Homeराज्यचण्डीगढ़चंडीगढ़: युवा नेता की हत्या की स्वतंत्र जांच हो : मजीठिया

चंडीगढ़: युवा नेता की हत्या की स्वतंत्र जांच हो : मजीठिया

चंडीगढ़। शिरोमणी अकाली दल ने  भारतीय  पूर्व  छात्र संगठन (एसओआई) के अध्यक्ष विक्की मिड्डूखेड़ा की दिनदहाड़े हत्या की निंदा करते हुए पूर्व कैबिनेट मंत्री बिक्रम सिंह मजीठिया ने कहा कि यह प्रदेश की कानून व्यवस्था की मुंह बोलती तस्वीर है। पार्टी ने  युवा नेता की हत्या की साजिश को बेनकाब करने तथा स्वतंत्र जांच करने की मांग की है। शनिवार को  एक प्रेस बयान जारी करते हुए पूर्व मंत्री ने कहा कि मोहाली में राज्य की राजधानी के करीब इस तरह से हत्या करना साबित करता है कि पंजाब में कोई भी सुरक्षित नहीं है। कानून और व्यवस्था की स्थिति इस तरह से बदतर हो गई है कि अपहरण, जबरन वसूली और सरेआम गोली मारना रोजमर्रा की बात बन गई हैं। मजीठिया ने कहा कि शिरोमणी अकाली दल ने पहले जेल में सरंक्षण देने का मुद्दा उठाया था । अकाली नेता ने मांग की कि मोहाली में कानून व्यवस्था में ढ़िलाई का पता लगाने के लिए आंतरिक जांच की जानी चाहिए, जिसके कारण यह दुखदाई घटना हुई है। उन्होंने शोक संतप्त परिवार के साथ गहरी संवेदना व्यक्त कर आश्वासन दिया कि अकाली दल इस दुख की घड़ी में आपके साथ है, तथा यह सुनिश्चित करवाने का प्रयास करेंगे कि विक्की के हत्यारों को सजा दिलाई जाए।
रोमाणा ने भी जताया शोक
इस बीच यूथ अकाली दल के अध्यक्ष परमबंस सिंह रोमाणा ने  युवा नेता के निधन पर गहरा शोक जताया। उन्होंने कहा कि विक्की पंजाब विश्वविद्यालय में अपने समय के दौरान लोकप्रिय नेता थे और उन्होंने एसओआई को मजबूत बनाने में अहम भूमिका निभाई थी तथा उन्होंने यूथ अकाली दल तथा एसओआई के लिए बहुत काम किया था। रोमाणा ने कहा कि विक्की को मेहनती नेता के रूप में जाना जाता था, जिसके कारण वे सभी रैंकों से ऊपर हो गए थे। विक्की पंजाब विश्वविद्यालय से पास होने के बाद लगातार जनसेवा में लगे रहे तथा हाल ही में मोहाली से नगर निगम चुनाव भी लड़े थे, जिसे वह थोड़े से अंतर से हार गए थे। उन्होंने कहा कि बड़े पैमाने पर युवाओं और समाज के कल्याण के लिए विक्की का काम हमेशा याद किया जाएगा।

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments