Homeखेलअन्य खेलWeight lifters asked Rijiju to start practice: भारोत्तोलकों ने रीजीजू से...

Weight lifters asked Rijiju to start practice: भारोत्तोलकों ने रीजीजू से अभ्यास शुरू करने की अनुमति देने को कहा

नई दिल्ली। पूर्व विश्व चैंपियन मीराबाई चानू सहित देश के शीर्ष भारोत्तोलकों ने सोमवार को खेल मंत्री किरेन रीजीजू से जल्द से जल्द अभ्यास शुरू करने की अनुमति देने का आग्रह किया और कहा कि अभ्यास हाल काफी बड़ा होने के कारण वहां सामाजिक दूरी सुनिश्चित की जा सकती है। भारतीय खेल प्राधिकरण (साइ) के सभी केंद्रों पर कोविड-19 महामारी को रोकने के लिये मार्च के मध्य से ही अभ्यास बंद है। इस बीमारी से भारत में 65,000 से अधिक लोग संक्रमित पाये गये हैं जबकि 2,000 से अधिक लोगों की मौत हुई है। लॉकडाउन 17 मई तक लगाया गया है। रीजीजू ने पटियाला के राष्ट्रीय खेल संस्थान में रह रहे भारोत्तोलकों से वीडियो कान्फ्रेंस के जरिये बात की और उनसे अभ्यास शुरू करने को लेकर फीडबैक मांगा।
मीराबाई ने कहा, हम सभी ने उनसे जितना जल्दी संभव हो सके अभ्यास शुरू करने की अनुमति देने का आग्रह किया क्योंकि हमें वजन उठाने का अभ्यास करने की सख्त जरूरत है। हम फिटनेस पर काम कर रहे हैं लेकिन भार उठाने का अभ्यास बहुत आवश्यक है। राष्ट्रीय कोच विजय शर्मा ने भी मीराबाई की हां में हां मिलाते हुए कहा कि अभ्यास हॉल में सामाजिक दूरी का पालन किया जा सकता है।
शर्मा ने कहा, लगभग दो महीने से अभ्यास ठप्प पड़ा है। मांसपेशियां ढीली पड़ गयी हैं। परिसर सील किया हुआ है। कोई अंदर नहीं आ सकता और कोई बाहर नहीं जा सकता है, इसलिए हम अभ्यास शुरू कर सकते हैं। उन्होंने कहा, हमारा अभ्यास हॉल बहुत बड़ा है और हम प्रत्येक भारोत्तोलक के बीच आसानी से पांच मीटर की दूरी बनाये रख सकते हैं। हमारे पास 16 प्लेटफार्म हैं और केवल नौ भारोत्तोलक हैं इसलिए हम अभ्यास के दौरान आसानी से सामाजिक दूरी बनाये रख सकते हैं। इस वीडियो कान्फ्रेंस में साइ के महानिदेशक संदीप प्रधान, खेल एवं युवा कल्याण सचिव रवि मित्तल, लक्ष्य ओलंपिक पोडियम कार्यक्रम (टॉप्स) और भारतीय भारोत्तोलन महासंघ के अधिकारियों ने भी भाग लिया। मीराबाई ने कहा, मंत्री ने कहा कि वे एक सप्ताह के अंदर या 17 मई तक इसका समाधान निकाल लेंगे।

SHARE
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments