Homeराज्यदिल्लीगृह मंत्रालय ने की पुलिस की कार्रवाई की समीक्षा

गृह मंत्रालय ने की पुलिस की कार्रवाई की समीक्षा

9 वर्षीय मासूम से हुई दरिंदगी केस में पुलिस को आरोप पत्र दाखिल करने के आदेश
आज समाज डिजिटल, नई दिल्ली:
एक अगस्त की शाम को कैंट के नांगल क्षेत्र में 9 साल की मासूम से हुई हैवानियत केस में अब गृह मंत्रालय ने सख्त नोटिस लिया है। गृह मंत्रालय ने गुरुवार को दिल्ली पुलिस के साथ केस की समीक्षा की। पुलिस अब केस दर्ज होने के 30 दिनों के अंदर अदालत में आरोप पत्र दाखिल करने के लिए प्रतिबद्ध है। इसके साथ ही मयूर क्षेत्र में एक अन्य रेप मामले की भी समीक्षा की गई। दोनों केस की दिल्ली की फास्ट ट्रैक विशेष अदालतों में सुनवाई होगी।
उधर मासूम के अवशेष का पुराना नांगलराया स्थित श्मशान भूमि पर अंतिम संस्कार किया गया। अंतिम संस्कार के समय बच्ची के माता-पिता व उनके नजदीकी रिश्तेदार मौजूद थे। पुलिस अधिकारी इंगित प्रताप सिंह ने बताया कि श्मशान घाट के बाहर करीब 20 लोगों ने विरोध किया।
एक अगस्त को हुई थी दरिंदगी
ज्ञात रहे कि मासूम बच्ची दरिंदगी का शिकार एक अगस्त रविवार की शाम करीब साढेÞ पांच बजे उस समय हुई थी जब वह अपने घर के सामने स्थित श्मशान घाट के अंदर लगे वाटर कूलर से ठंडा पानी लेने गई थी। उस दौरान श्मशान घाट के पुजारी और उसके साथियों ने बच्ची को दबोच लिया जिसके बाद उसका रेप करके उसकी हत्या कर दी गई। इस सबके बाद उन्होंने मासूम का अंतिम संस्कार करने की कोशिश की। इसी दौरान क्षेत्र के कुछ लोग वहां पहुंच गए और पुलिस का जानकारी दी। जिसके बाद मामला पुलिस के संज्ञान में आने से आरोपियों की गिरफ्तारी संभव हो पाई।

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments