Home टॉप न्यूज़ SAMNA SAWALON KA WITH NAYAB SAINI MINISTER HARYANA BY AJAY SHUKLA : पूर्ववर्ती कांग्रेस की सरकार में पर्ची भी चलती थी और खर्ची भी

SAMNA SAWALON KA WITH NAYAB SAINI MINISTER HARYANA BY AJAY SHUKLA : पूर्ववर्ती कांग्रेस की सरकार में पर्ची भी चलती थी और खर्ची भी

4 second read
0
0
139

अंबाला। कांग्रेस के शासन में भ्रष्टाचार था और भू माफिया पनपे थे, जिससे इंडस्ट्रीज लगाने वालों को भय था। कोई हरियाणा में इंडस्ट्रीज लगाने को तैयार नहीं था। भाजपा की सरकार बनते ही मुख्यमंत्री ने ईएमओ साइन कराकर 100 इंडस्ट्रीज लगाई जो आज चल रही हैं। यहां (हरियाणा) के बेरोजगारों को सरकारी और गैर सरकारी संस्थानों में नौकरी दी गई। हमने अपने घोषणा पत्र में जो पूरी बात कही है उसे शत-प्रतिशत पूरा किया। गेस्ट टीचरों के आगे खाई खोदने का काम कांग्रेस की सरकार ने किया था, उस खाई को भी बंद करने का काम मनोहर लाल ने किया। अभी विधानसभा में जो बिल आया, हमने किसी भी गेस्ट टीचर को बाहर नहीं जाने दिया। जुमलों की सरकार कांग्रेस वाले थे। वे झूठ बोलकर सत्ता पर काबिज हो जाते थे।, परंतु आज मनोहर लाल की सरकार हरियाणा में चल रही है। इन्होंने (मनोहर लाल ने) जो कहा है वह किया है। जो कह रहे हैं वह पूरा भी कर रहे हैं। नायब सैनी, श्रम एवं रोजगार मंत्री इंडिया न्यूज हरियाणा पर ‘सामना सवालों का’ में आईटीवी के प्रधान संपादक मल्टीमीडिया अजय शुक्ल के सवालों का मझे हुए राजनीतिक की तरह जवाब दे रहे थे। प्रस्तुत हैं नायब सैनी के अजय शुक्ल के साथ बातचीत के प्रमुख अंश।

– सवाल: आपने कितनों को रोजगार दिया। इसमें कितने को सरकारी सेक्टर और कितने लोगों को बाहर के सेक्टर में नौकरी देने का काम किया है। क्या बेरोजगारों को नौकरी मिली या सिर्फ सगूफा है।
– जवाब : यह सवाल विधानसभा में सीएलपी लीडर ने भी किया था। वहां पर मैने डिटेल के साथ उनको बताया था। मैंने बताया कि पूर्व में जब कांग्रेस की सरकार रही, उस समय उन्होंने मात्र 18 हजार युवाओं को सरकारी नौकरी दी। इसके बाद रोजगार कार्यालय के माध्यम से इंडट्रीज के अंदर मात्र 49 हजार युवाओं को नौकरी देने का काम किया। इनेलो का 1999 से लेकर 2004 तक जो शासन रहा, उस कार्यकाल में मात्र 5 हजार युवाओं को नौकरी मिली। लेकिन 2014 से लेकर 2019 तक भाजपा के साढ़े चार वर्ष के कार्यकाल के अंदर हमारी सरकार ने 54-55 हजार युवाओं को सरकारी सेक्टर के अंदर नौकरी देने का काम किया है। इसके बावजूद रोजगार कार्यालय और इंडस्ट्रीज के माध्यम से 113 रोजगार मेले के अलावा मेगा रोजगार मेले लगाने शुरू किए हैं। लगभग साढ़े 4 वर्ष में एक लाख से अधिक को नौकरी देने का काम हमारी सरकार ने किया है। प्रधानमंत्री मुद्र्रा योजना के तहत युवाओं को उनके पैरों पर खड़ा करने का काम किया है।

– सवाल: आपने बताया कि पिछली सरकार में माफिया काम करते थे। जो इंडस्ट्रीज से लेकर अन्य विकास की योजनाओं को ब्रेक करते थे। कहीं न कहीं वह लूट आपके भी राज में चल रही है।
– जवाब : नहीं ऐसी बात नहीं है। हमने उस लूट को बंद करने का काम किया है। आज इंडस्ट्रीज को इस बात की राहत मिली है कि इज आॅफ डुइंग बिजनेस में हरियाणा प्रदेश जो कांग्रेस के समय में 2014 से पहले देश में 14वें और 15वें स्थान पर था, आज मौजूदा सरकार में इज आॅफ डुइंग में हरियाणा तीसरे नंबर पर आया है।
– सवाल: वे (कांग्रेस) कहती है कि हम तो इज आॅफ डुइंग में नंबर वन लाए थे और आपने तो तीसरे नंबर पर पहुंचा दिया है।
– जवाब : वे किस बात पर नंबर वन की बात करते हैं। मैं बताना चाहता हूं कि कांग्रेस और आईएनएलडी के शासन में कोई फर्क नहीं था। दोनों केवल कपड़े बदलते थे, चेहरे और मन स्थिति वही रहती थी। हरियाणा प्रदेश की जनता वोट करती थी और जब इनेलो की सरकार आती थी तो केवल चेहरे बदल जाते थे और कपड़े वही रहते थे। ठीक यही स्थति कांग्रेस के शासन में भी होती थी क्योंकि इन दोनों पार्टियों का एक ही वीजन था और वह एक ही नीतियों पर काम करते थे। पूर्व की सरकार में पर्ची भी चलती थी और खर्ची भी चलती थी।
ल्ल सवाल: स्किल इंडिया और अन्य योजनाएं गिनाते हैं, लेकिन स्किल इंडिया के नाम पर आपके विरोधी आरोप लगाते हैं कि इसके नाम पर सिर्फ लूट हुई है। दूसरी चीजें जो वह कहते हैं कि आप जो आंकड़े गिनाते हैं वह पता नहीं कहां से आते हैं। क्या यह सिर्फ आरोप है या सत्यता है।
– जवाब : विपक्ष जो आरोप लगा रहा है, उसे आज यह समझ में नहीं आ रहा है कि इतना बड़ा बजट जो मनोहर लाल और हमारे वित्त मंत्री ने पेश किया, यह कैसे किया। उन्हें बताने की भी कोशिश की जाती है, परंतु उन लोगों का जो कार्यकाल रहा उनके पास विजन नहीं था। कांग्रेस के लोग आरोप लगाते हैं कि आपने (भाजपा ने) जो घोषणा पत्र में बातें कहीं, वह पूरी नहीं कीं। हमने अपने घोषणा पत्र में जो पूरी बात कही है उसे शत-प्रतिशत पूरा किया। गेस्ट टीचरों के आगे खाई खोदने का काम कांग्रेस की सरकार ने किया था, उस खाई को बंद करने का काम मनोहर लाल ने ही किया। अभी विधानसभा में जो बिल आया, हमने किसी भी गेस्ट टीचर को बाहर नहीं जाने दिया। जबकि इनके (कांग्रेस के) सरकार में चीफ सेक्रेटरी ने हाईकोर्ट में शपथपत्र दिया था कि गेस्ट टीचरों को दो महीने में बाहर कर दिया जाए, परंतु हमारी सरकार (भाजपा) ने रोकने का काम किया। 2005 में कांग्रेस की सरकार आई और उसने अपना घोषणा पत्र जारी किया। उसमें से सात वादे ऐसे हैं जिस पर इन्होंने छेड़ा तक नहीं, काम करने की बात दूर। 2008 और 2012-13 में इन्होंने (कांग्रेस ने) जमकर घोषणाएं की, यह बात विधानसभा में उठी कि इन घोषणाओं की जांच होनी चाहिए।
– सवाल: वे (कांग्रेस) आपको (भाजपा को) तो जुमलों की सरकार कहते हैं।
-जवाब : जुमलों की सरकार तो वे (कांग्रेस वाले) थे। वे झूठ बोलकर सत्ता पर काबिज हो जाते थे। परंतु आज मनोहर लाल की सरकार हरियाणा में चल रही है। इन्होंने (मनोहर लाल ने) जो कहा है वह किया है। जो कह रहे हैं वह भी पूरा कर रहे हैं। प्रदेश और देश की जनता का पूर्व की सरकार से विश्वास उठ चुका था, वह यह बात सोचते थे कि लोग आते हैं और झूठी बातें करते हैं और चले जाते हैं। परंतु आज नरेंद्र मोदी ने देश में मजबूती दी है, विश्व में देश का नाम चमकाया है।
– सवाल: वे कहते हैं कि आपने दस रुपए की एक थाली का प्रोविजन किया कि हर व्यक्ति का पेट भरा रहे और उसको भूखा न सोना पड़े। इस प्रोविजन में भी फ्रॉड था और सिफ जुमला था। इस पर एक पैसा भी काम नहीं हुआ।
– जवाब : हमने तो उन भाईयों को भी कहा है कि हरियाणा में हर व्यक्ति के लिए मुख्यमंत्री मनोहरलाल ने घोषणा की थी हम 20 जिलों के अंदर सस्ती डाइट फूड कैंटीन खोलेंगे। कोई भी व्यक्ति हमारे प्रदेश में भूखा पेट न सोए। इसके लिए दस रुपए में भर पेट भोजन की व्यवस्था की। हमने जो कैंटीन खोली है, वह आज पंचकूला, युमनानगर, अंबाला, करनाल, सोनीपत, फरीदाबाद, गुरुग्राम व हिसार में चल रही है।
– सवाल: हरियाणा में सबसे अधिक समस्याएं श्रम और रोजगार को लेकर है। दूसरे दल आरोप लगाते हैं कि आपके (भाजपा) के राज में रोजगार के मामले में हरियाणा बहुत पिछड़ गया है और यहां बेरोजगारी बढ़ी है।
– जवाब : अगर हम थोड़ा पीछे जाएं तो देखने को मिलेगा कि देश आजाद होने के 70 साल के बाद भी इस तरह का सिस्टम नहीं बना सका कि जिससे बेरोजगारी पर काबू पाया जा सके। इस देश में पूर्व की सरकारों का लंबे समय तक (56 वर्ष ) शासन रहा, युवाओं को उन लोगों ने युवाओं को सिर्फ एक वोट बैंक समझ रखा था। युवाओं का इस्तेमाल वोट के लिए होता था, लेकिन उनके लिए कोई योजना और नीति नहीं बनी, जिससे बेरोजगारी खत्म हो सके।
– सवाल: आपने युवाओं और बेरोजगारों के लिए क्या किया।
-जवाब : यह पहली बार है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मेक इन इंडिया, र्स्टाट अप इंडिया दिया। उन्होंने युवाओं के लिए प्रधानमंत्री मुद्रा बैंक योजना के साथ नौकरी के अंदर पारदर्शिता दी है। सरकारी सेक्टर के अलावा और भी जो उपक्रम हैं उसके अंदर युवाओं को रोजगार दिया जाता है। प्रधानमंत्री ने मेक इन इंडिया कहा, उसे लेकर मुख्यमंत्री मनोहरलाल ने हरियाणा में इंडस्ट्रिज को बुलाकर समिट किया, समिट के माध्यम से एमओयू साइन हुआ। इसके बाद हरियाणा में इंडस्ट्रीज लगाई गई और 100 बड़ी फैक्ट्रियां चलने लगीं और बेरोजगार युवाओं को रोजगार के साधन मुहैया हुए।
ल्ल सवाल: आप कहते हैं कि 100 बड़ी इंडस्ट्रीज चलने लगी, लेकिन भूपेंद्र सिंह हुड्डा, अभय सिंह चौटाला सहित और दूसरे दलों के नेता कहते हैं कि आपके एमओयू सिर्फ कागजी रह गए हैं।
– जवाब : अभी विधानसभा का सत्र समाप्त हुआ है। वहां पर भी यह सवाल आया था। हमारे मंत्री ने आईएलडी और भूपेंद्र सिंह हुड्डा के सामने डिटेल में पूरी बात सवाल करने वालों को बताई। यहां तक कहा गया कि अगर किसी को किसी प्रकार की शंका है तो उसको मैं स्थान भी दिखा सकता हूं। हरियाणा में जब इनेलो का शासन था तो पूरी जनता जानती है कि इंडस्ट्रीज के आगे इन लोगों ने खाई खोदने का काम किया है। इन लोगों ने हरियाणा में इंडस्ट्रीज लाने का नहीं, बल्कि उजाड़ने का काम किया। यही स्थिति कांग्रेस के शासनकाल में भी रही। कांग्रेस के शासन में भ्रष्टाचार था और भू माफिया पनपे थे, जिससे इंडस्ट्रीज लगाने वालों को भय था। जब भाजपा की सरकार बनी और मनोहर लाल मुख्यमंत्री बने तो उन्होंने इंडस्ट्रीज को आमंत्रित करते हुए यह कहा कि आप आइए और हम आपको अनकूल वातावरण देंगे।
– सवाल: वे (कांग्रेस) कहते हैं कि आप बाल श्रमिकों को नहीं रोक पा रहे हैं। सभी जगह बाल श्रमिक दिखाई देता है, इसके लिए आप क्या कर रहे हैं।
– जवाब : बाल श्रम रोकने के लिए अलग से एक सेल बना रखा है। जहां से भी हमारे पास इस प्रकार की शिकायत आती है, तुरंत सख्त कार्रवाई हमारा विभाग करता है।
ल्ल सवाल: आपके विपक्ष के लोग कहते हैं कि यह सब केवल पैसा कमाने में लगे रहते हैं।
– जवाब : विपक्ष की दुकानदारी बंद हो चुकी है, जो उनके (विपक्ष) दलाल थे, उन दलालों को मनोहर लाल ने समाप्त कर दिया है। दलालों के आगे के भी रास्ते बंद कर दिए गए हैं। आगे कोई भ्रष्टाचार न कर सके, इस नीति पर मनोहर लाल काम कर रहे हैं। जब यह नीति कानून बन रहा है तो कांग्रेस के लोगों को पीड़ा हो रही है।
– सवाल: आपके पास खनन विभाग भी है, खनन विभाग पर हुड्डा ने आरोप लगाया कि यह (भाजपा) ऐसी सरकार है जो दाल, चीनी और रेत भी खा रही है। आरोप है कि आपके यहां खनन माफिया सक्रिय है और वह खनन से जुड़ा है।
ल्ल जवाब : पिछले दिनों कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष तंवर जी चंडीगढ़ आए थे और उन्होंने प्रेसवार्ता इसी विषय पर किया था। मैंने भी प्रेस से कहा था कि यह नींद से उठकर आए हैं शायद इन्हें नहीं मालूम होगा कि मुझे (तंवर को) क्या बोलना है। उन्होंने (तंवर ने) अपना कार्यकाल नहीं देखा, भूपेंद्र सिंह हुड्डा तो दस वर्ष तक प्रदेश के मुखिया रहे। उनके (भूपेंद्र सिंह हुड्डा) के नीचे क्या चलता था उन्होंने तो आंखें बंद कर रखी थी।
-सवाल: आपकी पार्टी को शहरी पार्टी कहा जाता है। लोकसभा और विधानसभा चुनाव आने वाला है। ऐसी स्थिति में अब क्या करेंगे। उनका (विपक्ष) का कहना है कि किसान भी परेशान है और स्वास्थ्य व्यवस्था तो बिल्कुल चौपट है। ऐसे में आप क्या कर रहे हैं।
– जवाब : न तो किसान, मजदूर, व्यापारी और न ही कर्मचारी परेशान है, परेशान तो विपक्ष (कांग्रेस) और आईएनएलडी है और कोई परेशान नहीं है। हरियाणा की जनता बिल्कुल खुश है। विपक्ष की दुकानदारी बंद हो चुकी है, जो उनके (विपक्ष) दलाल थे, उन दलालों को मनोहर लाल ने समाप्त कर दिया। दलालों के आगे के भी रास्ते बंद कर दिए गए हैं। आगे कोई भ्रष्टाचार न कर सके, इस नीति पर मनोहर लाल काम कर रहें हैं। जब यह नीति कानून बन रहा है तो कांग्रेस के लोगों को पीड़ा हो रही है। बाल श्रम रोकने के लिए अगल से एक सेल बना रखा है। जहां से भी हमारे पास इस प्रकार की शिकायत आती है तुरंत सख्त कार्रवाई हमारा विभाग करता है।
– सवाल: आप सैनी बिरादरी से आते हैं, राजकुमार सैनी कहते हैं कि सभी सैनी मेरे साथ हैं आप क्या हैं।
– जवाब : इस बारे में मैं कुछ नहीं कहना चाहता। वह तो यह बोलते हैं कि पूरा का पूरा प्रदेश मेरी जेब में है। जिस प्रकार से उनका प्रदेश में व्यवहार रहा है इसके लिए कांग्रेस पार्टी जिम्मेदार है। इसके लिए इनेलो भी जिम्मेदार है। यशपाल मलिक भी इसके लिए कम जिम्मेदार नहीं हंै। इन लोगों की एक जुंडली थी, इनके पास वोट नहीं है। हरियाणा प्रदेश की जनता ने इनको नकार दिया है। राजकुमार सैनी नारायणगढ़ से विधायक और मंत्री बने और जनता के बीच जाकर बोलते हैं कि मेरी कोई मानता नहीं है। जबकि वह कुरुक्षेत्र से सांसद बने और कोई योजना नहीं बनाई, बावजूद इसके सरकार ने कुरुक्षेत्र के लिए विकास किया है।

Load More Related Articles
Load More By Aajsamaaj Network
Load More In टॉप न्यूज़

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

The disclosure of Lavasa’s disagreeable comment can endanger anyone’s life: Election Commission: लवासा की असहमति वाली टिप्पणी का खुलासा करने से किसी की जान खतरे में पड़ सकती है: चुनाव आयोग

नई दिल्ली। निर्वाचन आयोग (ईसी) ने आरटीआई अधिनियम के तहत चुनाव आयुक्त अशोक लवासा की असहमति …