Homeराज्यचण्डीगढ़Get Help on Dial 112: साढे 5 महीने में 21 लाख से...

Get Help on Dial 112: साढे 5 महीने में 21 लाख से ज्यादा ने डायल 112 पर मदद मांगी

डॉ रविंद्र मलिक, चंडीगढ़

Get Help on Dial 112: हरियाणा में किसी भी तरह की आपातकालीन मदद के लिए डायल 112 सेवा करीब 6 महीने पर शुरू की गई थी। इसके नतीजे काफी हद तक  सकारात्मक रहे हैं और इसकी सफलता को देखते हुए कई राज्यों के पुलिस  अधिकारी इस प्रोजेक्ट के बारे में जानने के लिए पंचकूला  डायल 112 हेडक्वार्टर का दौरा भी कर चुके हैं। इस सेवा को 7 जनवरी यानी कि कल पूरे 6 महीने हो जाएंगे। इस बीचे सामने आया है कि अब तक किसी भी तरह की मदद के लिए डायल 112 पर पिछले साढ़े पांच महीने में 21 लाख से ज्यादा लोगों ने कॉल कर मदद मांगी है और पुलिस विभाग की तरफ से हर संभव मदद पहुंचाने की कोशिश की गई।

Read Also: MP Ratna Lal Kataria News: पंजाब कांग्रेस सरकार ने किया प्रधानमंत्री मोदी की सुरक्षा से खिलवाड़ : सांसद रत्नलाल कटारिया

साढ़े 5 महीने में 21 लाख 2 हजार 15 कॉल आई Get Help on Dial 112

इस सेवा के शुरू होने के बाद अब तक कई तरह की आपातकालीन मदद के लिए डायल 112 पर कुल 21 लाख 2 हजार 15 कॉल मदद के लिए आई हैं।  हर महीने औसतन 2 लाख से ज्यादा कॉल रिसीव की गई हैं। वहीं ये भी सामने आया कि कुछ कॉल ऐसी होती हैं जब कॉलर्स कॉल अटेंड करने वाले पुलिस कर्मचारियों से बदतमीजी या गलत तरीके से बात करते हैं। हालांकि फिलहाल विभाग ऐसा करने वालों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई नहीं कर रहा है और उनको चेतावनी देकर छोड़ रहा है। लेकिन भविष्य में ऐसा करने वालों के साथ विभाग सख्ती से पेश आ सकता है।

फिलहाल 626 वाहन डायल 112 में मदद के लिए Get Help on Dial 112

जिस दिन हरियाणा डायल 112 शुरू की गई, उस दिन 601 आपातकालीन प्रतिक्रिया वाहन (ईआरवी) वाहनों को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया गया था। बाद में इस में 19 ईआरवी वाहनों को जोड़ा गया। इनकी राज्य से गुजरने वाले राष्ट्रीय राजमार्गों पर तैनात किया गया। फिलहाल डायल 112 से जुड़े और कॉलर्स की मदद के लिए तैनात वाहनों की संख्या 626 है।  इन वाहनों में 23 अन्य उपकरण व घटक हैं जो मदद के लिए कॉल करने वालों को तुरंत सहायता प्रदान करने में मददगार हैं।

मदद के लिए मेल और मैसेज भी आए Get Help on Dial 112

हालांकि डायल 112 पर कॉल कर तो मदद ली ही जा सकती है, इसके अलावा मैसेज या मेल के जरिए भी हेल्प प्राप्त करने का प्रावधान है। मदद के लिए कुल 90277 मैसेज मिले हैं तो वहीं 12 मेल भी उपरोक्त अवधि में आई हैं।

पौने 3 लाख से ज्यादा पंजीकृत घटनाएं. 2.39 लाख  से ज्यादा वाहन मदद के लिए भेजे Get Help on Dial 112

वहीं विभागीय जानकारी के अनुसार डायल 112 प्रोजेक्ट के तहत मदद के लिए आई कॉल्स में से 2 लाख 76 हजार 28 पंजीकृत घटनाएं हैं। इस अर्थ ये है कि इन घटनाओं का रिकॉर्ड मेंटेन किया गया है। वहीं मदद के लिए कॉल आने के बाद कुल 239,955  वाहन जरूरतमंद लोगों की मदद के लिए भेजे गए हैं। इसमें बाकायदा ये रिकॉर्ड भी मेंटेन किया जाता है कि कितने बजे वाहन मदद के लिए भेजा गया और कितनी देर में वापस आया।

रिएक्शन समय 17 मिनट 54 सैकेंड, सुधार की जरूरत Get Help on Dial 112

डायल 112 इस लिए शुरू किया गया था कि जरूरतमंद लोगों को कम से कम समय में मदद मिल सके। ये सामने आया कि कॉलर्स तक मदद के लिए पहुंचने में एक वाहन को औसतन 17 मिनट 54 सेकेंड है । हालांकि जरूरत है कि रिएक्शन टाइम को कम किया जाए और इससे कम समय में मदद पहुंचे। वहीं ये भी बता दें कि ग्रामीण इलाकों में मदद में थोड़ी देर लगती है और ऐसे में जरूरत है कि ग्रामीण इलाकों में रिएक्शन टाइम कम हो।

88 फीसद संतुष्ट, 12 फीसद को भी संतुष्ट करना जरूरी Get Help on Dial 112

वहीं ये भी सामने आया है कि डायल 112 पर मदद के लिए जितने भी कॉल या अन्य जरिए से मदद मांगी गई है, उनमें में से 88 फीसद संतुष्ट पाए गए हैं। हालांकि विभाग को ये भी जानना चाहिए कि जो 12 फीसद संतुष्ट नहीं हैं, उसके पीछे क्या कारण हैं।

डायल 112 में कई आपातकालीन सेवाएं जुडी हैं Get Help on Dial 112

डायल 112 में कई अन्य आपातकालीन सेवाएं जुडी हैं और हर तरह की मदद कॉलर्स को पहुंचाई जा सकती है। पहले पुलिस से मदद के लिए डायल 110 था, वहीं यातायात सुरक्षा के लिए 1073 और महिलाओं की मदद के लिए 1091 पर कॉल कर मदद ली जाती थी। वहीं स्वास्थ्य सेवाओं के लिए 108 और आग लगने की स्थिति में 101 पर कॉल कर मदद ली जाती थी। लेकिन अब इन सभी सेवाओं को डायल 112 से जोड़ दिया गया है। उपरोक्त में से किसी भी मदद के लिए एक ही नंबर 112 पर कॉल कर मदद ली जाती है।

डायल 112 को लेकर लोगों की सकारात्मक प्रतिक्रिया मिली है। कॉलर्स को त्वरित मदद पहुंचाई जा रही है। रिएक्शन टाइम कम करने को लेकर निरंतर प्रयास जारी हैं। इसके अलावा इस पहलू पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है कि दूर दराज और ग्रामीण इलाकों में जल्द से जल्द मदद पहुंचे। दूसरे राज्यों से भी पुलिस विभाग के अधिकारी डायल 112 की सफलता को देखते हेडक्वार्टर विजिट कर रहे हैं।

अरशिंदर सिंह चावला, एडीजीपी व नोडल अधिकारी, डायल 112

Also Read : शेयर बाजार में सेंसेक्स 110 और निफ़्टी 27 पॉइंट ऊपर कर रहे कारोबार

Read Also : गौड़ ब्राह्मण सेंट्रल स्कूल में वार्षिक महोत्सव Annual Festival

Read Also : Human Rights Day Messages 2021

Connect With Us:-  Twitter Facebook

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments