Home खेल क्रिकेट श्रीलंका पर क्लीनस्वीप से स्वदेश में जीत का सैकड़ा पूरा कर देगा भारत

श्रीलंका पर क्लीनस्वीप से स्वदेश में जीत का सैकड़ा पूरा कर देगा भारत

श्रीलंका का इस साल के शुरू में उसकी सरजमीं पर सूपड़ा साफ करने वाला भारत अगर तीन टेस्ट मैचों की आगामी श्रृंखला में भी अपने इस प्रतिद्वंद्वी पर दबदबा बरकरार रखकर क्लीन स्वीप करता है तो वह स्वदेश में जीत का सैकड़ा पूरा करने वाला तीसरा देश बन जाएगा। यही नहीं इससे विराट कोहली भारत के सबसे सफल कप्तानों की सूची में दूसरे स्थान पर भी काबिज हो जाएंगे। भारत ने इस साल जुलाई-अगस्त में श्रीलंका को तीन टेस्ट मैचों की श्रृंखला में 3-0 से हराया था और 16 नवंबर से कोलकाता में शुरू होने वाली आगामी श्रृंखला में भी कोहली की अगुवाई वाली टीम को जीत का प्रबल दावेदार माना जा रहा है। वर्तमान परिस्थितियां ही नहीं रिकार्ड भी भारत के पक्ष में है। भारतीय टीम ने अब तक श्रीलंका से अपनी सरजमीं पर एक भी टेस्ट मैच नहीं गंवाया है और एक बार पहले भी वह श्रीलंका के खिलाफ स्वदेश में क्लीन स्वीप (1993-94 में) कर चुका है। भारत अगर तीन टेस्ट मैचों की श्रृंखला में फिर से श्रीलंका का सूपड़ा साफ करने में सफल रहता है तो उसकी घरेलू सरजमीं पर जीत की संख्या 100 पर पहुंच जाएगी और यह उपलब्धि हासिल करने वाला वह आस्ट्रेलिया (234) और इंग्लैंड (212) के बाद केवल तीसरा देश होगा। भारत ने अब तक अपनी सरजमीं पर 261 टेस्ट मैच खेले हैं जिनमें से 97 में उसे जीत और 52 में हार मिली है जबकि 111 मैच ड्रा और एक टाई रहा है। अभी स्वदेश में सर्वाधिक जीत के रिकार्ड में भारत चौथे स्थान पर है। दक्षिण अफ्रीका ने अपनी सरजमीं पर 98 जीत दर्ज की हैं लेकिन उसे दिसंबर के आखिरी सप्ताह तक अपनी धरती पर कोई टेस्ट मैच नहीं खेलना है। श्रीलंका के खिलाफ तीन टेस्ट मैचों की श्रृंखला का पहला मैच 16 नवंबर से कोलकाता में शुरू होगा जबकि अगले दो मैच नागपुर और नयी दिल्ली में खेले जाएंगे। श्रीलंका अब तक भारत में एक भी टेस्ट मैच नहीं जीता है। उसने भारतीय सरजमीं पर 17 टेस्ट मैच खेले हैं जिनमें से भारत ने दस में जीत दर्ज की जबकि बाकी सात ड्रा रहे। इन दोनों टीमों के बीच भारत में आखिरी टेस्ट श्रृंखला 2009 में खेली गयी थी।

Load More Related Articles
Load More By आजसमाज ब्यूरो
Load More In क्रिकेट

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

वाणिज्यिक खनन के लिए कोयला खदानों के आवंटन पर जल्दी ही होगा निर्णय

नयी दिल्ली । मंत्रिमंडल की आर्थिक मामलों की समिति (सीसीईए) वाणिज्यिक खनन के लिए कोयला खदान…