Home लोकसभा चुनाव ट्विटर की गली New leadership should take charge – Shatrughan Sinha:नए बेहतर नेतृत्व को कार्यभार संभालना चाहिए-शत्रुघ्न सिन्हा

New leadership should take charge – Shatrughan Sinha:नए बेहतर नेतृत्व को कार्यभार संभालना चाहिए-शत्रुघ्न सिन्हा

3 second read
0
0
165

भाजपा के असंतुष्ट सांसद शत्रुघ्न सिन्हा ने गुरुवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि अब एक नए बेहतर नेतृत्व को कार्यभार संभालना चाहिए। पटना साहिब से भाजपा सांसद सिन्हा ने ट्वीटर के जरिए मोदी के पांच साल के कार्यकाल में एक भी प्रेस कॉन्फ्रेंस नहीं करने पर उन पर कटाक्ष करते हुए कहा कि अब तिथियों व लोकसभा चुनाव की घोषणा हो गयी है। सर अब तो कम से कम एक प्रेस कांफ्रेंस कर दीजिये। एक भी स्वतंत्र और निष्पक्ष प्रेस कांफ्रेंस नहीं की गई। आप इतिहास पर नजर डालें तो ऐसे एकमात्र पीएम हैं आप।
सिन्हा ने कहा कि दुनिया के लोकतांत्रिक इतिहास में वे एकमात्र प्रधानमंत्री होंगे, जिनके कार्यकाल में एक भी सवाल और जवाब का सत्र नहीं हुआ है। उन्होंने पूछा कि आपको नहीं लगता कि सरकार बदलने और एक बेहतर नेतृत्व के कार्यभार संभालने का यह सही समय है। आपको अपने सभी रंग—ढंग के साथ बाहर आना चाहिए। अपने कार्यकाल के अंतिम सप्ताह / महीने में आपने उत्तर प्रदेश, बनारस और देश के अन्य हिस्सों में 150 परियोजनाओं की घोषणा की।
सिन्हा ने अपने अंतिम ट्वीट में कहा कि तकनीकी रूप से यह आचार संहिता का उल्लंघन नहीं भी हो, तो भी निश्चित रूप से यह बहुत कम और बहुत देर से आया जुमला लगता है। आपके कहीं पर निगाहें और कहीं पर निशाना वाले रवैये तथा प्रहार कर भाग खडेÞ होने के व्यवहार के बावजूद आपको शुभकामनाएं, जय हिंद।

राइट टू वोट
मुंबई में ख्वाजा गरीब नवाज के 807वें उर्स के मौके पर युवाओं ने वोटिंग अपील की। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मास वोटिंग अपील को आगे बढ़ाते हुए मुंबई के युवाओं ने राइट टू वोट का
मैसेज दिया।

हम नहीं चाहते सपा-बसपा गठबंधन हारे : मोइली
नई दिल्ली। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एम वीरप्पा मोइली ने गुरुवार को कहा कि उनकी पार्टी नहीं चाहती कि आगामी लोकसभा चुनाव में उत्तर प्रदेश में सपा-बसपा-रालोद गठबंधन चुनाव हारे और उनकी पार्टी उन हिस्सों में गठबंधन के साथ तालमेल कर सकती है, जहां वह मजबूत नहीं है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने उत्तर प्रदेश में अपने दम पर चुनाव लड़ने का फैसला किया जब सपा-बसपा ने उसे सिर्फ दो सीटों की पेशकश की। मोइली ने पीटीआई-भाषा को टेलीफोन पर दिये गए साक्षात्कार में कहा कि कांग्रेस जैसी राष्ट्रीय पार्टी के लिये हम इसे स्वीकार (दो सीटों की पेशकश को) नहीं कर सकते। इसलिये हम उम्मीदवार उतार रहे हैं। कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि उम्मीदवार उतारने के दौरान गठबंधन के बिना भी सीटों का तालमेल हो सकता है।

Load More Related Articles
Load More By Aajsamaaj Network
Load More In ट्विटर की गली

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

Jadeja throws a thrill in the crowd: जडेजा ने अर्द्धशतक जड़कर दर्शकों में भरा रोमांच

नर्ई दिल्ली। टीम इंडिया के हरफनमौला खिलाड़ी रवींद्र जडेजा ने केनिंगटन ओवल के मैदान पर क्रिक…