Home टॉप न्यूज़ My statement was tampered -Sam Pitroda: मेरे बयान को तोड़-मरोड़ कर पेश किया गया-सैम पित्रोदा

My statement was tampered -Sam Pitroda: मेरे बयान को तोड़-मरोड़ कर पेश किया गया-सैम पित्रोदा

3 second read
0
0
112

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के करीबी और इंडियन ओवरसीज कांग्रेस के प्रमुख सैम पित्रोदा का सिख दंगों पर बयान कांग्रेस के लिए गले की हड्डी बन गई है। उनके बयान पर पीएम मोदी ने जमकर हमला बोला और कांगे्रस को आड़े हाथों लिया। अब पित्रोदा ने 1984 के सिख विरोधी दंगों से जुड़े अपने एक कथित बयान को लेकर भाजपा के हमले पर पलटवार करते हुए शुक्रवार को कहा कि सत्तारूढ़ पार्टी अपनी नाकामियां छिपाने के लिए उनके शब्दों को तोड़-मरोड़कर पेश कर रही है। उन्होंने ट्वीट कर कहा, ”भाजपा एक साक्षात्कार में कहे मेरे तीन शब्दों को तोड़-मरोड़कर पेश कर रही है ताकि वह तथ्यों को अपने हिसाब से गढ़ सके, हमें बांट सके और अपनी नाकामियां छिपा सके। यह दुखद है कि उनके पास देने के लिए कुछ भी सकारात्मक नहीं है।” पित्रोदा ने कहा, ”1984 में मुश्किल समय में अपने सिख भाइयों-बहनों के दर्द का मुझे अहसास था और उन अत्याचारों के बारे में आज भी महसूस करता हूं। परंतु ये चीजें अतीत की हैं और इस चुनाव में प्रासंगिक नहीं हैं। यह चुनाव इस पर लड़ा जा रहा है कि मोदी सरकार ने पांच वर्षों में क्या किया है।”प्रधानमंत्री मोदी और भाजपा के जबर्दस्त पलटवार के बाद कांग्रेस से लेकर सैम पित्रोदा खुद इस बयान को लेकर बैकफुट पर हैं।उन्होंने कहा जो बयान मैंने दिया वो पूरी तरह तोड़-मरोड़ कर पेश किया गया। मेरी हिंदी अच्छी नहीं है। मेरा मतलब था- जो हुआ वो बुरा हुआ। मैं अपने दिमाग में ‘बुरा’ का अनुवाद नहीं कर पाया। उन्होंने कहा, “मेरा मतलब था, आगे बढ़ो। और भी मुद्दे हैं बहस के लिए जैसे भाजपा सरकार ने क्या किया। मुझे दुख है कि मेरा बयान गलत तरीके से सामने आया। मैं माफी मांगता हूं। इसे जरूरत से ज्यादा बढ़ा दिया गया।”

Load More Related Articles
Load More By Aajsamaaj Network
Load More In टॉप न्यूज़

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

Terrorism will not stop from harsh law only-Congress: केवल कठोर कानून से नहीं रुकेगा आतंकवाद : कांग्रेस

 नयी दिल्ली।  सरकार ने मंगलवार को लोकसभा में कहा कि उसकी रणनीति के कारण देश में आतंकवाद और…