Homeराज्यदिल्लीभारत में महंगाई और बेरोजगारी के लिए मोदी सरकार की गलत आर्थिक...

भारत में महंगाई और बेरोजगारी के लिए मोदी सरकार की गलत आर्थिक नीतियां जिम्मेदारः दिल्ली कांग्रेस

आज समाज डिजिटल,नई दिल्ली:
दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी कार्यालय राजीव भवन में आयोजित संवाददाता सम्मेलन को आज कमरतोड़ मंहगाई पर हल्लो बोल रैली को लेकर अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता प्रो0 गौरव वल्लभ, दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष चै0 अनिल कुमार, कम्युनिकेशन विभाग के चेयरमैन एवं पूर्व विधायक अनिल भारद्वाज ने संबोधित किया। संवाददाता सम्मेलन में मिस कॉल नम्बर 9625777907 जारी किया। कमरतोड़ महंगाई से परेशान दिल्लीवासी इस नम्बर पर मिस कॉल करके रामलीला मैदान की महंगाई पर हल्ला बोल रैली को अपना समर्थन दें। मोदी सरकार पर कटाक्ष करते हुए गौरव वल्लभ ने मोदी सरकार के दो भाई बेरोजगारी और महंगाई है।

महंगाई के खिलाफ रामलीला मैदान में पार्टी की होगी रैली, मांगा जनसमर्थन

प्रो0 गौरव वल्लभ ने कहा कि एक समय था जब प्रधानमंत्री मोदी ने भारत की जनता को महंगाई और बेरोजगारी से मुक्त भविष्य का सपना दिखाया था। इसके विपरित आज उन्होंने लोगों को रिकॉर्ड तोड़ मूल्य वृद्धि और 45 वर्षों में सबसे अधिक बेरोजागारी की भयावह स्थिति में डाल दिया है। 2014 में सत्ता में आने के बाद प्रधानमंत्री मोदी केवल महंगाई को नियंत्रित करने में ही असफल नहीं हुए बल्कि उनकी गलत नीतियों ने वास्तव में लोगों की पीड़ा को और बढ़ा दिया है।
प्रधानमंत्री ने 2019 में मतदाताओं के सामने इस बात को दंभ भरा था कि खाद्यान्न, दही, लस्सी और छाछ जैसी आवश्यकत वस्तुओं को जीएसटी के दायरे से बाहर रखा गया है लेकिन 2022 में उन्होंने उन्हीं वस्तुओं पर जीएसटी लगा दी। उन्होंने 2019 के चुनाव में लोगों से वोट लेने के लिए उज्जवला योजना का खूब प्रचार किया लेकिन चुनावों में के तुरंत बाद उन्होंने संवेदनहीनता दिखाते हुए रसोई गैस पर सब्सिडी को खत्म कर दिया।

रसोई गैस की कीमतों में दोगुनी से अधिक वृद्धि

रसोई गैस की कीमतों में दोगुनी से अधिक वृद्धि करके उसे 1053 -1200 रुपये प्रति सिलेंडर तक पहुॅचा दिया और करोड़ों उपभोक्ता आज अपने खाली गैस सिलेंडर को फिर से भराने की स्थिति में नही हैं। ये उन तमाम मामलां में से सिर्फ दो ऐसे उदाहरण है जहां प्रधानमंत्री ने भारत के लोगो ंवोट प्राप्त करने के लिए उनहें धोख दिया और फिर अपपनी ‘‘डूब मरो’’ की विचारधारा का पालन करते हुए उनकी पीठ में छुरा घोंप दिया। गौरव ने कहा कि हम मांग करते है सरकार महंगाई पर अंकुश लगाने और रोजगार पैदा करने के अपने वादे को अविलंब पूरा करे और इसके साथ-साथ हम सभी नागरिकों से आग्रह करते हैं कि जन-विरोधी और युवा-विरोधी दृष्टिकोण को बदलने के लिए सरकार पर दबाव बनाने के हमारे प्रयास में साथ आऐं।

हल्ला बोल रैली में दिल्लीवासियों से अधिक से अधिक संख्या में पहुॅचने का आव्हान

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष चै0 अनिल कुमार ने चलो रामलीला मैदान के नारे के साथ कमरतोड़ महंगाई पर हल्ला बोल रैली में दिल्लीवासियों से अधिक से अधिक संख्या में पहुॅचने का आव्हान किया। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार की गलत आर्थिक नीतियों के कारण कमर तोड़ महंगाई आसमान छू रही है और बेरोजगारी ने 45 वर्षों का रिकॉड तोड़ दिया है। उन्होंने कहा कि दुख की बात है मोदी सरकार लोगों को राहत देने की बजाय गरीबों, दलितों, मजदूरों को खून चूसने का काम कर रही है। उन्होंने कहा कि 70 साल -70 साल कहने वाली मोदी सरकार से मैं पूछना चाहता हूॅ कि 8 वर्षों में गैस सिलेंडर का रेट 410 रुपये 1000 रुपये से अधिक कैसे हो गया।

8 साल का मोदी सरकार के इतिहास में महंगाई ने कमर तोड़ दी

उन्होंने कहा कि 70 साल का कांग्रेस इतिहास था तो 8 साल का मोदी सरकार इतिहास है जिसमें महंगाई ने कमर तोड़ दी है और बेरोजगारी ने रिकार्ड कायम किए है, 20-24 आयु वर्ग का 42 प्रतिशत शिक्षित युवा आज बेरोजगार है। देश के करोड़ो युवाओं को रोजगार देने के लिए मोदी सरकार के पास कोई विजन नही है। पूर्व विधायक अनिल भारद्वाज ने कहा कि दिल्ली का कांग्रेस कार्यकर्ता रामलीला मैदान में 4 सितंबर को आयोजित होने वाली महंगाई पर हल्ला बोल रैली के प्रचार प्रसार को दिल्ली में घर-घर तक और जन-जन तक पहुॅचाऐगी। उन्होंने कहा कि कांग्रेस कार्यकर्ता लोगों को मिस कॉल नम्बर की जानकारी भी देंगे जिससे दिल्लीवासी महंगाई पर हल्ला बोल रैली के समर्थन में वे मिस कॉल करके कांग्रेस के साथ मोदी सरकार के खिलाफ इस रैली को अपना समर्थन दें।

ये भी पढ़ें : काली मिर्च होती है कई रोगों के लिए है अमृत, जरूर आजमाएं

ये भी पढ़ें : बारिश में बच्चों की ऐसे करें देखभाल

ये भी पढ़ें : छोटी – छोटी बात पर रोने वाली लड़कियां होती हैं विशेष

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular