Homeराज्यहरियाणासांपला : शिविर में 173 यूनिट रक्त एकत्रित

सांपला : शिविर में 173 यूनिट रक्त एकत्रित

प्रवीन दतौड़, सांपला :
मेन बाजार स्थित महाराजा अग्रसेन धर्मशाला में गुरूवार रक्तदान शिविर का आयोजित किया गया। शिविर रक्तदान सेवा संस्थान के सहयोग से कस्बे के प्रसिद्व समाजसेवी हरबंश लाल मक्कड़ उर्फ बंशी ने अपने बड़े बेटे संदीप मक्कड़ के जन्मदिवस पर आयोजित किया। आयोजित शिविर में 173 यूनिट खून एकत्रित किया गया। शिविर में रक्तदाताओं के खानपान का विशेष ध्यान रखा गया। शिविर में आने वाले लोगों के लिए पांच प्रकार के जूस व भोजन की विशेष व्यवस्था की गई। मुख्यातिथि के तौर पर बाबा कालीदास ने शिरक्त किया। बंशी ने बताया कि उनके पूरा परिवार का खूनदान की मुहिम से पुराना जुड़ाव रहा है। पहले उनके पिता इस मुहिम को चला रहे थे। उनके देहांत के बाद अब वह और उसके बेटे संदीप, ब्रजेश के अलावा बेटी व पुत्रवधु की खूनदान की मुहिम का हिस्सा बन चूकी हैं। उन्होने लोगो से अपिल करते हुए कहा कि खून की एक युनिट ने तीन लोगों की जिंदगी बच सकती है। खूनदान करने से शरीर में किसी प्रकार की कमजोरी नहीं आती। उसने स्वंय भी 65 साल की उम्र में 87 बार खूनदान करने के अलावा एक बार प्लाजमा की दान दिया है।
कौन कर सकता है रक्तदान
डा. यामिनी के अनुसार जिसकी उम्र 18 से 65 साल के बीच हो और वजन 45 किलो से ज्यादा तथा हेमोग्लोबिन 12 ग्राम से ज्यादा न हो वह खूनदान कर सकता है। बल्ड डोनेट करने से पहले हल्का भोजन और खूब सारा पानी पीना स्वास्थ्य के लिए लाभकारी होता है। बल्ड डोनेशन में सिर्फ एक यूनिट का खून लिया जाता। एक यूनिट में करीब एक पिंट खून होता है। जिससे तीन लोगों की जान बचाई जा सकती है।
कौन नहीं कर सकता रक्तदान
पीरियड्स के समय महिलाएं और ब्रेस्टफीडिंग करवाने वाली महिलाए खूनदान नहीं कर सकती। वहीं 18 साल से कम व 65 साल से ज्यादा उम्र वालों को खूनदान करने से बचना चाहिए । जिनकी हेमोग्लोबिन स्तर 12 प्रतिशत से कम व वजन 45 से कम हो वह खूनदान नहीं कर सकते। एचआईवी, सिफलिस, हेपेटाइटिस सी, मलेरिया सहित किसी अन्य पुरानी बीमार से ग्रस्त को भी खूददान नहीं करना चाहिए।

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular