Homeराज्यचण्डीगढ़जनता दरबार में गृह मंत्री विज ने 9 से ज्यादा मामलों में...

जनता दरबार में गृह मंत्री विज ने 9 से ज्यादा मामलों में एसआईटी गठित कर जांच के निर्देश दिए

आज समाज नेटवर्क,चंडीगढ़:
गृह मंत्री अनिल विज ने 6 घंटे से ज्यादा जनता दरबार के दौरान 3 हजार से ज्यादा लोगों की शिकायतों को विस्तारपूर्वक सुना और अधिकारियों को कार्रवाई के निर्देश दिए। जनता दरबार में उन्होंने 9 से ज्यादा मामलों में एसआईटी गठित कर जांच के आदेश दिए जबकि कई मामलों में केस दर्ज कर जांच रिपोर्ट देने को कहा। शनिवार जनता दरबार में गृह मंत्री अनिल विज ने अंतिम व्यक्ति की शिकायत को भी सुना। कई मामलों में लापरवाही बरतने वाले अधिकारियों को उन्होंने लताड़ भी लगाई। गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने प्रार्थियों की शिकायतों को सुनते हुए कहा कि ‘ऐसा नहीं हो सकता कि अनिल विज द्वारा शिकायत मार्क करने के बाद उस पर कार्रवाई न हो, उनकी लिखी चिट्ठी फोन से भी तेजी से काम करती है’।

अनिज विज ने शिकायतों पर लिया एक्शन

जनता दरबार में अम्बाला छावनी निवासी व्यक्ति ने गृह मंत्री को शिकायत देते हुए बताया कि उसने अपना गुर्दा एक व्यक्ति को डोनेट करते हुए इकरारनामा किया था कि वह उसका मकान का किराया देगा जबकि प्रतिमाह कुछ खर्चा उसे देगा, मगर वह अब इकरारनामे से मुकर गया है। इस मामले में गृह मंत्री ने एफआईआर दर्ज कर छानबीन के निर्देश दिए। इसी तरह पानीपत निवासी एक युवक ने अपनी शिकायत देते हुए बताया कि पानीपत के ही रहने वाले एक व्यक्ति ने खेल कोटे से उसे नौकरी दिलवाने बारे उससे 6.50 लाख रूपये लिए थे। उसने न तो नौकरी दिलवाई और न ही उसके पैसे दे रहा है। उसका आरोप था कि सम्बन्धित आरोपी जाली दस्तावेज भी तैयार करता है। इस शिकायत पर एसपी पानीपत को फोन करके सम्बन्धित आरोपी का फोन को ट्रेस करते हुए उसे पकडऩे के निर्देश दिए।

लडक़े को लडक़ी भगाने के मामले में झूठा फंसाया

पानीपत से आई एक दम्पत्ति परिवार ने अपनी शिकायत देते हुए बताया कि उसके लडक़े को लडक़ी भगाने के मामले में झूठा फंसाया गया है। इस मामले में पुलिस में शिकायत देने के बावजूद कोई कार्रवाई नहीं की जा रही। सम्बन्धित डीएसपी इस मामले में उचित कार्रवाई नहीं होने दे रहा है। इस मामले में गृहमंत्री ने सम्बन्धित डीएसपी को फोन पर लताड़ लगाते हुए कहा कि ‘आजाद हिन्दुस्तान है, कार्रवाई करो। मामले में संलिप्त जो भी आरोपी है उसके खिलाफ नियमानुसार कार्रवाई अमल में लाएं।‘ नूंह से आए एक व्यक्ति ने अपनी शिकायत में आरोप लगाया कि नूंह जिले में तैनात डीएसपी ने नूह में जमीन पर कब्जा किया हुआ है। पुलिस में शिकायत देने के बावजूद भी कोई कार्रवाई नहीं हो रही है। इस मामले में गृहमंत्री ने डीजीपी का शिकायत मार्क करते हुए जांच करने के निर्देश दिए। उन्होंने विभिन्न मामलों में एसआईटी गठित कर जांच के निर्देश दिए।
SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular