Home लोकसभा चुनाव राजनीति There is no heart in 56 inch chest: इंच के सीने में नहीं है दिल : प्रियंका

There is no heart in 56 inch chest: इंच के सीने में नहीं है दिल : प्रियंका

4 second read
0
0
71

नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश में चुनाव प्रचार खत्म होने से पहले कांग्रेस की महासचिव और पूर्वी यूपी की प्रभारी प्रियंका गांधी ने जमकर भाजपा पर हमला किया। कांग्रेस महासचिव और पूर्वी यूपी की प्रभारी प्रियंका गांधी शुक्रवार को यूपी के भदोही में थीं। यहां वो भाजपा सरकार की नीतियों पर हमलावर रहीं। प्रियंका गांधी ने कहा कि मोदी सरकार ने किसानों के नुकसान की भरपाई नहीं की, अलबत्ता बीमा का 10 हजार करोड़ कुछ चुनिंदा उद्योगपतियों की जेब में डाल दिया। मुझे एक भी ऐसा किसान नहीं मिला जिसे बीमा के पैसे मिले हों। प्रियंका गांधी ने कहा कि विकास के नाम पर केवल हवाई अड्डे से शहर तक 15 किमी की एक रोड बनी है, लेकिन उनका प्रचार बहुत मजबूत है। 56 इंच के सीने में दिल नहीं है। मोदी को अपने दिल की नाप भी बतानी चाहिए। कांग्रेस सरकार बनी तो भाजपा सरकार में खाली पड़े 24 लाख रोजगार मार्च 2020 तक भरे जाएंगे। प्रियंका गांधी ने कहा कि नोटबंदी से 50 लाख रोजगार खत्म हो गए। जीएसटी से अनगिनत छोटे कारोबार खत्म हो गए। उनकी नीतियां जनविरोधी निकलीं। अपने संसदीय क्षेत्र बनारस में भी मोदी कभी नहीं गए। किसी बुनकर, गरीब और वंचित से नहीं मिले।

चुनाव प्रचार के दौरान प्रियंका का चाची मेनका गांधी से हुआ आमना-सामना
सुल्तानपुर। प्रियंका गांधी वाड्रा ने कांग्रेस उम्मीदवार डॉ. संजय सिंह के समर्थन में गुरुवार की शाम शहर में रोड शो किया, जिसमें भारी भारी भीड़ उमड़ी। इस दौरान प्रियंका गांधी पर फूल बरसा कर उनका स्वागत किया गया। जिसके बाद प्रियंका गांधी ने भी अपने समर्थकों की ओर फूल उछालते हुए उनका आभार व्यक्त किया। वहीं दरियापुर में भतीजी प्रियंका गांधी वाड्रा का चाची मेनका गांधी के काफिले से आमना-सामना हो गया। यही नहीं इस दौरान केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी और कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी भी आमने-सामने आ गईं, जिसके बाद प्रियंका गांधी ने हाथ हिलाकर चाची मेनका गांधी का अभिवादन किया। दरअसल, प्रियंका गांधी का रोड शो सुल्तानपुर शहर में दरियापुर ओवरब्रिज के पास से शुरू होकर बाधमंडी, राहुल चौराहा, लालडिग्गी चौराहा, प्रधान डाकघर चौराहा, जिला अस्पताल चौराहा, सब्जी मंडी होते हुए मालगोदाम तिराहे पर समाप्त होना था, ऐसे में जैसे ही प्रियंका गांधी का रोड शो शुरू हुआ उसी दौरान केंद्रीय मंत्री व सुलतानपुर से भाजपा प्रत्याशी मेनका गांधी भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह की जनसभा से लौट रही थीं और इस प्रकार से दोनों का काफिला एक दूसरे के सामने आ गया। बता दें कि आमतौर न तो सोनिया, राहुल और प्रियंका गांधी और न ही वरुण या मेनका गांधी एक-दूसरे के बारे में कुछ बोलते हैं। ऐसे में जब एक ही परिवार, लेकिन अलग-अलग हिस्सों में बटें इन परिवार के सदस्यों का आमना-सामना हो गया तो दोनों ने ही मुस्कान के साथ एक-दूसरे का अभिवादन किया। इसके बाद पुलिस ने मेनका गांधी का काफिला उनके आवास की ओर मोड़ दिया और प्रियंका गांधी वाड्रा के काफिले को आगे जाने दिया।

Load More Related Articles
Load More By Aajsamaaj Network
Load More In राजनीति

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

Djokovic has a chance to make history: जोकोविच के पास इतिहास रचने का मौका

पेरिस(एजेंसी)। फ्रेंच ओपन में दुनिया के नंबर वन पुरुष खिलाड़ी नोवाक जोकोविच के पास इतिहास र…