Wednesday, December 1, 2021
Homeराज्यचण्डीगढ़23 करोड़ की ईनामी राशि टोक्यो ओलंपिक गेम्स के पदक विजेता और...

23 करोड़ की ईनामी राशि टोक्यो ओलंपिक गेम्स के पदक विजेता और प्रतिभागी खिलाड़ियों को वितरित

आज समाज डिजिटल,चंडीगढ़:

हरियाणा को स्पोर्ट्स हब के रूप में विकसित करने के राज्य सरकार के विजन के अनुरूप हरियाणा के राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय ने आज टोक्यो ओलंपिक-2020 में हरियाणा का नाम रोशन करने वाले राज्य के 32 खिलाड़ियों को 23 करोड़ रुपए के चैक और जॉब आॅफर लेटर देकर सम्मानित किया। पंचकूला में आयोजित राज्य स्तरीय सम्मान समारोह में बंडारू दत्तात्रेय ने कहा कि टोक्यो ओलंपिक-2020 में हरियाणा के खिलाड़ियों के उत्कृष्ट प्रदर्शन ने न केवल राज्य और देश को गर्व से सिर ऊंचा करके मुस्कुराने के कई क्षण दिए हैं, बल्कि एक बार फिर से वैश्विक मानचित्र पर हरियाणा की योग्यता साबित की है।
राज्यपाल ने कहा कि देश की आबादी का महज 2 फीसदी होने के बावजूद ओलंपिक गेम्स में करीब 25 फीसदी भागीदारी हरियाणा से है जोकि गर्व की बात है। इस बार 7 पदक विजेताओं में हरियाणा के खाते में 4 यानि 3 व्यक्तिगत पदक और 2 हॉकी में हैं। राज्यपाल ने प्रदेश के युवाओं से आग्रह करते हुए कहा कि पढ़ाई के साथ-साथ खेलों में भी आगे अवश्य बढ़ें। उन्होंने कहा कि उन्हें गर्व है कि हरियाणा देश का पहला राज्य है जिसने पदक विजेताओं को अधिकतम नकद पुरस्कार दिया है।
हरियाणा की खेल नीति की देश में ही नहीं, बल्कि पूरी दुनिया में सराहना हो रही है। हरियाणा ने अन्य राज्यों के लिए एक मिसाल कायम की है और इसके लिए वे मुख्यमंत्री मनोहर लाल को बधाई देते हैं। उन्होंने कहा कि इन विश्व स्तरीय प्रतियोगिताओं में भाग लेना अपने आप में बड़ी उपलब्धि है। पूरे हरियाणा वासियों को इस बात का गर्व है कि इस बार ओलंपिक में 127 खिलाड़ियों में से 30 हरियाणा के थे।
उन्होंने कहा कि यह गर्व की बात है कि देश और राज्य के लोगों की उम्मीदों पर खरा उतरने वाले हरियाणा के इन बेटों और बेटियों ने कुल 7 में से 3 पदक जीते हैं। देश और राज्य ने पहले भी एशियाई खेलों, राष्ट्रमंडल खेलों और अन्य अंतरराष्ट्रीय खेल प्रतियोगिताओं में हरियाणा के खिलाड़ियों की क्षमता और उत्कृष्ट प्रदर्शन को देखा है। ट्रैक और फील्ड खेलों में भारत को स्वर्ण पदक दिलाकर भारत को राष्ट्रगान का क्षण दिलाने के लिए नीरज चोपड़ा की प्रशंसा करते हुए राज्यपाल ने कहा कि उन्होंने स्वर्ण पदक जीतकर स्वर्णिम इतिहास रचा है।
उनकी सफलता की कहानी वर्षों तक युवा खिलाड़ियों को प्रेरित करती रहेगी। पहलवान रवि दहिया और बजरंग पुनिया ने रजत और कांस्य जीतकर भारत का झंडा विदेशों में फहराया है। हरियाणा के 2 खिलाड़ी सुरेंद्र कुमार और सुमित कुमार ने भी हॉकी में कांस्य पदक जीतकर राज्य और देश को गौरवान्वित किया है।
इन खिलाड़ियों की कड़ी मेहनत के कारण ही भारत इस बार 7 पदक जीतकर दुनिया में 48वें स्थान पर है। यह 121 वर्षों में शानदार प्रदर्शन रहा है। कार्यक्रम में मुख्य सचिव विजयवर्धन, मुख्यमंत्री के मुख्य प्रधान सचिव डीएस ढेसी, चिकित्सा शिक्षा एवं अनुसंधान विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव आलोक निगम, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव राजीव अरोड़ा, मुख्यमंत्री के अतिरिक्त प्रधान सचिव तथा सूचना, जनसंपर्क एवं भाषा विभाग के महानिदेशक डॉ. अमित अग्रवाल, खेल एवं युवा मामले विभाग के प्रधान सचिव एके सिंह, पुलिस महानिदेशक मनोज यादव, खेल एवं युवा मामले विभाग के निदेशक पंकज नैन आईपीएस सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी मौजूद रहे।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments