Homeराज्यचण्डीगढ़नशे की लत पूरी करने के लिए गोल्ड मेडलिस्ट बना चोर

नशे की लत पूरी करने के लिए गोल्ड मेडलिस्ट बना चोर

आज समाज डिजिटल, चंडीगढ़:
सेक्टर-17 थाना पुलिस ने दर्जनों चोरी की वारदात को अंजाम दे चुके एक ऐसे चोर को गिरफ्तार किया है जोकि बीटेक करे होने के साथ ही कुश्ती में नेशनल गोल्ड मेडल हासिल कर चुका है। गिरफ्तार आरोपी की पहचान पटियाला के राओ माजरा रहने वाले 31 वर्षीय चरण कमल के रूप में हुई है। पुलिस ने आरोपी को सेक्टर 16 में रहने वाले एक एडवोकेट के घर से हुई चोरी के मामले में गुप्त सूचना के आधार पर पटियाला स्थित एक होटल से गिरफ्तार किया है। जानकारी के अनुसार बीते 8 अगस्त को सेक्टर-16 में रहने वाले सुमित सहगल ने पुलिस को दी शिकायत में बताया था कि उनके घर से किसी अज्ञात चोर ने दो कीमती घड़ियां और दो मोबाइल फोन चोरी कर लिए हैं। मामले में केस दर्ज करने के बाद एसडीपीओ सेंट्रल डीएसपी चरणजीत सिंह विर्क के दिशा निर्देशन में सेक्टर-17 एसएचओ राम रतन शर्मा की अगुवाई में टीम गठित की गई। इसी बीच केस के पड़ताल में जुटे सेक्टर 17 राम रतन शर्मा को गुप्त सूचना मिली की सेक्टर 16 में चोरी की वारदात को अंजाम देने वाला आरोपी पटियाला के होटल में रुका है। मुखबिर की सूचना पर पुलिस की टीम ने पटियाला पहुंच उक्त होटल में रेड मार आरोपी को दबोच लिया। गिरफ्तार आरोपी की पहचान पटियाला के राओ माजरा रहने वाले 31 वर्षीय चरण कमल के रूप में हुई है।
पुलिस ने आरोपी चरण कमल की निशानदेही पर चंडीगढ़ समेत पंजाब से चोरी की गई चोरी की 50 मोबाइल फोन समेत दो महंगी घड़ियां बरामद की। पुलिस की मानें तो आरोपी से बरामद किए गए मोबाइल फोन की कीमत कुल 9 से साढ़े 9 लाख के करीब है। आरोपी पर पटियाला में भी मारपीट के मामले में मुकदमा दर्ज है। सेक्टर 17 थाना पुलिस द्वारा की गई पूछताछ में पता चला कि चोरी के मामले में गिरफ्तार किया गया आरोपी चरण कमल बीटेक की पढ़ाई करने के साथ ही गोल्ड मेडलिस्ट भी रह चुका है। पुलिस की जांच में सामने आया कि चरण कमल साल 2014 में नेशनल कुश्ती में गोल्ड मेडल लाकर अपने प्रदेश और घरवालों का नाम रोशन कर चुका है। आरोपी घर से भी ठीक-ठाक स्थिति में है। उसकी मां कालेज में लेक्चरर भाई कनाडा में और पिता प्राइवेट काम करते हैं। आरोपी नशे की लत में इस तरह गया की उसे पूरी करने के लिए वह चोरी की वारदात को अंजाम देने लगा। आरोपी पंजाब से ही 4000 की कीमत में चिट्टा खरीदता था। पैसे न होने पर वह घरों समेत लोगों के साथ चोरी जैसी वारदात को अंजाम देता था।

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments