥ की दोहरी बैटरी होंगी पर स्थापित किया जाएगा। अतिरिक्त सोलर पैनल लगवाना वैकल्पिक है। तदनुसार लाभार्थी अपनी लागत पर उच्च क्षमता का सोलर पैनल भी स्थापित करवा सकता है।
बाक्स
 एडीसी सतबीर कुंडू ने बताया कि लाभार्थी सोलर इन्वर्टर चार्जर लगाने हेतू सरलहरियाणा डॉट जीओवी डॉट इन पोर्टल पर ऑनलाईन आवेदन कर सकता है। परिवार पहचान पत्र वाला कोई भी हरियाणा निवासी आवेदन करने के लिए पात्र होगा। वे सभी परिवार जिनके पास घरेलू इन्वर्टर है और इस मौजूदा इन्वर्टर पर सोलर इन्वर्टर चार्जर स्थापित नही है वे पहले आओ-पहले पाओ के आधार पर इस योजना के लिए पात्र हैं। विभागीय योजना के तहत आवेदक ने पिछले 5 वर्षों में सोलर इन्वर्टर चार्जर स्थापित नही किया होना चाहिए। ऑनलाईन आवेदन करते समय छत की फोटो जहां पर सोलर लगवाना है, अपलोड करें।
उन्होंने कहा कि 320 वॉट सोलर इन्वर्टर चार्जर की अनुमानित कीमत कम्पनियों के रेट अनुसार 1800 रुपये से 24 हजार 979 रुपये तक है तथा जिस पर 6000 रुपये का अनुदान प्रदान किया जाएगा व 640 वॉट सोलर इन्वर्टर चार्जर की अनुमानित कीमत कम्पनियों के रेट अनुसार 2800 रुपये से 39 हजार 792 तक है तथा जिस पर दस हजार रुपये का अनुदान प्रदान किया जाएगा। आवेदकों को विभाग के मानको के अनुसार विभाग की पैनलबद्ध कंपनियों, जिनकी विस्तृत जानकारी विभाग की वैबसाईट हरेडा डॉट जीओवी डॉट इन पर उपलब्ध है। रेट में मोल भाव करके सिर्फ लाभार्थी हिस्सा कंपनी को देकर उक्त प्रणाली दो महीने के अंदर जारी स्वीकृति पत्र के शर्तानुसार किसी भी कंपनी से स्थापित करवानी होगी। इस संदर्भ में अधिक जानकारी के लिए अतिरिक्त उपायुक्त कार्यालय के कमरा नंबर 206 पर संपर्क किया जा सकता है।

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments