Homeराज्यहरियाणारोहतक : 220 के.वी. स्टेशन का गांव नौनंद में भारी विरोध

रोहतक : 220 के.वी. स्टेशन का गांव नौनंद में भारी विरोध

संजीव कुमार, रोहतक:
आज नौनंद के चन्द ग्रामीणों के विरोध से नहीं बन सका उप-केन्द्र के बारे में ग्रामीणों का कहना है कि यह चन्द लोग नहीं ग्रामीण द्वारा बनाई गई कमेटी है जो कि इस सारे मामले को देख रही है। श्री वी.पी. सिंह अधिशासित अभियंता बिजली निगम को यह बताना चाहते है कि यह 220 के.वी. उपकेन्द्र पाकस्मा गांव में बनना प्रस्तावित था। पाकस्मा ग्रामवासियों ने इसके नुकसान को देखते हुए जमीन देने से इंकार कर दिया। उसके बाद बिजली निगम के अधिकारियों ने 2014 गांव नौनंद की तत्कालीन पंचायत से सम्पर्क किया जिसमें पंचायत ने जमीन देने की स्वीकृति दी थी। लेकिन जैसे ही ग्रामवासियों को पता चला तो उसी वक्त 2014 में इसका विरोध किया तब तत्कालीन पंचायत ने बकायादा बिजली निगम को लिख कर दिया कि हम जमीन नहीं देगें। उसके बाद 2016 में पंचायत चुनाव हुए तो बिजली निगम के अधिकारियों ने नई चुनी हुई पंचायत से सम्पर्क किया। पंचायत ने स्वीकृति दे दी। जैसे ही ग्रामवासियों को पता चला तो इसका विरोध किया। विरोध को देखते हुए जिन पंचों ने जमीन देने का प्रस्ताव पर हस्ताक्षर किए तो उन 11 पंचों में 9 पंचों ने सरपंच महोदया को ग्राम सभा की मीटिंग बुलाने को कहा ताकि जमीन ना देने का प्रस्ताव पास कर सके। ग्रामवासी तत्कालीन उपायुक्त महोदय से मिले और बताया कि सरपंच महोदय ने बगैर ग्राम वासियों बगैर विश्वास में लिए 12 एकड़ की जमीन की रजिस्ट्री करवा दी। इस पर तत्कालीन उपायुक्त महोदय ने अपने पत्र क्रंमाक 1232 दिनांक 14.03.2018 के तहत 18.03.2018 को ग्राम सभा की मीटिंग सरपंच महोदय की अध्यक्षता व डी.डी.पी.ओ., बी.डी.पी.ओ एवं एक्स ई एन बिजली निगम की उपसिथति में ग्राम सभा की मीटिंग करवाई जिसमें सर्वसम्मति से प्रस्ताव पास किया गया कि 220 के.वी.ए. स्टेशन के लिए जमीन नहीं देगें। 2014 से लगातार ग्रामवासी, जिला प्रशासन, बिजली निगम के अधिकारियों, मुख्यमंत्री, वित मंत्री, कृषि मंत्री से मिलते रहे जिसके पत्र बिजली विभाग व जिला प्रशासन में आते रहे है तथा यह बताया जाता रहा है कि गांव में हाई स्कूल, जल घर, खेल स्टेडियम, पशु हस्पताल, गौशाल एवं शहीद भगत सिंह पार्क को जमीन दी हुई है बाकि बची जमीन गौ चरागा के लिए छोड़ी हुई है। कमेटी के सदस्य 24.7.2021 को बिजली मंत्री महोदय से दिल्ली में मिले जिसमें मंत्री महोदय ने मुख्य अभियंता एच.वी.पी.एन. को कहा कि 29.07.201 को नौनंद गांव में जाकर देखों कि ग्राम वासी बहुमत में क्या चाहते है तथा यह भी कहाँ कि ग्राम वासी 220 के.वी. सब स्टेशन के लिए जमीन नहीं देना चाहते तो कहीं और लगाया जाए। 29.07.2021 को अधीक्षक अभियंता, एक्स ई एन, एस डी ओ व जे ई एच.वी.पी.एन. की उपस्थिति में गांव की चौपाल में लोग इक्ट्ठा हुए जिसमें एक मत से बताया गया कि हम जमीन नहीं देगें। लेकिन इसके बावजूद भी बिजली निगम के अधिकारी बार-बार दबाव डलवा रहे है कि जमीन दी जाए लेकिन ग्राम वासी यह कहना चाहते है कि बिजली निगम ऐसा करके गांव के माहौल को खराब न करे। ग्रामवासी हर तरह की कुबार्नी देने के लिए तैयार है लेकिन 220 के.वी सब स्टेशन नहीं लगने देगें। श्री वी.पी. सिंह अधिक्षक अभियंता का यह कहना है कि गांव वाले पहले विरोध करते तो हम कहीं ओर जमीन देख लेते है। कमेटी यह बताना चाहती है कि आपका यह कहना गलत है कि पहले कोई विरोध नहीं किया है। हम लगातार 2014 से विरोध कर रहे है। शायद श्री वी.पी.सिंह अधीक्षक अभियंता ने अपने विभाग, शासन और सरकार के साथ पत्र व्यवहार को नहीं देखा। अगर देख लेते तो स्थिति का पता लग जाता तो प्रैस में ब्यान नहीं देते। ग्राम वासी बिजली निगम से प्रार्थना करते है कि 220 के.वी. सब स्टेशन के लिए कहीं और जगह तलाश कर ले। ग्रामवासी यहाँ पर 220 केवी. सब स्टेशन के खिलाफ है। जहाँ कि किसान आन्दोलन का प्रश्न है कमेटी यह कहना चाहती है कि किसान आन्दोलन पिछले 10 महीने से शुरू हुआ है जबकि हमारा विरोध 2014 से लगातार जारी हैं।

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments