अफगानिस्तान के खिलाफ टेस्ट मैच में चोटिल साहा की जगह लेंगे दिनेश कार्तिक

नयी दिल्ली। भारतीय टीम के विकेटकीपर बल्लेबाज रिद्धिमान साहा अफगानिस्तान के खिलाफ 14 जून से बेंगलुरु में खेले जाने वाले ऐतिहासिक टेस्ट मैच से चोट के कारण बाहर हो गये हैं। इंडियन प्रीमियर लीग के क्वालीफायर मुकाबले में साहा के अंगूठे में चोट लगी थी जिससे वह उबर नहीं पाये। बीसीसीआई ने आफगानिस्तान के पदार्पण टेस्ट मैच के लिए साहा की जगह दिनेश कार्तिक को टीम में शामिल किया है।

बीसीसीआई के कार्यवाहक सचिव अमिताभ चौधरी ने एक बयान में कहा, ‘साहा बेंगलुरु में 14 जून से अफगानिस्तान के खिलाफ होने वाले एकमात्र टेस्ट मैच की टीम से बाहर हो गये हैं। वह बीसीसीआई की मेडिकल टीम की देखरेख में थे और प्रबंधन ने फैसला किया कि इंग्लैंड दौरे से पहले उन्हें आराम की जरूरत है। साहा को पूरी तरह ठीक होने में पांच से छह सप्ताह का समय लग सकता है।’

कोलकाता नाइट राइडर्स के खिलाफ 25 मई को आईपीएल के दूसरे क्वालीफायर मुकाबले में सनराइजर्स हैदराबाद के 33 साल के साहा के अंगूठे में चोट लगी थी। बीसीसीआई के बयान में कहा गया, ‘अखिल भारतीय चयन समिति ने साहा की जगह कार्तिक को चुना है।’ साहा आईपीएल में फार्म में नहीं दिखे और उन्होंने 14 मैचों में महज 234 रन बनाये। कार्तिक इस दौरान शानदार लय में दिखे जिन्होंने 16 मैचों में 498 रन बनाये और अपनी टीम को तीसरा स्थान दिलाने में अहम भूमिका निभाई।

टेस्ट टीम में कार्तिक की वापसी आठ साल के बाद हो रही। कार्तिक ने 2010 में बांग्लादेश के खिलाफ अपना पिछला टेस्ट मैच खेला था। भारत के लिए 23 टेस्ट मैचों में उन्होंने एक शतक और सात अर्धशतक के साथ 1000 रन बनाए हैं।

ओल्टमेंस की जगह लेंगे महिला टीम के कोच मारिन शोर्ड

नयी दिल्ली। एक हैरानी भरे फैसले में भारतीय महिला हॉकी टीम के कोच मारिन शोर्ड को पुरूष टीम का मुख्य कोच बनाया गया जो पद से हटाये गए रोलेंट ओल्टमेंस की जगह लेंगे। विश्व कप विजेता जूनियर टीम के कोच हरेंद्र सिंह को सीनियर महिला टीम का हाई परफार्मेंस विशेषज्ञ कोच बनाया गया है। मारिन 20 सितंबर से पद संभालेंगे जब महिला टीम मौजूदा यूरोप दौरे से लौटेगी। वहीं हरेंद्र शनिवार से ही पद संभाल लेंगे। इस फैसले की जानकारी नये खेलमंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने अपने ट्विटर पेज पर दी। राठौड़ ने ट्वीट किया, ”भारतीय सीनियर महिला हॉकी टीम के मौजूदा कोच वाल्थेरूस मारिन सीनियर पुरूष हॉकी टीम के मुख्य कोच होंगे।’’

उन्होंने लिखा, ”यह घोषणा करते हुए खुशी हो रही है कि द्रोणाचार्य पुरस्कार विजेता हरेंद्र सिंह भारतीय सीनियर महिला हाकी टीम के हाई परफार्मेंस विशेषज्ञ कोच होंगे।” दोनों को 2020 तोक्यो ओलंपिक तक का कार्यकाल दिया गया है। यह फैसला हाकी जगत के लिये हैरानी वाला रहा क्योंकि हॉकी इंडिया ने तीन दिन पहले ही पुरूष टीम के कोच के पद के लिये विज्ञापन दिया था। हॉकी इंडिया ने आवेदन की समय सीमा 15 सितंबर रखी है। एक अधिकारी ने बताया कि यह विज्ञापन कल ही हटा लिया गया। उन्होंने कहा, ”यह विज्ञापन हटा लिया गया क्योंकि हॉकी इंडिया और भारतीय खेल प्राधिकरण का मानना है कि मारिन इसके लिये सबसे उपयुक्त उम्मीदवार है जो छह महीने से अधिक यहां बिता चुके हैं।’’ समझा जाता है कि मारिन शुरूआत में यह पद नहीं लेना चाहते थे। नीदरलैंड के इस 43 वर्षीय कोच को इस साल फरवरी में ही महिला टीम का कोच बनाया गया। वह पहले किसी राष्ट्रीय पुरूष टीम के साथ नहीं जुड़े हैं। उन्होंने हाकी इंडिया और साइ के मनाने के बाद हामी भर दी। पुरूष हॉकी टीम के मुख्य कोच का पद रोलेंट ओल्टमेंस की बर्खास्तगी के बाद से खाली है जिन्हें खराब प्रदर्शन के बाद पद से हटा दिया गया।