Homeराज्यदिल्लीफिक्की अराइज के प्रयास से प्रगाढ़ होता 30 वर्ष पुराना भारत-इजरायल संबंध

फिक्की अराइज के प्रयास से प्रगाढ़ होता 30 वर्ष पुराना भारत-इजरायल संबंध

आज समाज डिजिटल,नई दिल्ली:
फिक्की अराइज (‘एलायंस फॉर री-इमेजिनिंग स्कूल एजुकेशन’) ने पूरे भारत से चुने गए 24 सदस्यों के उच्च स्तरीय शिष्ट मंडल के लिए 21-26 अगस्त, 2022 तक इजरायल दौरे का आयोजन किया। इसमें विदेश व्यापार प्रशासन-अर्थव्यवस्था और उद्योग मंत्रालयरू इजरायल और इजरायल दूतावास, नई दिल्ली ने पूरा सहयोग दिया। दौरे का उद्देश्य के-12 शिक्षा क्षेत्र में शिक्षा के इजरायली मॉडल को समझना और अनुभव करना और साथ ही, छात्रों को 21 वीं सदी के लिए तैयार करने हेतु प्रगतिशील और लचीली नीतियों, सफल शैक्षणिक साधनों और मॉडलों, डेटा एनालिटिक्स, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, डिजाइन थिंकिंग आदि अत्याधुनिक तकनीकों का लाभ लेकर स्कूली शिक्षा में अभूतपूर्व बदलाव लाना है।

योजना में विभिन्न संस्थानों के दौरे शामिल

इस 5 दिवसीय यात्रा की योजना में विभिन्न संस्थानों के दौरे शामिल हैं जैसे कि शिक्षा मंत्रालय, इजरायलय इजराइल निर्यात और अंतर्राष्ट्रीय सहयोग संस्थानय तासीयदाय पेरेस सेंटर फॉर पीस एंड इनोवेशनय स्टार्ट-अप नेशन सेंट्रलय माइंडसेटय शिमोन पेरेस हाई स्कूल। दुनिया के दो जीवंत लोकतंत्रों के बीच शैक्षिक संबंध प्रगाढ़ करने के लक्ष्य से इजरायल में भारतीय राजदूत संजीव सिंगला से संवाद और आकर्षक सत्र का भी आयोजन किया गया था। फिक्की इस प्रयास के माध्यम से के-12 शिक्षा जगत में सार्थक संवाद, सहयोग और सहभागिता के लिए भारत और इजरायल के बीच रणनीतिक साझेदारी बढ़ाने का अवसर देने का लक्ष्य रखता है।
SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular