Homeराज्यचण्डीगढ़International Gita Mahotsav 2021: पवित्र ग्रंथ गीता के उपदेश युगों-युगों से मानवता...

International Gita Mahotsav 2021: पवित्र ग्रंथ गीता के उपदेश युगों-युगों से मानवता को दिखा रहे है ज्ञान और शांति का मार्ग : दत्तात्रेय

आज समाज डिजिटल, चंडीगढ़:

International Gita Mahotsav 2021: हरियाणा के राज्यपाल  बंडारू दत्तात्रेय ने कहा कि धर्मक्षेत्र-कुरुक्षेत्र की पावन धरा पर 5158 वर्ष पूर्व भगवान श्रीकृष्ण द्वारा दिए गए पवित्र ग्रंथ गीता के उपदेश युगों-युगों से मानवता को ज्ञान और शांति का मार्ग दिखा रहे है।(International Gita Mahotsav 2021) इस पवित्र ग्रंथ गीता ने मानवता को जीवन जीने का सार और विश्व को शांति सदभावना का संदेश भी दिया है। इसलिए आज प्रत्येक नागरिक को पवित्र ग्रंथ गीता के उपदेशों को अपने जीवन में धारण करना चाहिए।

Read Also : Kaithal Crime News तीन मजदूरों में विवाद, एक की गंड़ासी से हत्या

राज्यपाल श्री बंडारू दत्तात्रेय आज अंतर्राष्ट्रीय गीता महोत्सव 2021 में कुरुक्षेत्र विकास बोर्ड और शिक्षा विभाग के तत्वाधान में आयोजित वैश्विक गीता पाठ कार्यक्त्रम में बतौर मुख्यातिथि बोल रहे थे। इससे पूर्व, राज्यपाल ने केन्द्रीय संस्कृति एवं पर्यटन मंत्री श्री किशन रेड्डी, गीता मनीषी स्वामी ज्ञानानंद महाराज तथा अन्य गणमान्य जनों ने साथ गीता पूजन और दीपशिखा प्रज्वलित करके विधिवत रुप से गीता जयंती के पावन पर्व पर वैश्विक गीता पाठ कार्यक्त्रम का शुभारंभ किया।

Read Also Strike on Khatkar Toll Ends Today 378 दिनों से चल रहा खटकड़ टोल पर धरना आज समाप्त

प्रदेश भर के 2500 स्कूलों के 55 हजार विद्यार्थी आनलाईन प्रणाली से जुड़े वैश्विक गीता पाठ से : International Gita Mahotsav 2021

इस अवसर पर कुरुक्षेत्र के 15 विद्यालयों के 1155 विद्यार्थियों ने निर्धारित समयानुसार गीता के 18 अध्यायों के 18 श्लोकों का उच्चारण किया। इन विद्यार्थियों ने जैसे ही वैश्विक गीता पाठ शुरु किया, उसी समय हरियाणा के सभी जिलों के राजकीय और निजी स्कूलों के 55 हजार से ज्यादा विद्यार्थी और विभिन्न देशों के लोग आनलाईन प्रणाली से जुड़े और सभी ने एक सुर में विश्व शांति के लिए वैश्विक गीता पाठ किया।

Also Read : All India Jat Heroes Memorial College में सात दिवसीय एनएसएस शिविर का शुभारंभ

महोत्सव में वैश्विक गीता पाठ एक अनोखा कार्यक्त्रम : International Gita Mahotsav 2021

राज्यपाल बंडारु दतात्रेय ने गीता जयंती पर शुभकामनाएं देते हुए कहा कि गीता जयंती का यह दिन विलक्षण, अनोखा और प्रेरणा देने वाला दिन है आज के दिन कुरुक्षेत्र की पावन धरा पर हजारों वर्ष पूर्व पवित्र ग्रंथ गीता का उदगम हुआ। सरकार द्वारा वर्ष 2014 के बाद  से कुरुक्षेत्र की पावन धरा पर हर वर्ष अंतर्राष्ट्रीय गीता महोत्सव का आयोजन किया जाता है।

