Home खेल क्रिकेट दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पहली श्रृंखला खेलेगी भारतीय महिला टीम

दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पहली श्रृंखला खेलेगी भारतीय महिला टीम

1 second read
0
0
1,686

नयी दिल्ली। आईसीसी महिला एकदिवसीय विश्व चैंपियनशिप का दूसरा सत्र 2017 से 2020 तक चलेगा जिसमें भारत प्रतियोगिता का पहला दौर पांच से 10 फरवरी तक दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खेलेगा। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने यहां भारतीय कप्तान मिताली राज और पूर्व कप्तान अंजुम चौपड़ा की मौजूदगी में महिला चैंपियनशिप लांच की। जुलाई में विश्व कप फाइनल में मेजबान इंग्लैंड के खिलाफ शिकस्त के बाद से कोई मैच नहीं खेलने वाली भारतीय महिला टीम चैंपियनशिप के हिस्से के तौर पर दक्षिण अफ्रीका के किंबर्ले में पांच और सात फरवरी को दो मैच खेलेगी जबकि श्रृंखला का अंतिम मैच पोचेफस्ट्रूम में 10 फरवरी को होगा। महिला चैंपियनशिप 2014-16 तक हुए पहले सत्र के प्रारूप में ही होगी जिसमें सभी आठ टीमें आस्ट्रेलिया, इंग्लैंड, भारत, न्यूजीलैंड, पाकिस्तान, दक्षिण अफ्रीका, श्रीलंका और वेस्टइंडीज एक दूसरे के खिलाफ तीन एकदिवसीय मैचों की श्रृंखला में अपने और विरोधी के मैदान पर भिड़ेंगे।

विश्व कप 2021 का मेजबान न्यूजीलैंड और चैंपियनशिप की तीन अन्य शीर्ष टीमों को इस प्रतिष्ठित प्रतियोगिता में सीधे प्रवेश मिलेगा जबकि बाकी चार टीमों को आईसीसी महिला विश्व कप क्वालीफायर के जरिये दूसरा मौका मिलेगा। क्वालीफायर में इन चार टीमों के अलावा चार क्षेत्रों अफ्रीका, एशिया, पूर्व एशिया प्रशांत और यूरोप की छह टीमें हिस्सा लेंगी। वेस्टइंडीज चैंपियनशिप की पहली श्रृंखला में 11 से 15 अक्तूबर तक श्रीलंका की मेजबानी करेगा जबकि इंग्लैंड और आस्ट्रेलिया एक दूसरे के खिलाफ 22 से 29 अक्तूबर तक खेलेंगे। भारतीय महिला टीम जब दक्षिण अफ्रीका का दौरा करेगी तब भारतीय पुरुष टीम भी वहां तीन टेस्ट, छह वनडे और तीन टी20 अंतरराष्ट्रीय मैचों की पूर्ण श्रृंखला खेल रही होगी। भारतीय महिला टीम 2018-2019 से कम से कम 21 एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैच खेलेगी।विश्व टी20 का आयोजन नवंबर 2018 में वेस्टइंडीज में होना है और ऐसे में अनुभवी मिताली ने कहा कि 50 ओवर की चैंपियनिशप के साथ कुछ टी20 मैचों को शामिल करना अच्छा विचार होगा।

मौजूदा स्थिति की तुलना अतीत की स्थिति से करते हुए मिताली ने कहा कि भारतीय टीम को अच्छी संख्या में अंतरराष्ट्रीय मैच खेलने को मिलेंगे। उन्होंने कहा, ‘‘मुझे लगता है कि दो साल से अधिक समय में 21 मैच अच्छी संख्या है। एकदिवसीय चैंपियनशिप से पूर्व समान समय के दौरान हमने 10 से 12 मैचों से अधिक नहीं खेले। 21 मैच पर्याप्त हैं और मुझे यकीन है कि स्थिति बेहतर ही होगी।’’ मिताली ने कहा, ‘‘शायद अगर बोर्ड (भारत और दक्षिण इस मामले में) की रुचि हो तो वे कुछ टी20 मैचों (एकदिवसीय चैंपियनशिप के साथ) को शामिल कर सकते हैं।’’ आईसीसी ने भी एकदिवसीय विश्व चैंपियनशिप में हिस्सा ले रही दो टीमों के इस तरह के कदम का स्वागत किया है। अब यह देखना होगा कि विश्व चैंपियनशिप के हिस्से के तौर पर भारत पाकिस्तान के खिलाफ खेलने को तैयार होता है या नहीं।

भारत ने चैंपियनशिप के पहले सत्र में पाकिस्तान के खिलाफ मैचों में हिस्सा नहीं लिया था और आईसीसी ने भारत को सजा देते हुए इस श्रृंखला के सभी संभावित छह अंक काट लिए थे।

Load More Related Articles
Load More By आजसमाज ब्यूरो
Load More In क्रिकेट

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

महिला कांग्रेस में भी होंगी 5 कार्यकारी अध्यक्ष, हाईकमान ने जारी किया आदेश

भोपाल । विधानसभा चुनावों को देखते हुए कांग्रेस अपने संगठनात्मक ढांचे को चुस्त-दुरुस्त करने…