Homeराज्यहरियाणाकरनाल:  चोरीशुदा 18 मोटरसाईकिलों सहित 3 आरोपी काबू 

करनाल:  चोरीशुदा 18 मोटरसाईकिलों सहित 3 आरोपी काबू 

प्रवीण वालिया, करनाल:  
करनाल पुलिस ने वाहन चोरी की वारदातों पर अंकुश लगाते हुए अलग-अलग जिलों से वाहन चोरी करने वाले एक शातिर चोर सहित कुल तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है। पुलिस अधीक्षक करनाल गंगाराम पूनिया के दिशा-निर्देश में कार्य करते हुए करनाल पुलिस के वाहन चोरी निरोधक दस्ता इंचार्ज उप निरीक्षक रोहताश व उनकी सहयोगी टीम ने आरोपियों को गिरफ्तार करने में कामयाबी हासिल की है। आरोपियों के कब्जे से जिला करनाल, पानीपत व कुरूक्षेत्र से चोरी की गई 18 मोटरसाईकिलें बरामद की गईं हैं। टीम द्वार 22 अगस्त को आरोपी प्रवीन कुमार जिला करनाल को सूचना पर कमाण्डो काम्पलैक्स नेवल के पास से चोरी की एक मोटरसाईकिल सहित गिरफ्तार किया गया। पूछताछ में आरोपी द्वारा जिला करनाल, पानीपत व कुरूक्षेत्र से अकेले ही मोटरसाईकिल चोरी की कुल 18 वारदातों में 18 मोटरसाईकिल चोरी करने की बात का खुलासा किया गया। जिसमें जिला करनाल के एरिया से मोटरसाईकिल चोरी की सात वारदातें, जिला पानीपत के एरिया से पांच वारदातें व जिला कुरूक्षेत्र के एरिया की छह वारदातें शामिल हैं। आरोपी ने इन सभी वारदातों को पिछले दो-तीन महीने के दौरान ही अंजाम दिया था। आरोपी ने बताया वह मोटरसाईकिल चोरी करने के बाद मोटरसाईकिलों को अपने एक मकान में छुपा देता था। फिर बाद में आरोपी हुकम सिंह जिला करनाल व आरोपी सुरजीत जिला करनाल को सस्ते दामों पर बेच देता था। जिस बिनाह पर उपरोक्त दोनों आरोपियों हुकम सिंह व सुरजीत को भी गिरफ्तार किया गया। जांच में खुलासा हुआ कि आरोपी प्रवीण मोटरसाईकिल चोरी करने के बाद पहले मोटरसाईकिलों को आरोपी हुकम सिंह को बेचता था। बाद में आरोपी हुकम सिंह ने आरोपी सुरजीत की पहचान आरोपी प्रवीण से कराई थी। जिसके बाद आरोपी सुरजीत भी आरोपी प्रवीण से सीधा संपर्क करके चोरीशुदा मोटरसाईकिलें खरीदने लगा। जांच में यह भी पाया कि आरोपी सुरजीत मोटरसाईकिल मैकेनिक है। जिसकी मोटरसाईकिल ठीक करने की अपनी एक दुकान भी है। जो चोरीशुदा मोटरसाईकिलों को खरीदकर अपनी दुकान से ही ऐसी मोटरसाईकिलों को आगे ग्राहकों को मुनाफे के साथ बेच देता था और कागजात के नाम पर बाद में कागजात देने की बात कहकर ग्राहकों से झूठ बोल देता था या फिर कुछ दिन बाद मोटरसाईकिल ग्राहक के नाम करवाने की बात कहकर उस समय मोटरसाईकिलों को बेच देता था। आरोपी हुकम सिंह भी चोरीशुदा मोटरसाईकिलों को बेचने के लिए यही तरीका अपनाता था। जिसके बाद उपरोक्त तीनों आरोपियों के कब्जे से तीनों जिलों से चोरीशुदा कुल 18 मोटरसाईकिलें बरामद की गईं। आरोपी प्रवीण को पहले भी मोटरसाईकिल चोरी के मामलों में गिरफ्तार किया जा चुका है जो फिलहाल जमानत पर बाहर चल रहा था। आरोपियों को आज पेश अदालत करके न्यायिक हिरासत में भेजा गया। आरोपी प्रवीण केवल सप्लैंडर मोटरसाईकिलों को ही अपना निशाना बनाता था। आरोपी किसी एकांत या फिर भीड़भाड़ वाली जगह पर खड़ी मोटरसाईकिलों को मौका देखकर उनमें कोई भी पुरानी चाबी लगाकर उसका लॉक खोलकर या जल्दबाजी में लॉक खुला छोडक़र जाने वाले लोगों की मोटरसाईकिलों का प्लग निकालकर उन्हें डायरेक्ट करके मौका से फरार हो जाता था।
SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular