Homeहरियाणारोहतकसर्व कर्मचारी संघ का प्रदर्शन 28 और 29 को All employees union...

सर्व कर्मचारी संघ का प्रदर्शन 28 और 29 को All employees union performance

संजीव कौशिक, रोहतक:
All employees union performance : प्रदेश बजट में पुरानी पेंशन बहाली और कच्चे कर्मचारियों को पक्का करने जैसी प्रमुख मांगों की अनदेखी करने से गुस्साए सर्व कर्मचारी संघ ने प्रदर्शन कर 28-29 मार्च को हड़ताल पर जाने का नोटिस डीसी के माध्यम से सरकार को भेजा।

बजट को बताया कर्मचारी विरोधी

सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा के राज्य महासचिव सतीश सेठी, कर्मवीर सिवाच एवं जयकुॅवार दहिया ने मुख्यमंत्री की ओर से प्रस्तुत बजट को कर्मचारी व जनविरोधी करार दिया। उन्होंने कहा कि बजट के बाद मीडिया से बात करते हुए मुख्यमंन्त्री का यह कहना कि पुरानी पेंशन बहाली का सरकार का कोई विचार नही है। यह जख्मो पर नमक छिड़कने जैसा है जिसका जवाब 28-29 मार्च की हड़ताल करके दिया जाएगा। इसके इलावा प्रदेश भर में काम कर रहे 1.62 लाख कच्चे कर्मचारियों को पक्का करने व समान काम समान वेतन की मांग को भी नजर अंदाज कर दिया गया।

महंगाई भत्ता देने पर सरकार की चुप्पी

जनवरी 20 से जून 2021 तक के रोके गए महंगाई भत्ते के भुगतान व एचआरए में बढ़ोतरी करने पर भी चुप्पी साध ली गई है। यही नही 25 अगस्त 2014 के मंत्रिमंडल के फेसले पर लगाई गई रोक भी नही हटाई गई जिससे लिपिक का वेतन पे-मैट्रिक्स लेवल 6 में 35400 रुपए व पेंशनर्ज की पंजाब की तर्ज पर उम्र बढ़ने पर पेंशन में 5% बढ़ोतरी होनी थी। बजट प्रस्तावों से साफ है कि जोखिम भत्ते व कैशलेस मेडिकल सुविधा पर सरकार को कर्मचारियो की बजाए बीमा कम्पनियों के मुनाफों की ज्यादा चिंता है।

बजट में गुणगान के अलावा कुछ नहीं: सेठी

सेठी ने कहा कि बजट में अमृतकाल के गुणगान के इलावा कुछ नही है। बजट में सार्वजनिक क्षेत्र की सम्पतियों को मुद्रीकरण नीति के तहत बेचने का संकल्प लिया गया है। पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप (पीपीपी) का नाम बदल कर गवर्नमेंट कम्युनिटी पार्टिसिपेशन (जेसीपी) कर निजीकरण की और बढ़ा जा रहा है। आम जन को शिक्षा से वंचित करने वाली राष्ट्रीय शिक्षा नीति को जल्द लागू कर आन लाइन शिक्षा पर जोर दिया गया है।
Read Also : Toll Plaza Started Near Jharothi हरियाणा में एक और सफर होगा महंगा

स्वास्थ्य और शिक्षा से बच रही सरकार

जिला परिषदों को शिक्षा सहायक लगाने के साथ ही स्कूलों व अस्पतालों के रखरखाव की जिम्मेदारी जिला परिषदों व शहरी निकायों को सौंप कर सरकार अपनी जिम्मेवारी से भागना चाहती है। कोरोना महामारी से सबक न लेकर प्राइवेट मल्टी स्पेशलिटी अस्पतालों को खोलने के लिए पूरी छूट दी गई है। बजट में एक तरफ सार्वजनिक बिजली व परिवहन सेवाओँ को बेहतर व लाभकारी बताया जा रहा है तो दूसरी ओर इनके निजीकरण की ओर भी बढ़ा जा रहा है। इससे साफ है कि सरकार जनता के खून पसीने की कमाई से खड़े किए सार्वजनिक क्षेत्र की बेशकीमती सम्पतियों को कौड़ियों के भाव अपने कापोर्रेट्स मित्रों को देना चाहती है। इन कर्मचारी व जन विरोधी नीतियों के खिलाफ ही दो दिन की रष्ट्रव्यापी हड़ताल होने जा रही है। जो भागेदारी के पिछले सभी रिकार्ड तोड़ेगी।

मान-सरोवर पार्क में इक्ट्ठा हुए कार्यकर्ता

डीसी दफ्तर पहुंचने से पहले अलग-अलग विभागों के कर्मचारियो नें सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा के जिला प्रधान कर्मवीर सिवाच के नेतृत्व में मान सरोवर पार्क में इकट्ठा होकर सभा की जिसका संचालन जिला साचिव जयकुॅवार दहिया ने किया। सभा को उक्त के अलावा शिव कुमार, जगपाल सांगवान, विकास दहिया, हिम्मत राणा, प्रदीप जांगड़ा, जोगिंद्र दलाल, संजय विडलान, धर्मराज कुंडू, प्रदीप कुमार और जयवीर चहल ने संबोधित किया।

Read Also : गौड़ स्कूल ने वुशु चैंपियनशिप में जीता गोल्ड Gold In Wushu Championship

Read Also : Statement of Deputy CM पांच राज्यों के चुनावी परिणाम पर बोले डिप्टी सीएम, कहा- कांग्रेस देश से समाप्त

Connect With Us : TwitterFacebook

SHARE
SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular