Homeकाम की बातरेलवे ने की बेबी बर्थ की शुरूआत: दुनिया में ऐसा कहीं नहीं

रेलवे ने की बेबी बर्थ की शुरूआत: दुनिया में ऐसा कहीं नहीं

आज समाज डिजिटल, नई दिल्ली:
ट्रेन की बर्थ एक इंसान के लिए ही काफी होती है। मां को अपने छोटे बच्चे के साथ ट्रेन के सफर में काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ता है। बगल में बच्चे को सुलाने के बाद मां के लिए जगह ही नहीं बचती। बच्चे को किनारे सुलाने पर उसके गिरने का भी खतरा होता है। अब इंडियन रेलवे ने मांओं के इस दु:ख को समझते हुए बेबी बर्थ की शरुआत की है। यह बर्थ से बाहर की ओर लगी एक छोटी बर्थ होगी। जहां बच्चे को सुलाया जा सकेगा।

लोग कर रहे हैं तारीफ Railway Started Baby ‘Berth’

छोटे बच्चों के लिए मां की बर्थ से लगी अलग बर्थ का कॉन्सेप्ट बिलकुल नया है। दुनिया में ऐसा और कहीं भी नहीं है। रेलवे ने शुरूआत में टेस्ट के बतौर इसकी शुरूआत की है। अगर इसका अच्छा रिस्पॉन्स मिलता है तो आने वाले समय में और ट्रेनों में इसे लाया जाएगा। बेबी बर्थ को लोअर बर्थ में जोड़ा जाएगा।

मदर्स डे पर रेलवे ने दी सौगात Railway Started Baby ‘Berth’

रेलवे ने ये विशेष सुविधा मदर्स डे के मौके पर शुरू की है। उत्तर रेलवे के लखनऊ डिवीजन के ऊफट ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी है। ट्वीट में उन्होंने बताया कि शुरूआत में पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर दिल्ली से लखनऊ को जाने वाली गाड़ी लखनऊ मेल में यह सुविधा दी गई है। बेबी बर्थ में स्टॉपर भी लगाया गया है। ताकि बच्चे को गिरने के रोका जा सके। इसी सीट को ऊपर-नीचे भी किया जा सकता है।

साइड में सुलाने से चोरी हो जाएगा बच्चा Railway Started Baby ‘Berth’

रेलवे के इस फैसले का कुछ महिलाएं विरोध भी कर रही हैं। उनका कहना है कि किनारे की तरफ बेबी बर्थ देना बेकार फैसला है। एक यूजर ने लिखा कि महिलाएं आम तौर पर अपने बच्चे को दीवार की ओर सुलाती हैं। किनारे की ओर सुलाने से बच्चे के चोरी होने का खतरा होगा।

ये भी पढ़ें : कैमरों पर स्प्रे मार चोर उखाड़ ले गए एटीएम, मौके पर फोरेंसिक टीम

ये भी पढ़ें : खुफिया विभाग पर हमले में पहली कामयाबी, निशान फरीदकोट से गिरफ्तार

SHARE
SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular