Homeराज्यचण्डीगढ़केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने मनोहर सरकार की पीठ थपथपाई

केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने मनोहर सरकार की पीठ थपथपाई

राज्यस्तरीय अन्नपूर्णा उत्सव को रक्षा मंत्री ने किया सम्बोधित
आज समाज डिजिटल, चंडीगढ़:
केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि हरियाणा का अन्नपूर्णा उत्सव केवल अन्न वितरण का उत्सव नहीं, बल्कि यह सरकार के समर्पण, सहयोग और विश्वास का उत्सव है। यह बात उन्होंने राज्यस्तरीय अन्नपूर्णा उत्सव में बतौर मुख्यातिथि वर्चुअली संबोधित करते हुए कही। कार्यक्रम की अध्यक्षता हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने की। कार्यक्रम में उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला एवं हरियाणा विधानसभा के अध्यक्ष ज्ञानचंद गुप्ता भी मौजूद रहे।
रक्षामंत्री ने हरियाणा सरकार के कोविड काल में किए काम की प्रशंसा करते हुए कहा कि पिछले वर्ष किसी ने सोचा नहीं था कि इस प्रकार का समय हमें देखना पड़ेगा। कोविड-19 महामारी के दौरान सारी स्थिति का सामना सरकार ने बहुत ही चुनौतीपूर्ण तरीके से किया। केंद्र ने चुनौती को स्वीकार करते हुए सख्त लॉकडाउन का फैसला लिया। उस समय लोगों की बहुत सी बातें आर्इं, लेकिन सरकार की प्राथमिकता सबसे पहले लोगों की जिंदगी बचाना था। चुनौती का सरकार ने बड़े ही अच्छे तरीके से मुकाबला किया और हम इस चुनौती को पार करने में कामयाब हुए। तात्कालिक जरूरत को पूरा करने में भी हम कामयाब हुए। बेहद कठिन समय में प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना बहुत मददगार साबित हुई।
-विदेशों में लोग इस बात की चर्चा करते हैं कि भारतवर्ष ने इस कठिन समय में इतने बड़े जनमानस के लिए खाद्यान्न की व्यवस्था किस तरह की। यह सब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की दूरदर्शिता के कारण ही संभव हो पाया कि हम इतनी बड़ी चुनौती को आसानी से पार कर गए। यह सब केंद्र सरकार और राज्य सरकारों के बेहतर समन्वय के कारण संभव हो पाया।
हरियाणा की जमीन करिशमाई
रक्षामंत्री ग राजनाथ सिंह ने कहा कि हरियाणा की जमीन करिशमाई है। चाहे किसान हो, जवान हो या पहलवान हो, यहां की धरती वीर पुत्रों को जन्म देने वाली है। यहां की धरती सोना ही नहीं उगलती, बल्कि ओलंपिक से सोना लाने वाले खिलाड़ी भी पैदा करती है। हरियाणा की धरती पूरे देश का 1.5 प्रतिशत है, जबकि हरियाणा का कृषि में कुल योगदान देश में 15 प्रतिशत है। उन्होंने कहा कि जो हमने कहा उसे हमारी सरकार ने पूरा किया है। विश्वास के संकट को चुनौती के रूप में स्वीकार किया और विजय प्राप्त की। वर्ष 2030 तक शून्य भूखमरी का लक्ष्य है और मुझे जानकारी मिली है कि हरियाणा ने इस लक्ष्य को पहले ही हासिल कर लिया है। कोविड काल में जब रोजगार का महासंकट था, तब मुख्यमंत्री मनोहर लाल के नेतृत्व में हरियाणा सरकार ने प्रदेश में मनरेगा के तहत 180 लाख मानव दिवसों का सृजन कर बेहतरीन काम किया। हरियाणा सरकार बधाई की पात्र है और यह संदेश जनता तक पहुंचना चाहिए।
कृषि कानूनों को समझने का आग्रह
रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कृषि कानूनों को समझने का आग्रह करते हुए कहा कि मैंने यह कानून पढ़े हैं और इसमें कहीं भी किसी प्रकार का कोई भी ऐसा वाक्य नहीं है जो किसानों के हित में न हो। उन्होंने कहा कि मैं भी किसान का बेटा हूं और मैंने भी खेती की है और मैं समझ सकता हूं कि किसानों की क्या-क्या समस्याएं हैं।
उन्होंने कहा कि पुरानी नीतियों के चलते ही कृषि घाटे का सौदा बनती जा रही थी और किसान जब अपनी फसल बेचता था तो पता चलता था कि उसका तो लागत मूल्य भी पूरा नहीं हुआ। इसी बात को ध्यान में रखते हुए केंद्र सरकार ने कृषि कानूनों को बनाया है। इसलिए मेरा आग्रह है कि इन कानूनों को समझें। अगर किसी प्रकार की किसी को भी इन कानूनों में कोई शंका नजर आती है तो उसके समाधान के लिए सरकार हमेशा बातचीत करने के लिए तैयार है। किसानों को विरोध का वातावरण बनाकर बरगलाने का प्रयास किया गया है, लेकिन किसानों को धीरे-धीरे सच्चाई समझ आने लगी है।
प्रदेश सरकार और मुख्यमंत्री की पीठ थपथपाई
केंद्रीय रक्षा मंत्री ने प्रदेश सरकार की तारीफ करते हुए हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल की पीठ थपथपाई। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री मनोहार लाल की अगुआई में हरियाणा सरकार ने कोविड महामारी के प्रबंधन के दौरान बेहतरीन काम किया है। चाहे प्रदेश में प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना हो या वैक्सीनेशन अभियान हरियाणा सरकार ने प्रशंसनीय कार्य किया है।
प्रदेश सरकार ने की 27 लाख परिवारों के लिए अन्न की व्यवस्था
प्रदेश सरकार ने 27 लाख परिवारों के लिए अन्न की व्यवस्था की। इसके अलावा अन्य राज्यों के 17,000 परिवारों को भी हरियाणा में राशन का वितरण किया गया। यह प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के वन नेशन वन राशन कार्ड योजना के चलते ही संभव हो पाया। इतना ही नहीं, कोविड-19 की वैक्सीन लगाने में भी मुख्यमंत्री मनोहर लाल के नेतृत्व में हरियाणा सरकार बेहतरीन प्रदर्शन कियौ। यह एक बड़ी उपलब्धि है।
केंद्रीय रक्षा मंत्री ने लाभार्थियों से की सीधी बात
केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने आॅनलाइन माध्यम से लाभार्थियों से सीधी बातचीत भी की। करनाल में गीता, गुरुग्राम में रामेश्वर और हिसार में सरोज से बातचीत कर इन सभी लाभार्थियों से जाना कि क्या उन्हें राशन लेने में कोई कठिनाई तो नहीं आ रही। इसके अलावा भी राजनाथ सिंह ने पूछा कि और किस-किस योजना का उन्हें लाभ मिल रहा है। इन लाभार्थियों ने बताया कि उन्हें अच्छी योजनाओं का पूरा लाभ मिल रहा है। करनाल की गीता ने बताया कि उसकी दो बेटियों के सुकन्या समृद्धि खाते बने हुए हैं, हर महीने 5 किलो प्रति व्यक्ति गेहूं मिल जाता है और आयुष्मान का का कार्ड बना हुआ है, जनधन खाते में भी गत वर्ष केंद्र सरकार द्वारा भेजे गए पैसे खाते में आए। वहीं गुरुग्राम के रामेश्वर ने बताया कि किसी प्रकार की कोई भी दिक्कत राशन लेने में नहीं आती। हिसार की सरोज ने बताया कि राशन ठीक समय पर मिल जाता है और आयुष्मान कार्ड भी उनका बना हुआ है किसी प्रकार की कोई समस्या उन्हें कभी नहीं आती।
ये लोग उपस्थित रहे
इस मौके पर सांसद रत्नलाल कटारिया, मुख्यमंत्री के मुख्य प्रधान सचिव डीएस ढेसी, खाद्य एवं आपूर्ति विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव अनुराग रस्तोगी, मुख्यमंत्री के अतिरिक्त प्रधान सचिव डॉ. अमित अग्रवाल, भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष ओमप्रकाश धनखड़, भाजपा के प्रदेश प्रभारी विनोद तावड़े सहित वरिष्ठ नेता व अधिकारी उपस्थित रहे।

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments