Homeराज्यहरियाणायमुनानगर : ट्रैक्टर बेचने के नाम पर व्यक्ति से ठगे 78 हजार...

यमुनानगर : ट्रैक्टर बेचने के नाम पर व्यक्ति से ठगे 78 हजार रुपए

प्रभजीत सिंह लक्की, यमुनानगर :
फेसबुक पर ट्रैक्टर बेचने के संबंध में पोस्ट डाल कर एक व्यक्ति ने गांव नगली 32 निवासी नसार से 78 हजार रुपये ठग लिए। आरोपित व्यक्ति ने खुद को सीआईएसएफ कर्मी बताया था। पुलिस ने आरोपित के खिलाफ धोखाधड़ी के आरोप में केस दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी।
जानकारी के अनुसार गांव नगली 32 निवासी नसार ने बिलासपुर पुलिस को दी शिकायत में बताया कि उसने फेसबुक पर अकाउंट बनाया हुआ है। नवंबर 2020 में मध्य प्रदेश निवासी अशोक सिंह ने फेसबुक पर ट्रैक्टर बेचने के संबंध में पोस्ट डाली थी। पोस्ट पढ़कर उसने आरोपित अशोक सिंह से फोन पर बात की। अशोक सिंह ने बताया कि वह सीआईएसएफ में पिछले 6 साल से चंडीगढ़ में नौकरी कर रहा है। चंडीगढ़ में उसने यह ट्रैक्टर पेड़ पौधों में पानी देने के लिए खरीदा था। जिसका उसे सीआईएसएफ की तरफ से 25 हजार रुपये महीना मिलता था। उसने बताया कि उसने यह ट्रैक्टर अपने साले कुरुक्षेत्र निवासी मुकेश के नाम करवा रखा है ताकि उसे नौकरी में परेशानी ना हो। अब उसकी बदली मध्य प्रदेश के इंदौर में हो गई है और वह ट्रैक्टर को अपने साथ इंदौर ले आया। लेकिन यह ट्रैक्टर का नंबर हरियाणा का है अगर आप यह ट्रैक्टर खरीदते हैं तो आपको यह ठीक रहेगा। अशोक कुमार ने उसके व्हाट्सएप पर ट्रैक्टर की वीडियो व फोटो भेजी। ट्रैक्टर उसे पसंद आ गया। उसका आरोपित के साथ दो लाख 10 हजार रुपए में ट्रैक्टर का सौदा तय हो गया। इस दौरान आरोपित ने उससे कहा कि वह ट्रैक्टर की आर्मी ट्रांसपोर्ट से बिल्टी करवा देगा तथा उसके पते पर ट्रैक्टर पहुंच जाएगा। 24 नवंबर को अशोक ने उससे कहा कि उसकी आर्मी ट्रांसपोर्ट मैनेजर से बात हो गई है और उसे 8850 रुपए सिक्योरिटी लगेगी। आरोपित ने उसे अकाउंट नंबर और बैंक का एफएससी कोड दिया। उसने वह पैसे उस अकाउंट नंबर में भेज दिए। 25 नवंबर को उसके पास फोन आया और कहा कि वह आर्मी से बोल रहा है। आपका ट्रैक्टर का पार्सल लोड है जो उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में है। ट्रैक्टर को आगे आने के लिए जीपीएस सुविधा बाधित है। इसको एक्टिवेट कराने के लिए आर्मी बिल्टी अनुसार 24500 उसके अकाउंट में डालने होंगे। उसने इस बारे आरोपित अशोक से बात की। अशोक ने उसे कहा कि वह आर्मी अकाउंट में पैसे डाल दे और यह पैसे उसके ट्रैक्टर के पैसों में से कट जाएंगे। 25 नवंबर को फिर से उसके पास फोन आया फोन करने वाले व्यक्ति ने कहा कि वह आर्मी से ड्राइवर बोल रहा है और अदर स्टेट जीएसटी आर्मी बिल्टी अनुसार 45 हजार रुपये उसके अकाउंट में जमा करवाने होंगे। उसने अशोक से बात करके उसके अकाउंट में 45 हजार रुपये जमा करवा दिए। इस प्रकार उसने 78350 आरोपित को दे दिए। इसके बाद आरोपित अपने फोन उठाना बंद कर दिया। उसने मामले की सूचना पुलिस को दी। पुलिस ने मामले की जांच के बाद अशोक के खिलाफ धोखाधड़ी के आरोप में केस दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी।

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments