Home देश Mamata Banerjee’s warning to doctors- start work within four hours: डॉक्टरों को ममता बनर्जी की चेतावनी- चार घंटे के अंदर शुरू कर दें काम

Mamata Banerjee’s warning to doctors- start work within four hours: डॉक्टरों को ममता बनर्जी की चेतावनी- चार घंटे के अंदर शुरू कर दें काम

2 second read
0
0
56

नई दिल्ली। पश्चिम बंगाल में एक ओर जहां टीएमसी और भाजपा की लड़ाई जारी है वहीं ममता बनर्जी की पकड़ राज्य पर कुछ कम होती दिख रही है। तथाकथित राजनीतिक पंडितों का मानना है पश्चिम बंगाल में ममता का वर्चस्व अब कम हो रहा है। वहीं दूसरी ओर डॉक्टरों ने अपनी सुरक्षा को लेकर हड़ताल की हुई है। जिसके चलते राज्य में मेडिकल सेवा प्रभावित हुई है। आज मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने आंदोलन कर रहे डॉक्टरों को निर्देश दिया है कि वे सभी चार घंटे के अंदर अपना काम शुरू कर दें। उन्होंने चेतावनी के लहजे में कहा कि अगर आंदोलन कर रहे डॉक्टर उनके आदेशों का पालन नहीं करते हैं तो फिर कार्रवाई के लिए तैयार रहें।
गुरूवार को जिस वक्त ममता बनर्जी कोलकाता के एसएसकेएम अस्पताल में गई थीं उन्हें जूनियर डॉक्टरों के भारी विरोध का सामना करना पड़ा था। उन डॉक्टरों ने उनके ममता के सामने सामने नारे लगाए- ह्लहम न्याय चाहते हैं।ह्व
ममती बनर्जी ने इस प्रदर्शन पर अपने गुस्से का इजहार करते हुए कहा उन सभी को चार घंटे के अंदर काम पर वापस लौट आने का आदेश दिया। उन्होंने कहा- ह्लराज्य की तरफ से स्टैपेंड के लिए हर एक डॉक्टर को 25 लाख रुपये है, उसके बावजूद काम से भाग रहे हैं। इसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। क्या वे डॉक्टर्स हैं!ह्व एक मरीज की मौत के बाद उसके परिजनों की तरफ से किए गए दुर्व्यवहार को लेकर जूनियर डॉक्टर हड़ताल पर फूल प्रुफ सुरक्षा की मांग कर रहे हैं। जूनियर डॉक्टरों की हड़ताल के चलते गुरूवार को तीसरे दिन भी पश्चिम बंगाल में मेडिकेयर सर्विस पूरी तरह से ठप रहा। डॉक्टर के साथ मारपीट की यह घटना राज्य के मेडिकल कॉलेज और अस्पताल में सोमवार रात की है। इस घटना में इंटर्न डॉक्टर बुरी तरह से जख्म हो गया। इसके विरोध में शुरू हुई हड़ताल अगल-अलग जिलों के मेडिकल संस्थानों में की गई है।

Load More Related Articles
Load More By Aajsamaaj Network
Load More In देश

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

The disclosure of Lavasa’s disagreeable comment can endanger anyone’s life: Election Commission: लवासा की असहमति वाली टिप्पणी का खुलासा करने से किसी की जान खतरे में पड़ सकती है: चुनाव आयोग

नई दिल्ली। निर्वाचन आयोग (ईसी) ने आरटीआई अधिनियम के तहत चुनाव आयुक्त अशोक लवासा की असहमति …