Home देश The laser guided bomb system was prepared in 12 days for the Mirage in Kargil war: Dhanoa: करगिल युद्ध में मिराज के लिये महज 12 दिन में तैयार की गई थी लेजर गाइडेड बम प्रणाली : धनोआ

The laser guided bomb system was prepared in 12 days for the Mirage in Kargil war: Dhanoa: करगिल युद्ध में मिराज के लिये महज 12 दिन में तैयार की गई थी लेजर गाइडेड बम प्रणाली : धनोआ

4 second read
0
1
83

ग्वालियर (मध्य प्रदेश)। वायुसेना प्रमुख बी एस धनोआ ने सोमवार को कहा कि करगिल युद्ध के दौरान टारगेटिंग पॉड्स के एकीकरण और मिराज 2000 विमानों के लिये लेजर-निर्देशित बम प्रणाली तैयार करने का काम रिकॉर्ड 12 दिन में पूरा किया गया था। करगिल युद्ध के 20 साल पूरे होने के अवसर पर ग्वालियर वायुसैनिक अड्डे पर आयोजित एक कार्यक्रम में धनोआ ने ये बातें कही। वायुसेना प्रमुख ने कहा, ह्यह्यमिराज 2000 में बदलाव की प्रक्रिया जारी थी, जिसे शीघ्र पूरा कर लिया गया और इस प्रणाली का करगिल युद्ध में इस्तेमाल किया गया।ह्णह्ण वायुसेना प्रमुख ने कहा, ह्यह्यलाइटनिंग टारगेटिंग पॉड और लेजर गाइडेड बम प्रणाली को रिकॉर्ड 12 दिन के भीतर पूरा कर लिया गया।ह्णह्ण उन्होंने कहा कि मिराज 2000 जेट विमानों और थल सेना को वायुसेना के सहयोग ने 1999 के युद्ध का रुख ही पलट दिया। धनोआ ने बालाकोट पर कहा, पाकिस्तान हमारे हवाईक्षेत्र में दाखिल नहीं हो पाया, हमने उसके आतंकवादी ठिकानों को निशाना बनाया जबकि वह हमारे सैन्य अड्डों को निशाना बनाने में नाकाम रहा।

अरुणाचल प्रदेश में वायुसेना के एएन-32 विमान के दुर्घटनाग्रस्त होने की हालिया घटना को लेकर पूछे गये सवाल पर धनोआ ने कहा, ह्यह्यएएन-32 विमान पहाड़ी इलाकों में उड़ान भरना जारी रखेगा, क्योंकि हमारे पास इस विमान का कोई विकल्प नहीं है।ह्णह्ण उन्होंने कहा, ह्यह्यहमलोग अधिक उन्नत विमान हासिल करने की प्रक्रिया में हैं, जिनके मिलते ही एएन-32 को हटाकर उन्नत विमानों को महत्वपूर्ण भूमिका में लगाया जायेगा। एएन-32 विमानों का इस्तेमाल इसके बाद परिवहन और प्रशिक्षण उद्देश्य से किया जायेगा।अरुणाचल प्रदेश के पर्वतीय इलाकों में स्थित घने जंगलों में इस महीने एक एएन-32 विमान के दुर्घटनाग्रस्त हो जाने से उसमें सवार सभी 13 सैन्यकर्मियों की मौत हो गयी थी।

Load More Related Articles
Load More By Aajsamaaj Network
Load More In देश

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

The true love story , 71 years after the death of husband and wife together: प्रेम की अदभुद् कहानी, 71 साल बाद पति-पत्नि की एक साथ मौत

जर्मनी। प्यार केवल दो शरीरों का नहीं दो आत्माओं का मिलन होता है। सच्चा प्रेम ईश्वर की भक्त…