Homeराज्यहरियाणाशिमला: कोटली में एसडीएम कार्यालय खोलने व पुलिस चौकी कोटली को पुलिस...

शिमला: कोटली में एसडीएम कार्यालय खोलने व पुलिस चौकी कोटली को पुलिस स्टेशन में स्तरोन्नत करने की घोषणा

मुख्यमंत्री ने कोटली में 80 करोड़ रुपए की परियोजनाओं के लोकार्पण तथा शिलान्यास किए
आज समाज डिजिटल, शिमला:
मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने ऐलान किया कि मंडी जिले के कोटली में एसडीएम कार्यालय खोला जाएगा। उन्होंने क्षेत्र में गठित चार नई ग्राम पंचायतों में पंचायत भवनों के निर्माण के लिए प्रत्येक पंचायत को 11 लाख रुपए प्रदान करने, मंडी में किसान भवन की मुरम्मत के लिए 10 लाख रुपए, पुलिस चौकी कोटली को पुलिस स्टेशन में स्तरोन्नत करने, आईटीआई कोटली में दो नए ट्रेड आरंभ करने, कोटली में अटल आदर्श पाठशाला खोलने, क्षेत्र में पांच सम्पर्क मार्गों के लिए प्रत्येक मार्ग को पांच लाख रुपए देने तथा क्षेत्र की राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला में विज्ञान कक्षाएं आरम्भ करने की घोषणा भी की। वे सोमवार को मंडी जिले के कोटली में जनसभा को संबोधित कर रहे थे।
जयराम ठाकुर ने कहा कि विधानसभा क्षेत्र के धुआं देवी क्षेत्र को पर्यटन की दृष्टि से विकसित किया जाएगा। उन्होंने धुआं देवी में पटवार वृत्त खोलने, प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र पंडोह को सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में स्तरोन्नत करने, मंडी में बंदोबस्त कार्यालय खोलने तथा क्षेत्र के पशु औषधालय को पशु अस्पताल में स्तरोन्नत करने की भी घोषणा की। उन्होंने रंधाड़ा, कोट मसर में प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र खोलने की भी घोषणा की। वहीं उन्होंने समारोह में भाग लेने वाले प्रत्येक महिला मंडल को 15 हजार रुपए देने की भी घोषणा की।
मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्तमान प्रदेश सरकार के साढ़े तीन वर्ष का कार्यकाल उपलब्धियों भरा रहा है। इस दौरान प्रदेश के प्रत्येक क्षेत्र में अतुलनीय विकास हुआ है। कोरोना महामारी के बावजूद प्रदेश सरकार ने यह सुनिश्चित किया है कि विकास की गति निरंतर जारी रहे। उन्होंने कहा कि इसका श्रेय प्रदेश के लोगों के सक्रिय तथा पूर्ण सहयोग को जाता है, जो सरकार के लिए प्रेरणा तथा प्रोत्साहन का स्रोत रहा है। जयराम ठाकुर ने कहा कि भारत में पहले एक भी पीपीई किट तैयार नहीं की जाती थी, लेकिन प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के कुशल नेतृत्व के फलस्वरूप आज देश में 6 लाख पीपीई किट प्रतिदिन तैयार की जाती है। यह दुर्भाग्य की बात है कि कुछ नेता इस संवेदनशील मुद्दे पर भी राजनीति करने की कोशिश कर रहे हैं। उन्होंने कांग्रेस नेताओं को स्मरण करवाया कि 50 वर्षों से भी अधिक अवधि तक सत्ता में रहने के बावजूद प्रदेश में केवल 50 वेंटिलेटर थे। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार के निवेदन पर प्रधानमंत्री ने प्रदेश को 500 वेंटिलेटर प्रदान किए तथा आज प्रदेश में लगभग 800 वेंटिलेटर उपलब्ध हैं। इसी प्रकार गत 50 वर्षों के दौरान प्रदेश में केवल दो आॅक्सीजन संयंत्र थे, लेकिन अब प्रदेश में 28 आॅक्सीजन संयंत्र स्थापित किए जा रहे हैं, जिनमें से 12 स्थापित किए जा चुके हैं।
हिमाचल ने कोविड वैक्सीन की पहली डोज लगाने में 100 फीसदी लक्ष्य हासिल किया
