Home टॉप न्यूज़ NGT ने ऑड-ईवन को दी मंजूरी, महिलाओं, दोपहिया, VVIP वाहनों को भी छूट नहीं

NGT ने ऑड-ईवन को दी मंजूरी, महिलाओं, दोपहिया, VVIP वाहनों को भी छूट नहीं

7 second read
0
0
482

राष्ट्रीय हरित अधिकरण (एनजीटी) ने आज दिल्ली सरकार को सोमवार से राष्ट्रीय राजधानी में ऑड-ईवन योजना लागू करने के लिए सशर्त मंजूरी दे दी। इसके तहत महिलाओं को कोई छूट नहीं है और ना ही दोपहिया वाहनों के लिए कोई छूट होगी। ना ही वीवीआईपी के लिए कोई छूट होगी। सिर्फ आपात सेवा के वाहनों पर यह योजना लागू नहीं होगी।

अधिकरण ने यह भी कहा कि प्रदूषण स्तर पर लगातार निगरानी रखी जाये और भविष्य में यदि 48 घंटे के भीतर प्रदूषण स्तर यानि PM 10 500 से ऊपर जाता है और PM5 300 से ऊपर जाता है तो स्वतः ही यह योजना लागू हो जायेगी।

सुनवाई के दौरान अधिकरण की ओर से केजरीवाल सरकार की मंशा और कार्यशैली पर सवाल भी उठाये गये। एनजीटी ने यह भी कहा कि प्रदूषण घटाने के लिए ईपीसीए द्वारा सुझाए गए उपाय जैसे पार्किंग शुल्क बढ़ाना बेतुके हैं।

दिल्ली में अब 13 से 17 नवंबर तक ऑड-ईवन योजना चलायी जायेगी। सरकार ने इन पाँच दिनों के लिए डीटीसी और कलस्टर बसों में मुफ्त यात्रा कराने की घोषणा की है। दिल्ली मेट्रो ने भी यात्रियों की सुविधा के लिए ट्रेनों के फेरे बढ़ाये जाने की बात कही है।

राज्य सरकार से एनजीटी ने सवाल किया कि क्या कारों की सम-विषय योजना उप-राज्यपाल और दिल्ली सरकार दोनों की सहमति से लागू की जा रही है। एनजीटी ने दिल्ली सरकार को फटकार लगाते हुए पूछा- जब वायु गुणवत्ता बेहद खराब थी, उस समय सम-विषय योजना क्यों नहीं लागू की गयी ?

एनजीटी ने पूछा कि क्या सम-विषय योजना किसी खास अधिकारी की मर्जी या विचार है या यह पूरी दिल्ली सरकार का विचार है ? एनजीटी ने आप सरकार से पूछा- अगर आप वायु गुणवत्ता में सुधार चाहते हैं तो इस योजना के तहत छूट का आधार क्या है ? जज ने कहा- मैं खुद रात डेढ़ बजे तक जगा हुआ था लेकिन मुझे कहीं सरकार नहीं दिखी। उन्होंने कहा कि अब तक कृत्रिम बारिश क्यों नहीं कराई गई।

Load More Related Articles
Load More By आजसमाज ब्यूरो
Load More In टॉप न्यूज़

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

महिला कांग्रेस में भी होंगी 5 कार्यकारी अध्यक्ष, हाईकमान ने जारी किया आदेश

भोपाल । विधानसभा चुनावों को देखते हुए कांग्रेस अपने संगठनात्मक ढांचे को चुस्त-दुरुस्त करने…