Homeराज्यहरियाणाकरनाल : बैग छीनने वाले 4 आरोपी काबू

करनाल : बैग छीनने वाले 4 आरोपी काबू

प्रवीण वालिया, करनाल :
जिला करनाल के थाना घरौंडा में 30जुलाई को हरिन्द्र पुत्र नरेश कुमार निवासी गांव देवीपुर जिला करनाल ने एक शिकायत दी। जिसमें उसने बताया कि काफी समय से उसकी गांव बरसत में वीटा मिल्क के नाम से दूध की डेयरी है। जोकि वह 30 जुलाई अपनी दुकान बंद करके नगदी लेकर रणदीप के साथ उसकी मोटरसाईकिल पर बैठकर बरसत से देवीपुरा जा रहा था। जब वह यमुना पुल नजदीक मंगलगढी पंहुचे तो उनके पीछे से एक मोटरसाईकिल पर दो अज्ञात आरोपी आये और उससे उसका रूपयों से भरा बैग छीनकर व फायर करके मौका से फरार हो गए। मुदई के अनुसार उस बैग में करीब एक लाख पचास हजार रूपए की नगदी थी। इस संबंध में हरिन्द्र के ब्यान पर थाना घरौंडा में अज्ञात आरोपियों के खिलाफ धारा 379बी आईपीसी व आर्म्स एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया। मामले की आगामी तफ्तीश सीआईए-1 करनाल की टीम को सौंपी गई। सीआईए-1 इंचार्ज निरीक्षक दिपेंद्र सिंह के नेतृत्व में व एएसआई प्रवीन कुमार की अध्यक्षता में टीम ने दौराने तफ्तीश 11अगस्त को उपरोक्त वारदात को अंजाम देने वाले दोनों आरोपियों सद्दाम पुत्र मतलुब व तोशिफ पुत्र खुर्शीद जिला सहारनपुर उत्तर प्रदेश को गिरफ्तार कर लिया। तलाशी लेने पर आरोपियों के कब्जे से एक अवैध पिस्तौल .315 बोर, दो जिंदा कारतूस व एक मोटरसाईकिल बरामद की गई। इस संबंध में आरोपियों के खिलाफ थाना सदर करनाल में आर्म्स एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया था। पूछताछ में आरोपियों द्वारा पिस्तौल से फायर करके नकदी से भरा बैग छीनने की उपरोक्त वारदात को अंजाम देने की बात का खुलासा किया गया। आरोपियों ने बताया कि उपरोक्त डेयरी की दुकान के पास ही उनके एक रिश्तेदार मुताहिर उर्फ बच्ची पुत्र नासिर की दुकान है। उपरोक्त डेयरी पर मुताहिर का दोस्त सरफराज भी काम करता है। जिसने मुताहिर को बताया कि इस डेयरी पर से रोजाना दो व्यक्ति काफी मात्रा में शाम के समय नकदी लेकर जाते हैं। अगर वह नकदी लूट ली जाए तो हम उसे आपस में बांट लेंगे। जिस पर आरोपी मुताहिर ने अपने रिश्तेदार सद्दाम को नकदी लूटने को कहा तो उसने अपने दोस्त तोशिफ को भी अपने साथ मिला लिया। फिर वारदात को अंजाम देने वाले दिन सभी आरोपियों ने मुताहिर की दुकान पर इक्ट्टठा होकर सलाह मशिवरा करके योजना बनाई। योजना के अनुसार आरोपी सद्दाम व तोशिफ एक बिना नम्बर की मोटरसाईकिल पर सवार होकर पिस्तौल के साथ कुछ दूरी पर खड़े हो गये। जैसे ही हरविंद्र व रणदीप नकदी से भरा बैग लेकर डेयरी से निकले तो आरोपी मुताहिर व सरफराज ने उनको इशारा कर दिया और बाईक सवार दोनों आरोपी उनके पीछे-पीछे चल दिए। जिन्होंने आगे सुनसान जगह पर नकदी से भरा बैग छीनने की वारदात को अंजाम दिया और उनको डराने के मकसद से फायरिंग करके मौका से फरार हो गये। इसके बाद आरोपियों ने लूटे गये रूपयों को आपस में बांट लिया। दोनों आरोपियों को अदालत में पेश करके न्यायिक हिरासत में भेज दिया। जिसके बाद 12अगस्त को ही अन्य दोनों आरोपियों मुताहिर उर्फ बच्ची व सरफराज को बरसत से गिरफ्तार किया गया और वारदात में छीने गए रूपयों में से हिस्से में आये रूपयों को बरामद किया व अगले दिन आरोपियों को अदालत में पेशकर जेल भेजा गया। पूर्व गिरफ्तार दोनों आरोपियों को 16अगस्त को इस मामले में प्रोडक्शन वारंट पर लेकर एक दिन के पुलिस रिमाण्ड पर लिया गया। दौराने रिमाण्ड आरोपियों के कब्जे से वारदात में छीनी गई बाकी नकदी को बरामद किया गया। दोनों आरोपियों को आज अदालत में पेश कर किया जाकर जेल भेजा गया।

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular