Home खेल क्रिकेट विश्व कप London Diary- not working in the World Cup, just big name: लंदन डायरी- विश्व कप में नहीं आता काम, सिर्फ बड़ा नाम

London Diary- not working in the World Cup, just big name: लंदन डायरी- विश्व कप में नहीं आता काम, सिर्फ बड़ा नाम

0 second read
0
0
145

लंदन। आईसीसी ने विराट कोहली के लिए किंग संबोधन की वकालत की है। विश्व क्रिकेट की नियामक इस संस्था ने इंग्लैंड के पूर्व कप्तान माइकल वॉन के ऐतराज को खारिज कर उन्हें करारा जवाब दिया है। हालांकि अपने पहले मैच में विराट अच्छी पारी नहीं खेल पाए। खैर, विराट से उम्मीदें बनी हुई हैं और आगे भारतीय कप्तान बड़ी पारी खेलते देखे जा सकते हैं। बड़े नामधारी खिलाड़ियों से उम्मीद स्वाभाविक है लेकिन विश्व कप में सिर्फ नाम ही काम नहीं आएगा। यहां सभी तैयारी के साथ आए हैं, कोई भी खिलाड़ी सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन कर सकता है। यहां काम आएगा दबाव में किया जा रहा अच्छा प्रदर्शन। आॅस्टेÑलिया के नाथन कुल्टर नाइल ने आठवें नम्बर पर उतर कर ऐसी धमाकेदार बल्लेबाजी की, जिससे 79 रन पर आधी टीम खो चुकी उनकी टीम ने 288 का स्कोर खड़ा कर दिया। उनके साथ पूर्व कप्तान और एक साल का प्रतिबंध भुगत कर विश्व कप में लौटे स्टीव स्मिथ ने भी अच्छा योगदान दिया लेकिन इतने बडेÞ स्कोर तक ले जाने का श्रेय कोल्टर को जाता है, जो दाएं हाथ के तेज गेंदबाज हैं। उनकी जिम्मेदारी गेंदबाजी की थी लेकिन उन्होंने अपनी टीम को अपनी बल्लेबाजी से उबारा। जिनकी जिम्मेदारी टीम के लिए अच्छा स्कोर बनाने की थी, वे डेविड वार्नर, एरोन फिंच, उस्मान ख्वाजा और ग्लेन मैक्सवेल केवल 38 रन पर पैवेलियन लौट गए थे। ये चारों बल्लेबाज आॅस्टेÑलियाई क्रिकेट के बड़े नाम हैं, जो बल्लेबाजी में अपना खास रुतबा रखते हैं। इनमें डेविड वार्नर तो ऐसे हैं, जिनके बल्ले को शांत कराना किसी भी गेंदबाज के लिए आसान नहीं होता। आईपीएल में उन्होंने सर्वाधिक 692 रन बनाकर आॅरेंज कैप हासिल की थी। ऐसे ही वेस्टइंडीज के धुआंधार बल्लेबाज क्रिस गेल की ओर क्रिकेटप्रेमी आशा भरी नजरों से देख रहे थे। जबकि क्रिस गेल को अम्पायर ने एक नहीं बल्कि तीन बार आउट दिया। दो बार उन्होंने डीआरएस की मदद से विकेट बचाए रखी पर तीसरी बार 21 के स्कोर पर आउट करार दे दिए गए। छुपे रुस्तम की शक्ल में वेस्टइंडीज की टीम इस विश्व कप में पहचान बना रही है और काफी मजबूत मानी जा रही दक्षिण अफ्रीका अपने लगातार तीन शुरुआती मैच हारकर निराशाजनक स्थिति में है। हालांकि अभी तो विश्व कप का पहला ही हफ्ता समाप्त हुआ है। डेढ़ महीने के इस टूर्नामेंट में हमें काफी उलटफेर और हैरान करने वाले परिणाम मिल सकते हैं। लेकिन इतना तो तय है कि पुराने रिकार्ड और सिर्फ बड़े नाम से बात नहीं बनेगी, बल्कि यहां नए सिरे से कुछ करके दिखाना होगा।
विपिन कुमार बहुगुणा

Load More Related Articles
Load More By Vipin Bahuguna
Load More In विश्व कप

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

London Diaries played to save the honor, returned with victory: लंदन डायरी-सम्मान बचाने के लिए खेले, जीत के साथ लौटे

लंदन। पाकिस्तान की टीम शुक्रवार को लॉर्ड्स के मैदान में 350 रन नहीं बना पाई। सो वह सेमीफाइ…