P.K khurana

learning age: सीखने की उम्र

पंजाब के एक प्रसिद्ध विश्वविद्यालय के छात्रों को संबोधित करते हुए नामचीन बिजनेस गुरू शिव खेड़ा ने स्वीकार किया कि दो साल पहले तक उन्हें ईमेल करना नहीं आता था। सहायकों की टीम उनके काम निपटा देती थी। कोरोना काल....Read More

khushiyon bharee saphalata: खुशियों भरी सफलता

हम सब जानते हैं कि सैर पर जाना सेहत के लिए अच्छा है। हम सब जानते हैं कि भोजन चबा-चबाकर खाना सेहत के लिए अच्छा है। हम जानते हैं कि यह सच है, मानते भी हैं कि यह सच है,....Read More

Chor-chor mausere bhaee: चोर-चोर मौसेरे भाई

सन् १९८५ में ५२वें संविधान संशोधन ने राजनीतिक दलों के मुखिया को अपने द लके अंदर सर्वशक्तिमान बना डाला जिसने पार्टी सुप्रीमो की अवधारणा को जन्म दिया। "आयाराम, गयाराम" कीघटनाएंनहों, इसके लिए तत्कालीन प्रधानमंत्री राजीव गांधी की सरकार ने ५२वांसंविधान....Read More

Transparency and accountability: पारदर्शिता और जवाबदेही

अस्सी के दशक की बात है, मैं कानपुर में एक मित्र के पास गया हुआ था। मेरे उन मित्र का छोटा भाई पीडब्ल्यूडी-बीएंडआर में ठेकेदारी करता था। मेरे मित्र के उस भाई को उसी दिन एक टेंडर एलाट हुआ था....Read More

Friendship with life: दोस्ती जिÞंदगी से

समय के साथ-साथ देश बदल गया है, लोगों की सोच बदल गई है, व्यवसाय का तरीका बदल गया है, और मीडिया भी बदल गया है। बदलाव जो आये, समय के साथ-साथ आये, धीरे-धीरे आये। कभी वो चुभे भी, फिर भी....Read More

Talent, order and results: प्रतिभा, व्यवस्था और परिणाम

हमारे देश में हर वह व्यक्ति जो पैसे खर्च सकता है, अपने बच्चों को प्राइवेट स्कूलों में दाखिल करवाता है ताकि उन्हें अच्छी शिक्षा मिल सके। प्राइवेट स्कूलों के मुकाबले सरकारी स्कूलों का हाल अच्छा नहीं है, स्टाफ कम है,....Read More

What kind of India do we want! कैसा भारत चाहते हैं हम!

भारत में सब कुछ ठीक-ठाक है, गुलाबी-गुलाबी है, बढिय़ा दिखता है, लेकिन सिर्फ तब अगर हम शीर्षासन करें, उलटे होकर देखें, वरना तो यही समझना मुश्किल है कि ठीक करना कहां से शुरू करें। स्वास्थ्य, परिवहन, रोजगार, गवर्नेंस, कहीं भी....Read More

sambhav hai udyam se unnat: संभव है उद्यम से उन्नति

जब मैं इकनामिक टाइम्स, बिजनेस स्टैंडर्ड या योरस्टोरी में पढ़ता हूं कि फलां-फलां स्टार्ट-अप कंपनी को 20 करोड़ की सीड फंडिंग मिल गई या फंडिंग के दूसरे राउंड में फलां-फलां कंपनी ने लाखों डालर की धनराशि प्राप्त की है तो....Read More

Problem and solution: समस्या और समाधान

अक्सर हम ऐसी खबरों से दो-चार होते हैं जहां कोई ठग किसी को नोट दोगुने करने का लालच देकर मूल राशि भी लेकर चंपत हो जाता है। चिट फंड कंपनियों के छोटे रूप में कहीं कमेटी, कहीं किटी या किसी....Read More

Why development stops! क्यों रुकता है विकास!

चंडीगढ़ की प्रसिद्धि के दो प्रमुख कारण हैं। पहला कारण तो यह है कि एक आदर्श शहर है जिसे योजनाबद्ध ढंग से विकसित किया गया, जिसके कारण इसके लगभग हर सेक्टर में रोजमर्रा की आवश्यक सुविधाएं उपलब्ध हैं और यह....Read More

Load More