HomeहरियाणायमुनानगरAnganwadi Workers Strike Update पीएम व सीएम घोषणाओं को लागू करने की...

Anganwadi Workers Strike Update पीएम व सीएम घोषणाओं को लागू करने की बजाए नेताओं का किया जा रहा है दमन

Anganwadi Workers Strike Update

प्रभजीत सिंह लक्की, यमुनानगर :

Anganwadi Workers strike Update प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री ने 2018 में की गई घोषणाओं को लागू करने की बजाए हरियाणा सरकार द्वारा आंगनबाड़ी यूनियन (Anganwadi Union) व अन्य संगठनों के नेताओं की बर्खास्तगी व उन पर दर्ज मुकदमो के विरोध में 45 वें दिन की तालाबंद हड़ताल के दौरान यमुनानगर अनाज मंडी व साढौरा रेस्ट हाउस में सुनीता करहेड़ा व बलजिंदर कौर की अध्यक्षता में धरना जारी रहा। (Anganwadi Workers Strike Update)

सभी वर्कर्स व हैल्पर्स ने हरियाणा सरकार की तानाशाही के खिलाफ नारे लगाए

धरने के दौरान सभी वर्कर्स व हैल्पर्स ने हरियाणा सरकार की तानाशाही के खिलाफ नारे लगाए। मौके पर जिला प्रधान रेखा सैनी ने बताया कि कल 22 जनवरी को शिक्षा मंत्री के आवास पर प्रदर्शन कर अपनी मांगो का ज्ञापन देने की तैयारियां लगभग पूरी कर ली गई हैं। कल चाहे बरसात आये या आंधी तूफान चले लेकिन प्रदर्शन हर हाल में किया जाएगा। इस प्रदर्शन में जिला की तमाम वर्कर्स व हैल्पर्स, आशा वर्कर्स, मिड डे मील वर्कर्स व ग्रामीण सफाई कर्मचारी बढ़चढ़कर भाग लेंगे। धरने पर बैठी वर्कर्स व हैल्पर्स के हौंसले को बढ़ाने के लिए सीटू नेता विनोद त्यागी,रोशन लाल व सर्व कर्मचारी संघ के जिला प्रधान महिपाल सौदे, जिला सचिव गुलशन भारद्वाज और ब्लॉक प्रधान जोत सिंह रावत भी पहुँचे और उन्होंने अपनी बात रखते हुए कहा कि हरियाणा सरकार जिस प्रकार से पहले से की वायदों को पूरा करने की बजाए नेताओं के टर्मिनेट करवाकर उनके ऊपर मुक़दमे दर्ज करवा रही हैं। इससे हड़ताल कमजोर होने वाली नही है बल्कि हड़ताल और ज्यादा बढ़ने वाली हैं।

मांग नही बल्कि उनका हक है Anganwadi Workers Strike Update

आंगनबाड़ी वर्कर्स व हैल्पर्स प्रधानमंत्री की सितम्बर, 2018 में वर्कर के मानदेय में 1500 और हेल्पर्ज के मानदेय में 750 रुपए बढ़ोतरी करने की घोषणा को लागू करने और प्रदेश के मुख्यमंत्री द्वारा मार्च, 2018 में विधानसभा में वर्कर को कुशल व हेल्पर को अर्धकुशल कर्मचारी का दर्जा देने के एलान को लागू करवाने के लिए आंदोलन कर रही है। उन्होंने कहा कि यह मांग नही बल्कि उनका हक है। (Anganwadi Workers Strike Update) सवैधानिक प्रक्रिया के तहत प्रधानमंत्री की घोषणा को यदि कोई प्रदेश लागू नही करता तो उस प्रदेश की सरकार के खिलाफ कार्यवाही होनी चाहिए।

इसी प्रकार मुख्यमंत्री द्वारा विधानसभा में किए ऐलान को लागू न करने पर महिला एवं बाल विकास विभाग के उच्च अधिकारी दोषी है। परंतु असल दोषियों को बचाते हुए विभाग के अधिकारी अपने नम्बर बनाने के चक्कर मे आंगनवाड़ी वर्कर पर ही कार्यवाही करने में लग गए है। सर्व कर्मचारी संघ व सीटू इसे किसी भी सूरत में बर्दाश्त नही कर सकता।

इन्होने किया सम्बोधित

इस अवसर पर यमुनानगर से अंग्रेजों पुष्पा सुनैना दीपमाला लवली संतोष पूजा रानी नाहरपुर लता व साडोरा में अमरीन रविंद्र कौर करमजीत सरोज मीना मनजीत सुरेखा रेनू सुषमा आदि ने भी संबोधित किया।

 

Also Read : Adani Group In Electric Vehicle अब गाड़ियां भी बनाएंगे गौतम अडानी, ट्रेडमार्क हुआ अप्रूव

SHARE
Mohit Sainihttps://indianews.in/author/mohit-saini/
Humanity Is the Best Religion In The Word
RELATED ARTICLES

Most Popular