Read Also Anganwadi Workers And Helpers Strike सातवें दिन भी आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं का जोरदार प्रदर्शन

इस महोत्सव में वैश्विक गीता पाठ एक अनोखा कार्यक्त्रम है। इस वैश्विक गीता पाठ के जरिए पूरे विश्व के लोगों तक पवित्र ग्रंथ गीता के उपदेशों को पहुंचाने का प्रयास लगातार किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि युवा पीढ़ी को पवित्र ग्रंथ गीता के साथ जोडऩे के लिए ही सरकार द्वारा महोत्सव में वैश्विक गीता पाठ जैसे कार्यक्त्रमों को शुरु किया गया ताकि युवाओं को अच्छे संस्कार और शिक्षा मिल सके और देश के अच्छे नागरिक बन सके। जब युवा संस्कारवान और शिक्षित होंगे तभी एक अच्छे राष्ट्र का निर्माण सम्भव हो सकेगा।

Read Also Motivational Messages for Teachers

कुरुक्षेत्र की पवित्र धरती पर आना सौभग्य की बात : किशन रेड्डी : International Gita Mahotsav 2021

केन्द्रीय संस्कृति और पर्यटन मंत्री श्री किशन रेड्डी ने कहा कि यह सौभाग्य है कि गीता जयंती के पावन पर्व पर धर्मक्षेत्र कुरुक्षेत्र की पवित्र धरती पर आने का अवसर मिला। उन्होंने कहा कि  मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल के प्रयासों से इस महोत्सव को अंतर्राष्ट्रीय गीता महोत्सव का बड़ा दर्जा मिला।

Read Also : Human Rights Day Messages 2021

उन्होंने कहा कि आज पूरे भारत में देश की आजादी के 75 वर्ष पूरे होने पर आजादी का अमृत महोत्सव के रूप में मनाया जा रहा है और गीता महोत्सव भी इसी थीम को समर्पित किया गया है। उन्होंने कहा कि कुरुक्षेत्र 48 कोस के तीर्थों का विकास राज्य सरकार की तरफ से किया जा रहा है और यह इस धरती को तीर्थ नगरी के रूप में विकसित करने का अनोखा प्रयास है।

Also Read : Sharjah New Weekend Days : UAE में कर्मचारियों को मिलेगा ढाई दिन का वीक ऑफ, 1 जनवरी 2022 से नया नियम होगा लागू

ऐतिहासिक क्षणों के साक्षी बनना एक गौरव का विषय : सुभाष सुधा : International Gita Mahotsav 2021

विधायक श्री सुभाष सुधा ने मेहमानों का आभार और प्रदेश वासियों को गीता जयंती की बधाई देते हुए कहा कि अंतर्राष्ट्रीय गीता महोत्सव के दौरान वैश्विक गीता पाठ के साथ 55 हजार विद्यार्थियों के अलावा विदेशों का वर्चुअल रुप से जुडऩा अपने आप में एक ऐतिहासिक क्षण है।
इन ऐतिहासिक क्षणों के साक्षी बनना एक गौरव का विषय है। सरकार ने युवा पीढ़ी को प्रेरणा देने के लिए ही वैश्विक गीता पाठ जैसे कार्यक्त्रमों को शुरु किया है। इन कार्यक्रमों के जरिए युवाओं को अच्छी शिक्षा और अच्छे संस्कार मिलेंगे। इससे युवा पीढ़ी राष्ट्र निर्माण में अपना योगदान दे सकेगी।

Read Also : Scholarship For Disabled Students विकलांग छात्रों के लिए छात्रवृत्ति की घोषणा, 15 दिसंबर तक कर सकेंगे आवेदन

Read Also : Daughter Burdened बेटी बोझ, ढाई माह की नवजात अस्पताल में छोड़ा

Connect With Us: Twitter Facebook

 

 

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments