HomeहरियाणायमुनानगरAwareness Program In Schools विद्यार्थियों ने स्वच्छता के प्रति किया जागरूक

Awareness Program In Schools विद्यार्थियों ने स्वच्छता के प्रति किया जागरूक

Awareness Program In Schools

वेस्ट से बेस्ट बनाकर शहर का करें सौंदर्यीकरण
प्रभजीत सिंह लक्की, यमुनानगर :
स्वच्छ सर्वेक्षण 2022 के तहत नगर निगम द्वारा विभिन्न स्कूलों में जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिसमें विद्यार्थियों ने रैली व अन्य गतिविधियों के माध्यम से शहरवासियों को स्वच्छता के प्रति जागरूक किया। ये सभी कार्यक्रम मेयर मदन चौहान व निगमायुक्त धीरेंद्र खड़गटा के निर्देशों पर कार्यकारी अधिकारी सुशील भुक्कल के नेतृत्व में किए गए।

Awareness Program In Schools

कार्यक्रम में राजकीय मॉडल संस्कृति सीनियर सेकेंडरी स्कूल कैंप, राजकीय माध्यमिक विद्यालय जामपुर, राजकीय माध्यमिक विद्यालय फर्कपुर में स्वच्छ सर्वेक्षण 2022 के तहत विद्यार्थियों को जागरूक किया। इन कार्यक्रमों में विद्यार्थियों को गीला सूखा और ई-वेस्ट को अलग अलग करने के लिए प्रेरित किया। घर के वेस्ट मटेरियल को रिड्यूस, रीसाइकिल, रीयूज के माध्यम से खूबसूरत चीजें बनाकर अपने शहर का सौंदर्यीकरण करने में योगदान देने के लिए प्रेरित किया।

Awareness Program In Schools

इस अवसर पर विद्यार्थियों को किचन वेस्ट से खाद बनाने के लिए भी प्रेरित किया और 1969 पर कॉल करके स्वच्छता रैंकिंग देने की अपील की। कैंप के राजकीय मॉडल संस्कृति सीनियर सेकेंडरी स्कूल के विद्यार्थियों ने रैली निकालकर लोगों को स्वच्छता व स्वच्छ सर्वेक्षण 2022 के प्रति जागरूक किया। रैली को प्राचार्या डॉ. उषा नागी ने हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। यह रैली स्कूल से शुरू होकर कैंप बाजार व विभिन्न गलियों से होती हुई स्कूल में आकर संपन्न हुई। रैली में एनसीसी कैडेट्स व स्काउट के बच्चों ने भी बढ़चढ़ कर भाग लिया।

Awareness Program In Schools

रैली के दौरान दुकानों, रेहड़ियों और यमुना नदी के पास पॉलीथिन, प्लास्टिक की बोतलों को एकत्रित कर लोगों को अपने आसपास सफाई रखने के लिए प्रेरित किया। टीम कोर्डिनेटर शशी गुप्ता ने बताया अगर सभी स्कूल इसी तरह के कार्यक्रमों का आयोजन कर लोगों को स्वच्छता व सफाई के प्रति जागरूक करना शुरू करदे तो निश्चित रूप से ही हमारे शहर को उच्चतम रैंकिंग मिलेगी। इस अवसर पर डॉ गोपाल सिंह, धर्मपाल, अनिल गुप्ता, मीनु चसवाल, कविता, मनजीत, भावना, रोजी आदि उपस्थित रहे।

Awareness Program In Schools

Read Also : Statement Of Prof. Rajbir Singh भारतीय साहित्य रचना प्रक्रिया में समावेशी कलेवर होना जरूरी : प्रो. राजबीर सिंह

Connect With Us : Twitter Facebook

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular