Home खास ख़बर विश्‍व युद्ध में नष्ट हुए जहाज के अवेशषों को बाहर निकालेगा MPT

विश्‍व युद्ध में नष्ट हुए जहाज के अवेशषों को बाहर निकालेगा MPT

पणजी। मार्मगोआ बंदरगाह न्यास (एमपीटी) द्वितीय विश्व युद्द के दौरान नष्ट हुए जर्मनी के जहाजों के अवशेषों को बाहर निकालने और वहां मछली पकड़ने के लिए एक बंदरगाह स्थापित करने की योजना बना रहा है। एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि मार्मगोआ बंदरगाह के समुद्र में छह दशक से ज्यादा समय से पड़े जहाज के टूटे हुए हिस्सों को पोत परिवहन मंत्रालय की योजना के तहत बाहर निकाला जाएगा।

इस योजना के तहत यहां मछली पकड़ने के लिए एक बंदरगाह का निर्माण और वास्को में जहाजी माल के लिए एक घाट का निर्माण किया जाना है। मार्च 1943 में द्वितीय विश्वयुद्ध के दौरान, ब्रिटिश कमांडो के एक समूह ने जर्मनी के जहाजों-एहरेनफेल्स, ड्राचेनफेल्स और ब्राउनफेल्स को मार्मगोआ तट से कुछ दूर पर उड़ा दिया था। गोवा पर उस समय पुर्तगालियों का शासन था। एमपीटी के अध्यक्ष आई जयकुमार ने कहा कि जहाज के हिस्से इतने वर्षों तक पानी में पड़े रहने के कारण अब “धातु की प्लेटें मात्र” रह गए हैं।

उन्होंने कहा कि मछली पकड़ने के लिए बंदरगाह और जहाजी माल के लिए घाट बनाने के दौरान इन धातु के टुकड़ों को बाहर निकाला जाएगा। उन्होंने कहा कि वर्तमान में इन अवशेषों से पर्यावरण पर पड़ने वाले प्रभावों का आंकलन किया जा रहा है जो इन दोनों परियोजनाओं के निर्माण के रास्ते में बाधा बन रहे हैं। हालांकि जयकुमार ने इनको संरक्षित करने की किसी तरह की प्रतिबद्धता से इंकार किया है। एमपीटी के एक अन्य वरिष्ठ अधिकारी ने नाम गुप्त रखने की शर्त पर बताया कि जहाज के टूटे हुए हिस्सों में जंग लगने के कारण उनका अब कोई महत्व नहीं रह गया है।

Load More Related Articles
Load More By आजसमाज ब्यूरो
Load More In खास ख़बर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

प्रधानमंत्री मोदी और अमित शाह ने दी गुजराती नववर्ष की बधाई

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने शुक्रवार को…