Home ज्योतिष् धर्म Temple decorated with glass pieces Temple of faith: glass temple: कांच के टुकड़ों से सजा भव्य मंदिर आस्था स्थली: कांच मंदिर

Temple decorated with glass pieces Temple of faith: glass temple: कांच के टुकड़ों से सजा भव्य मंदिर आस्था स्थली: कांच मंदिर

2 second read
0
0
387

इंदौर। मध्य प्रदेश-जैन धर्म में कांच-मंदिरों की पुरानी परंपरा है। देश के कई शहरों में जैन संप्रदाय के नामी लोगों ने कांच के मंदिरों का निर्माण कराया है। ऐसा ही एक मंदिर मध्य प्रदेश के इंदौर शहर के सर हुकुमचंद मार्ग पर है, जिसे सेठ हुकुमचंद ने सन 1921 में बनवाया था। ‘कांच मंदिर’ के नाम से मशहूर इस दिगंबर जैन मंदिर की खासियत यह है कि बाहर से सफेद पत्थर और चूने से बने इस मंदिर के अंदर लाखों की तादाद में छोटे-बड़े, रंग-बिरंगे कांच के टुकड़ों का इस्तेमाल हुआ है। .मंदिर चौखट से लेकर अंदर गर्भगृह, दीवारों, छत, खंभों आदि तमाम जगहों पर कांच के टुकड़ों से सजावट की गई है या विभिन्न प्रकार की तस्वीरें, आकृतियां आदि बनाई गई हैं। यहां तक कि मंदिर का फर्श भी कांच के टुकड़ों से सजा हुआ है। दीवारों पर जैन व हिन्दू धर्म की कथाओं की झांकियां चित्रित हैं और सुविचार लिखे हुए हैं। देश भर के प्रमुख दिगंबर जैन तीथार्ें का भी सुंदर चित्रण भी दीवारों पर किया गया है। मंदिर में लगी घड़ी तक कांच से बनी हुई है। ये सब इतना अधिक खूबसूरत है कि यहां पहली बार आने वाले श्रद्धालु मंत्रमुग्ध होकर बस इसे निहारते ही रहते हैं। यहां लगे हुए कांच के टुकड़े और उन्हें लगाने वाले कारीगर भारत के अलावा ईरान और बेल्जियम से भी बुलाए गए थे। मूल नायक के रूप में यहां भगवान शांतिनाथ की प्रतिमा की स्थापना की गई है। साथ ही भगवान आदिनाथ व अन्य तीर्थंकरों की प्रतिमाएं भी हैं।.सुबह 10 बजे से शाम के 5 बजे तक इस मंदिर में दर्शन के लिए जाया जा सकता है। मंदिर के अंदर मोबाइल फोन, कैमरा आदि ले जाना मना है। अंदर फोटोग्राफी न कर पाने के चलते दूसरे शहरों से यहां आने वाले लोग थोड़े निराश भी हो जाते हैं। बाहर से देखने पर यह मंदिर नहीं, बल्कि किसी प्राचीन हवेली या राजमहल जैसा दिखता है। मंदिर के अंदर मशीन से चलने वाले कुछ पुतले भी हैं, जिनकी हथेली पर पैसे रखो तो वे उसे दानपात्र में डाल देते हैं। गर्भगृह में आइनों को इस तरह से लगाया गया है कि एक तरफ से देखने पर एक साथ चौबीसों तीर्थंकरों के दर्शन होते हैं। इंदौर शहर में आयोजित होने वाले जैन धर्म के सभी उत्सवों का केंद्र यह मंदिर ही होता है। इंदौर शहर की शान कहा जाने वाला कांच मंदिर दिगंबर जैन धर्मावलंबियों के बीच तो लोकप्रिय है ही, इंदौर घूमने आने वाले हर धर्म, पंथ के सैलानी भी यहां आए बिना नहीं रह पाते। .कैसे पहुंचें: इंदौर भारत के प्रमुख शहरों से सड़क, रेल तथा हवाई मार्ग से जुड़ा हुआ है। इंदौर रेलवे स्टेशन से कांच मंदिर करीब ढाई किलोमीटर की दूरी पर है, जिसके लिए ऑटो, टैक्सी आदि की सेवाएं ली जा सकती हैं।

Load More Related Articles
Load More By Aajsamaaj Network
Load More In धर्म

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

ED’s intentions not right, ED-Chidambaram wants to spoil the image: ईडी के इरादे ठीक नहीं, छवि खराब करना चाहता है ईडी-चिदंबरम

नई दिल्ली। आईएनएक्स मीडिया मामले में पूर्व वित्तमंत्री पी. चिदंबरम ने बुधवार को अपनी जमानत…