किसान आंदोलन पर पॉप स्टार रिहाना के ट्वीट के बाद सोशल मीडिया पर  घमाशान हो गया।  कई सिलेब्स और ग्रेटा थनबर्ग सहित कई इंटरनैशनल ऐक्टिविस्ट किसानों के समर्थन में ट्वीट किया.  रिहाना के बाद पॉर्न स्टार मिया खलीफा ने भी इस मामले पर ट्विटर पर लिखा था। सोशल मीडिया पर चल रहे ट्वीट वॉर के बाद विदेश मंत्रालय ने बयान जारी करके कहा कि बिना जानकारी के कुछ भी कहना गलत है। कृषि कानून भारत की संसद से पारित हुए हैं। अब बॉलिवुड ऐक्टर्स अक्षय कुमार और अजय देवगन भारत का नाम खराब करने वाले इन ट्वीट्स के विरोध में आए हैं। उन्होंने देश के लोगों से एकजुट रहने के लिए कहा है। वही अमेरिका ने भी भारत सरकार को सपोर्ट देते हुए कहा की यह कानून किसानो के हित में है। . 

बॉलवुड फिर से एक बार दो खेमे में बट गया, एक है लेफ्टिस्ट का और दूसरा राइटिस्ट का. इसके पहिले जेएनयू, एन आर सी, आर्टिकल ३७० ए , सी ऐ ऐ जैसे मुद्दों में बॉलीवुड बट चूका था। . लेकिन इस बार रिहाना के ट्वीट के बाद न सिर्फ बॉलीवुड बल्कि खेल जगत ने भी ट्वीट शुरू कर दिया. जिस तरह से ट्विटर पर वॉर शुरू हुआ   मिनिस्ट्री ऑफ एक्सटर्नल अफेयर्स की तरफ से यह गुजारिश की गई है कि ऐसे मामलों पर कॉमेंट करने से पहले मुद्दे को अच्छी तरह से समझ लिया जाए। सनसनी के लालच में सोशल मीडिया चल रहे हैशटैग्स और कॉमेंट्स, खासकर जिन्हें सिलेब्स कर रहे हैं, ना तो वे सही हैं न ही जिम्मेदारी भरे।
रिहाना ने ट्वीट के साथ खबर ट्वीट की है जिसमें लिखा है कि पुलिस और किसानों के बीच हुई झड़प के बाद भारत ने दिल्ली के आसपास इंटरनेट सेवा बंद कर दी है। रिहाना के ट्वीट के बाद जानी-मानी स्वीडिश इन्वाइरनमेंटल ऐक्टिविस्ट ग्रेटा थनबर्ग ने ट्विटर पर लिखा है, हम एकजुटता से भारत के किसानों के साथ हैं। अब इस मुद्दे से कई इंटरनैशनल ऐक्टिविस्ट जुड़ रहे हैं।रिहाना और ग्रेटा के ट्वीट के बाद ट्विटर पर हैशटैग यूनाइटेड फॉर इण्डिया शुरू हो गया। #IndiaStandsTogether, #IndiaAgainstPropaganda, #IndiaTogether  हैशटैग से ट्रेंड होने लगा 

इस पर अक्षय कुमार ने लिखा है, किसान हमारे देश का बहुत अहम हिस्सा हैं। उनकी समस्याओं को हल करने की जो कोशिश की जा रही है वह सबके सामने है। इस सौहार्दपूर्ण प्रस्ताव का समर्थन करें, ना कि उनका ध्यान दें जो कि मतभेद करवाने की कोशिश कर रहे हैं। वहीं अजय देवगन ने लिखा है, भारत और भारत की पॉलिसीज के खिलाफ किसी झूठे प्रोपागैंडा में मत आइए। इस घड़ी में बिना किसी झगड़े के एकजुट होने की जरूरत है। इसके अलावा करण जौहर, सुनील शेट्टी और एकता कपूर ने भी ट्वीट्स किए।लता मंगेशकर ने ट्वीट कर लिखा है, ”भारत गौरवशाली राष्ट्र है और हम सभी भारतीय सिर ऊंचा करके खड़े हैं। एक गर्व करने वाले भारतीय के रूप में, मुझे पूरा विश्वास है कि जिन मुद्दों या समस्याओं का हम सामना कर रहे हैं, हम उनके लोगों के हित को ध्यान में रखते हुए, उनका समाधान करने के लिए पूरी तरह से सक्षम हैं।”करन जोहर और सुनील शेट्टी सरकार के समर्थन में उतरे. सचिन  तेंदुलकर ने लिखा भारत की संप्रभुता के साथ समझौता नहीं कर सकते। विदेशी ताकतें सिर्फ देख सकती हैं लेकिन हिस्सा नहीं ले सकतीं। भारत को भारतीय जानते हैं और भारत के लिए फैसला भारतीयों को ही लेना चाहिए। आइए एक राष्ट्र के तौर पर एकजुट रहें।’
अमरीकी उप राष्ट्रपति कमला हैरिस की भांजी मीना हैरिस ने कहा,‘यह महज संयोग नहीं है कि अभी एक माह भी नहीं हुआ कि दुनिया के सबसे पुराने लोकतंत्र पर हमला हुआ और जब हम बात कर रहे हैं उस वक्त सबसे बड़े लोकतंत्र पर हमला हो रहा है।’
ऐसे तो किसानो पर कई फिल्मे बॉलीवुड में बन चुकी है जिसमे सबसे मशहूर मधर इण्डिया है बॉलीवुड में भी फिल्मों के जरिए कई बार किसानों के लिए आवाज उठाई गई है। ये फिल्में कमर्शियल सिनेमा से काफी ऊपर हैं। किसानों की दशा तो देशभर जानता है और उनकी ये हालत आज से नहीं है बल्कि दशकों से चली आ रही है। ऐसे में कई दशकों से बॉलीवुड भी अलग-अलग फिल्मों के जरिए उनकी बात कहने की कोशिश करता नजर आया है। किसानों से जुड़ी पहली फिल्म 65 साल पहले यानी 1953 में आई थी, तब से अब तक इस मुद्दे पर की फिल्में बन चुकी हैं।दो बीघा ज़मीन।953 में आई ये फिल्म भारतीय किसानों की दशा को सही तरीके से उकेरती है। इस फिल्म में किसानों के लिए मां समान मानी जाने वाली जमीन उनसे छीन ली जाती है, इसके बाद कर्ज में धंसता किसान और नेवलों की तरह उन्हें निगलते साहूकारों की कहानी दिखाई गई है। लगान,.पीपली लाइव , उपकार, मंथन, कड़वी हवा जैसी फिल्मे किसानो की ज़िंदगी पर बन चुकी है।
ग्रेटा और रिहाना के एक ट्वीट ने मशहूर बॉलीवुड अदाकारों को किसान आंदोलन के खिलाफ या समर्थन में आगे आने के लिए प्रेरित किया, अब तक तो सिर्फ कंगना रनौत , स्वरा भास्कर,अनुपम खेर और ऋचा चढ़ा ही ट्वीट करके अपनी राय देते थे लेकिन आज हर कोई ट्वीट पर राय दे रहा है