HomeहरियाणाकरनालAction Against Property Tax Defaulters मॉडल टाऊन स्थित प्रतिष्ठान सील, 8 ने...

Action Against Property Tax Defaulters मॉडल टाऊन स्थित प्रतिष्ठान सील, 8 ने मौके पर दिया ड्राफ्ट व चैक

 

Action Against Property Tax Defaulters मॉडल टाऊन स्थित प्रतिष्ठान सील, 8 ने मौके पर दिया ड्राफ्ट व चैक

  • प्रॉपर्टी टैक्स डिफाल्टरों के खिलाफ कार्रवाई
  •  सीलिंग कार्रवाई के दौरान निगम ने रिकवर किए करीब 2 करोड़ 45 लाख रूपये

प्रवीण वालिया, करनाल :

Action Against Property Tax Defaulters : प्रॉपर्टी टैक्स डिफाल्टरों के खिलाफ कार्रवाई के पांचवे दिन नगर निगम बड़ी कार्रवाई अमल में लाया। नगर निगम आयुक्त नरेश नरवाल के निर्देश पर निगम की टीम ने 9 जगहों पर कार्रवाई करते हुए शहर के मॉडल टाऊन स्थित एक प्रतिष्ठान जहां पहले एस.बी.आई. ट्रैनिंग सेंटर था, मौजूदा समय में इस प्रतिष्ठान पर लड़कियों का होस्टल व प्ले स्कूल मौजूद है तथा होटल निर्माणाधीन है, को सील किया गया। इस प्रतिष्ठान के मालिक पर निगम का 1 करोड़ 94 लाख 33 हजार 585 रूपये का बड़ा बकाया लम्बे समय से शेष था, जिसके चलते इसे सील किया गया।

2 करोड़ 44 लाख 86 हजार 153 रूपये की रिकवरी

निगमायुक्त ने बताया कि इसके अतिरिक्त सीलिंग से बचने के लिए 8 दुकानदारों ने टीम को मौके पर ही ड्राफ्ट व चैक के रूप में प्रॉपर्टी टैक्स की बकाया राशि को निगम के खजाने में जमा कराया। इस प्रकार मंगलवार को 18 लाख 20 हजार 567 रूपये की राशि निगम के खजाने में आई। (Action Against Property Tax Defaulters) खास बात यह है कि बीती 14 मार्च से शुरू हुई सीलिंग की कार्रवाई के दौरान मंगलवार 22 मार्च तक निगम ने 2 करोड़ 44 लाख 86 हजार 153 रूपये की रिकवरी की है।

यह रही कार्रवाई-

इस बारे निगम आयुक्त नरेश नरवाल ने बताया कि पहले की तरह मंगलवार को भी निगम की टीम टैक्स डिफाल्टरों के खिलाफ कार्रवाई करने को निकली। इस दौरान ओल्ड प्रीतम पुरा स्थित दुकानदार ने सीलिंग की कार्रवाई से बचने के लिए मौके पर ही टीम को 1 लाख 71 हजार 315 रूपये जमा करा दिए। (Action Against Property Tax Defaulters) इसी प्रकार हांसी रोड स्थित फर्नीचर दुकानदार ने 4 लाख रूपये का चैक टीम को सौंप दिया। बहादुर चंद कॉलोनी स्थित कबाड़ी की दुकान पर 1 लाख 7 हजार 676 रूपये का बकाया था, जिसे उसने जमा करा दिया। इसी प्रकार चमन गार्डन स्थित दुकानदार ने सीलिंग टीम को 3 लाख 10 हजार 812 रूपये का चैक दिया और सीलिंग से बच गया।

उन्होंने जानकारी देते बताया कि शालीमार कॉलोनी स्थित एक प्रतिष्ठान मालिक ने 1 लाख 9 हजार 254 रूपये की राशि निगम के खजाने में जमा कराई। (Action Against Property Tax Defaulters) ओल्ड जी.टी. रोड स्थित फर्नीचर शॉप के मालिक ने भी 1 लाख 864 रूपये निगम के खजाने में जमा कराए। इसी प्रकार शाम कॉलोनी स्थित दुकानदार ने सीलिंग से बचने के लिए 4 लाख 72 हजार 47 रूपये का ड्राफ्ट टीम को दिया। बहादुर चंद कॉलोनी स्थित दुकानदार ने भी 1 लाख 48 हजार 599 रूपये निगम के खजाने में जमा कराए।

प्रॉपर्टी टैक्स में लगातार इजाफा

निगमायुक्त ने बताया कि डिफाल्टरों के खिलाफ सख्ताई के चलते प्रॉपर्टी टैक्स में लगातार इजाफा हो रहा है और करीब 11 करोड़ रूपये से ऊपर प्रॉपर्टी टैक्स निगम के खजाने में जमा हो चुका है। उन्होंने बताया कि प्रॉपर्टी टैक्स को लेकर हमारा लक्ष्य 20 करोड़ रूपये से अधिक की रिकवरी करना है। (Action Against Property Tax Defaulters) उन्होंने कहा कि चालू मास के अंत तक सीलिंग की कार्रवाई जारी रहेगी। उन्होंने बकायादारों से अपील कर कहा है कि सरकार की ओर से समस्त बकाया को एकमुश्त जमा करवाने से टोटल ब्याज माफ करने का ऐलान किया गया है। यही नहीं चालू वित्तीय वर्ष के बिलों पर भी 25 प्रतिशत की रिबेट दी गई है, बकायादारों को इस भारी-भरकम छूट का फायदा उठाना चाहिए। कार्रवाई में नगर निगम के डीएमसी अरूण कुमार बतौर ड्यूटी मजिस्ट्रेट उपस्थित रहे। निगम के कार्यकारी अधिकारी देवेन्द्र नरवाल, कर अधीक्षक गगनदीप सिंह व टीम तथा पुलिस बल मौजूद रहा।

Also Read : भ्रष्टाचार के मामले में मेरा कोई सगा नही, दोषी नहीं बख्शा जाएगा

 

SHARE
Mohit Sainihttps://indianews.in/author/mohit-saini/
Humanity Is the Best Religion In The Word
RELATED ARTICLES

Most Popular