मुख्यमंत्री ने कहा कि हिमाचल प्रदेश ने कोविड टीकाकरण के तहत पहली खुराक लगाने में शत-प्रतिशत लक्ष्य प्राप्त कर लिया है। उन्होंने कहा कि इस उपलब्धि को प्राप्त करने वाला प्रदेश देश का पहला राज्य है। उन्होंने कहा कि मंडी शहर में 200 करोड़ रुपए की लागत से शिवधाम बनाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि 30 करोड़ रुपए की लागत से मंडी शहर में संस्कृति सदन बनाया जा रहा है। सरदार वल्लभभाई पटेल कलस्टर विश्वविद्यालय मंडी पर 22 करोड़ रुपए तथा मंडी शहर में सड़कों, पुलों तथा भवनों के निर्माण पर 100 करोड़ रुपए से अधिक व्यय किए गए हैं। मंडी शहर में जल जीवन मिशन के तहत 48 करोड़ रुपए की परियोजनाएं कार्यान्वित की जा रही हैं तथा सीवरेज योजना के तहत 68 करोड़ रुपए व्यय किए जा रहे हैं।
मुख्यमंत्री ने कोटली में 80 करोड़ रुपए की 12 परियोजनाओं के लोकार्पण तथा शिलान्यास किए
मुख्यमंत्री ने 80 करोड़ रुपए की लागत की 12 विकासात्मक परियोजनाओं के लोकार्पण व शिलान्यास किए। इनमें जल जीवन मिशन के तहत ग्राम पंचायत लागधार में 16.66 करोड़ रुपए की उठाऊ जलापूर्ति योजना रोडा नाला सताहण, 5.42 करोड़ रुपए के ग्रामीण विकास केन्द्र सदयाणा के भवन तथा 58 लाख रुपए के पशु औषधालय बीर के भवन का उद्घाटन शामिल है। जयराम ठाकुर ने जल जीवन मिशन के तहत तहसील सदर की ग्राम पंचायत बीर बाड़ी, गुमाणु सदयाणा, कसाण, सदोह और तमरोह में कथयारी तथा समीप के गांवों के लिए 18.37 करोड़ रुपए की लागत से उठाऊ जलापूर्ति योजना के सुधार तथा संवर्धन कार्य का शिलान्यास किया। उन्होंने नाबार्ड के तहत 5.08 करोड़ रुपए की लागत से ग्राम पंचायत निचला लोट, बग्गी, सेहली, साई व कसाण की पुरानी पाइपों को बदलने, एडीबी के तहत 4.57 करोड़ रुपए की लागत से उठाऊ जलापूर्ति योजना स्तरैण, पतरौण तथा उठाऊ जलापूर्ति योजना रंधाड़ा के सुधार व संवर्धन कार्य, 15.37 करोड़ रुपए की लागत से ग्राम पंचायत भरगांव, कोटली, चनियारा ऊपरली सुराड़ी व खलाणू के लिए उठाऊ जलापूर्ति योजना तथा 12 करोड़ रुपये की लागत से उठाऊ जलापूर्ति योजना चाम्बी, जोला, झाल, पधीयूं, तल्याहड़ व सैण का शिलान्यास भी किया। उन्होंने 58 लाख रुपए की लागत से रंधाड़ा-अलाथू वाया चचहोला सड़क, 1.26 करोड़ रुपए की लागत से ऊपराल थनौट सड़क वाया सैहली, 19 लाख रुपए की लागत से गांव सताहण के लिए सड़क तथा 92 लाख रुपए की लागत से गांव बनौण से ठारू तथा गैहरा सड़क का भूमि पूजन भी किया। उन्होंने आरएफएसएल, सीआर मंडी में आरटीपीसीआर आधारित कोविड-19 टेस्टिंग सुविधा का भी शुभारम्भ किया।
जयराम ठाकुर सीएम यह प्रदेश का सौभाग्य : महेंद्र सिंह
जल शक्ति मंत्री महेन्द्र सिंह ठाकुर ने कहा कि हिमाचल प्रदेश का सौभाग्य है कि राज्य का नेतृत्व जिला मंडी से सशक्त और ईमानदार नेता जय राम ठाकुर कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि इससे जिला मंडी के लोगों की बहुत समय से लम्बित इच्छा और आकांक्षा पूर्ण हुई है। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार का जल जीवन मिशन कार्यक्रम देश और राज्य के लोगों के लिए वरदान साबित हुआ है। उन्होंने कहा कि इस मिशन के प्रभावी कार्यान्वयन के लिए हिमाचल प्रदेश को श्रेष्ठ राज्य आंका गया है। उन्होंने कहा कि पिछले तीन वर्षों के दौरान राज्य में 6.04 लाख पानी के नल लगाए गए हैं। वहीं मंडी सदर के विधायक अनिल शर्मा ने उनके गृह क्षेत्र में मुख्यमंत्री का स्वागत करते हुए क्षेत्र की विभिन्न विकासात्मक मांगों के बारे में अवगत करवाया। पूर्व विधायक डीडी ठाकुर ने मुख्यमंत्री और इस मौके पर उपस्थित अन्य गणमान्य व्यक्तियों का स्वागत किया। उन्होंने नव स्तरोन्नत नगर निगम मण्डी के लिए 15 करोड़ रुपए का विशेष अनुदान स्वीकृत करने के लिए मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त किया। उन्होंने मंडी नगर में 200 करोड़ रुपए की लागत से शिवधाम बनाने के लिए भी मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त किया।

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular