Homeराज्यदिल्लीआप के 9 विधायक मीटिंग से रहे दूर, पर केजरीवाल सरकार पर...

आप के 9 विधायक मीटिंग से रहे दूर, पर केजरीवाल सरकार पर नही कोई खतरा 

आज समाज डिजिटल,नई दिल्ली:
आम आदमी पार्टी (आप) के संयोजक और मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की ओर से बुलाई गई विधायकों की बैठक से यह साफ हो गया है कि पार्टी के सभी विधायक एकजुट हैं और सरकार पर कोई खतरा नहीं है। केजरीवाल की बैठक में 53 विधायक पहुंचे, जबकि 8 विभिन्न कारणों से दिल्ली से बाहर हैं। वहीं, स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन जेल में बंद होने की वजह से नहीं आ पाए।

62 में से 53 विधायक बैठक में मौजूद रहे

आम आदमी पार्टी के प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज ने कहा कि 62 में से 53 विधायक बैठक में मौजूद रहे। स्पीकर राम निवास गोयल देश से बाहर हैं। वहीं उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया हिमचाल में हैं। कुछ और विधायक शहर से बाहर हैं और मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की सभी से फोन पर बात हुई। सौरभ ने कहा कि सभी विधायकों ने मुख्यमंत्री को भरोसा दिलाया कि वे आखिरी सांस तक साथ हैं। भारद्वाज ने यह भी कहा कि ऑपरेशन लोटस फेल कर दिया गया है।
वहीं, बैठक शुरू होने से पहले आप के कई बड़े नेताओं ने कहा था कि कुछ विधायकों से संपर्क नहीं बन पाया था। हालांकि, सभी ने उम्मीद जाहिर की थी कि बैठक में सभी विधायक मौजूद रहेंगे। उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के कथित शराब घोटाले में घिरने के बाद से श्आपश् का आरोप है कि बीजेपी उसकी सरकार गिराने की कोशिश कर रही है। पहले खुद मनीष सिसोदिया ने बीजेपी से ऑफर मिलने की बाद कही तो बुधवार को पार्टी ने 4 विधायकों को मीडिया के सामने पेश करते हुए दावा किया कि उन्हें 20-25 करोड़ रुपए का लालच दिया जा रहा है। साथ ही मनीष सिसोदिया की तरह फर्जी केस में फंसाने की धमकी दी जा रही है।

दावे के बाद से पार्टी में हलचल शुरू

इस दावे के बाद से पार्टी में हलचल शुरू हो गई। बुधवार को पार्टी के पॉलिटिकल अफेयर्स कमिटी की बैठक बुलाई गई तो आज सीएम के घर पर सभी विधायक बुलाए गए। वहीं, शुक्रवार को एक दिन का विधानसभा सत्र भी बुलाया गया है।
वहीं, भारतीय जनता पार्टी ने सरकार गिराए जाने की कोशिशों के आरोपों को ड्रामा बताया है। पार्टी का कहना है कि केजरीवाल सरकार शराब घोटाले से ध्यान भटकाने के लिए इस तरह की बातें कर रही है। बीजेपी नेता और केंद्रीय विदेश राज्य मंत्री मीनाक्षी लेखी ने कहा, श्श्हमें आपकी (आम आदमी पार्टी) सरकार तोड़ने की जरूरत नहीं है। हम लोग श्वादा पूरा करनेश् की बात करते हैं यही श्ऑपरेशन लोटस है जो पूरे देश में चल रहा है और देश ने देखा है कि 2014 से आज तक सरकार ने कैसा काम किया है।
SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular