Home टॉप न्यूज़ Ram Rahim’s decision on murder case:राम रहीम पत्रकार रामचंद्र छत्रपति मामले में दोषी करार, 17को सुनाई जाएगी सजा

Ram Rahim’s decision on murder case:राम रहीम पत्रकार रामचंद्र छत्रपति मामले में दोषी करार, 17को सुनाई जाएगी सजा

0 second read
0
0
47

पंचकुला। शुक्रवार का दिन हरियाणा के लिए महत्वपूर्ण है क्योंकि आज डेरा सच्चा सौदा प्रमुख राम रहीम के केस पर फैसला सुनाया जाना है। राम रहीम पर एक पत्रकारा रामचंद्र छत्रपति की हत्या का आरोप है और 16 साल बाद इस केस पर फैसला सुनाया जाना है। यह फैसला पंचकूला अदालत द्वारा सुनाया जाना है जिसके मद्देनजर हरियाणा और पंजाब के कई क्षेत्रों में सुरक्षा बढ़ा दी गई है। हरियाणा में, विशेषकर पंचकूला, सिरसा (डेरा मुख्यालय) और रोहतक जिलों में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किये गए हैं। बता दें कि साल 2002 में 24 अक्टूबर को पत्रकार रामचंद्र छत्रपति पर हमला हुआ था और 21 नवंबर 2002 को दिल्ली के अपोलो अस्पताल में उनकी मौत हो गई थी।

गौरतलब है कि हरियाणा और पंजाब में कानून व्यवस्था से जुड़ी किसी भी स्थिति से निपटने के लिये राज्य सशस्त्र पुलिस की कई कंपनियों, दंगा विरोधी पुलिस और कमांडो बल को तैनात किया जा रहा है। हरियाणा के अतिरिक्त पुलिस महानिरीक्षक (कानून-व्यवस्था) मोहम्मद अकील ने कहा, ‘हरियाणा में सुरक्षा कड़ी कर दी गई है। पुलिस अधिकारी ने कहा कि सभी जिलों की पुलिस को लोगों को गैरजरूरी रूप से जमा होने से रोकने और अतिरिक्त निगरानी रखने के निर्देश दिये गए हैं। उन्होंने कहा कि कई इलाकों में नाकेबंदी भी की गई’। दरअसल सीबीआई कोर्ट ने इस हत्या से जुड़े आरोपी निर्मल, कुलदीप और कृष्ण लाल को कोर्ट में पेश होने के आदेश दिए हैं। जबकि गुरमीत राम रहीम वीडियों कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए कोर्ट में पेश होगा। वहीं कोर्ट के जज जगदीप सिंह इस मामले का फैसला सुनाएंगे, जगदीप सिंह वही जज हैं जिन्होंने रामरहीम को साध्वी यौन शोषण के आरोप में सजा सुनाई थी।

अपडेट
पंचकूला सीबीआई कोर्ट ने शुक्रवार को पत्रकार रामचंद्र छत्रपति मामले में सुनवाई करते हुए, डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख रहे गुरमीत राम रहीम सहित तीनों अन्य आरोपियों को दोषी करार दिया है। इस केस में फैसला सुरक्षित रखते हुए कहा कि इस पर सजा 17 जनवरी को सुनाई जाएगी। बता दें कि इस मामले में 2003 में एफआईआर कराई गई थी।राम रहीम सहित कृष्ण लाल, निर्मल सिंह, कुलदीप को दोषी करार दिया गया। चारों अपराधियों को आईपीसी की धारा सेक्सन 302 और 120 बी के तहत फैसला सुनाया गया है।

Load More Related Articles
Load More By Aajsamaaj Network
Load More In टॉप न्यूज़

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

Jagdeep made a meaningful name by burning justice lamp:न्याय दीप जलाकर जगदीप ने सार्थक किया नाम

न्याय की आसंदी पर बैठना आसान है, लेकिन उसके दायित्वों का निर्वहन बेहद कठिन है। न्याय वही क…