भूकंप के कई दिन बीतने के बाद भी दहशत में पापुआ न्यू गिनी के लोग

सिडनी। पापुआ न्यू गिनी के प्रधानमंत्री पीटर ओनेल ने आज बताया कि देश में पिछले महीने आए भूकंप में अब तक मरने वाले की संख्या 100 से ऊपर पहुंच गई है। उन्होंने चेताया कि क्षेत्र को इस त्रासदी से उबरने में वर्षों लग जाएंगे। प्रशांत क्षेत्र में स्थित देश के पहाड़ी इलाकों में26 फरवरी को आए7.5 तीव्रता के भूकंप के कारण भूस्खलन शुरू हो गये थे, जिनसे सड़कें अवरूद्ध हो गई थीं। साथ ही बिजली आपूर्ति बाधित होने के अलावा कई गांवों से संपर्क बिल्कुल टूट गया था। ओनेल ने कहा, दुखद रूप से पहाड़ी इलाके में आए भूकंप ने पहले ही100 से ज्यादा नागरिकों की जान ले ली है और कई लोग अब भी लापता हैं और हजारों लोग घायल हैं।

विदित हो कि प्रशांत महासागर क्षेत्र में स्थित देश पापुआ न्यू गिनी में सोमवार को आए रिक्टर पैमाने पर 7.5 तीव्रता के भूकंप के झटकों में अब तक 31 लोगों की मौत हो गई है. 300 से अधिक घायल हो गए. अमेरिकी भूवैज्ञानिक सर्वेक्षण (यूएसजीएस) के मुताबिक, भूकंप का केंद्र एंगा प्रांत के पोर्जेरा से लगभग 90 किलोमीटर दक्षिण में था। बता दें कि भूकंप के बाद कई आफ्टरशॉक भी महसूस किए गए.

4 लाख लोग प्रभावित

प्रशासन ने सुरक्षाबलों और बचाव दलों को मुस्तैद किया. इन भूकंपों से चार प्रांतों के 4 लाख लोग प्रभावित हुए हैं. सुरक्षा के मुद्देनजर हेला प्रांत के हाइड्स गैस क्षेत्र केओके टेडी माइन एंड एक्सॉनमोबिल संचालित गैस संयत्र को बंद कर दिया गया था। पापुआ न्यू गिनी के सुदूर इलाके में आये भूकंप में कम से कम 67 लोग मारे जाने की भी बात सामने आई है। जबकि हजारों की संख्या में लोगों के पास भोजन-पानी अब तक उपलब्ध नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *