Home खेल अन्य खेल Indian Open will punch Mary Kom and Company: इंडिया ओपन में पंच लगायेगी मेरीकाम एंड कंपनी

Indian Open will punch Mary Kom and Company: इंडिया ओपन में पंच लगायेगी मेरीकाम एंड कंपनी

0 second read
0
1
137

गुवाहाटी। सभी की निगाहें सोमवार को यहां शुरू होने वाले इंडिया ओपन के दूसरे चरण में छह बार की विश्व चैम्पियन एम सी मेरीकाम पर लगी होंगी, जिसमें 72 भारतीय मुक्केबाज 16 देशों के 200 मुक्केबाजों के खिलाफ रिंग में उतरेंगे। एशियाई खेलों के चैम्पियन अमित पंघाल और विश्व चैम्पयनशिप कांस्य पदकधारी शिव थापा अन्य शीर्ष भारतीय मुक्केबाज होंगे। यह टूर्नामेंट रूस में होने वाली विश्व चैम्पियनशिप (ओलंपिक क्वालीफिकेशन टूर्नामेंट) के लिये अभ्यास प्रतियोगिता का काम करेगी। विश्व चैंपियनशिप में पुरुष वर्ग की स्पर्धा सात से 21 सितंबर तक याकाटेरिनबर्ग में और महिला वर्ग की उलान उडे में तीन से 13 अक्तूबर तक होंगी।
मेरीकाम ने विश्व चैम्पियनशिप की तैयारी के लिये पिछले महीने हुई एशियाई चैम्पियनशिप में नहीं खेलने का फैसला किया था। लंदन ओलंपिक 2012 की कांस्य पदकधारी मेरीकाम 70,000 डालर की इनामी राशि की पांच दिवसीय प्रतियोगिता में घरेलू दर्शकों के सामने 51 किग्रा में प्रतिस्पर्धी पदार्पण करेंगे। स्टार मुक्केबाज ने 2018 में इंडिया ओपन के पहले चरण में 48 किग्रा में स्वर्ण पदक जीता था। उन्होंने कहा, हां, निश्चित रूप से, मुझसे काफी उम्मीदें हैं। पिछले कुछ महीनों में 51 किग्रा में कड़ी ट्रेनिंग के बाद मैं इसमें आत्मविश्वास से भर गयी हूं। यहां गुवाहाटी में आना मुझे घर आने जैसा ही लग रहा है और मुझे उम्मीद है कि सभी भारतीय मुक्केबाजों को यहां काफी समर्थन मिलेगा।
मेरीकाम फिर से भारत की पदक दावेदारों में से एक होंगी। अमित पंघाल (52 किग्रा) एशियाई चैम्पियनशिप स्वर्ण पदक जीतने के बाद अपना दबदबा बरकरार रखना चाहेंगे। असम के शिव थापा (60 किग्रा) घरेलू दर्शकों को प्रभावित करना चाहेंगे और ऐसा ही 2017 विश्व युवा चैम्पियनशिप के स्वर्ण पदकधारी अनुकुशिता बोरो (64 किग्रा) की उम्मीद भी ऐसी ही होगी। वर्ष 2017 के विश्व मुक्केबाजी चैम्पियनशिप के कांस्य पदकधारी गौरव बिधुड़ी (56 किग्रा) से भी भारत को उम्मीद होगी। शिव थापा ओलंपिक कोटा हासिल करने के लिये 63 किग्रा में खेलेंगे।
उन्होंने कहा, मैं घरेलू दर्शकों के सामने खेलने का मौका मिलने से काफी उत्साहित हूं और पदक का रंग बदलने के लिये भूखा हूं। ओलंपिक क्वालीफिकेशन के लिये कुछ भारतीय मुक्केबाजों ने अपने वजन वर्ग में बदलाव किया है, जिसमें पंघाल भी शामिल हैं, जो 49 किग्रा के बजाय 52 किग्रा में खेलेंगे। असम की भाग्यवती काचरी ने भी वजन वर्ग में इसी तरह का बदलाव किया है जबकि एशियाई चैम्पियनशिप की कांस्य पदकधारी मनीषा मौन पहली बार 57 किग्रा में खेलेंगी। वहीं सिमरनजीत कौर 60 किग्रा में भाग लेंगी, उन्होंने महाद्वीपीय चैम्पियनशिप में 64 किग्रा में रजत पदक जीता था।

Load More Related Articles
Load More By Aajsamaaj Network
Load More In अन्य खेल

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

The disclosure of Lavasa’s disagreeable comment can endanger anyone’s life: Election Commission: लवासा की असहमति वाली टिप्पणी का खुलासा करने से किसी की जान खतरे में पड़ सकती है: चुनाव आयोग

नई दिल्ली। निर्वाचन आयोग (ईसी) ने आरटीआई अधिनियम के तहत चुनाव आयुक्त अशोक लवासा की असहमति …