Home खेल क्रिकेट I never lost my rhythm: Kuldeep: मैने कभी अपनी लय नहीं खोई थी : कुलदीप

I never lost my rhythm: Kuldeep: मैने कभी अपनी लय नहीं खोई थी : कुलदीप

0 second read
0
0
122

 मैनचेस्टर।  कुलदीप यादव को यह सुनकर काफी बुरा लग रहा है कि उन्होंने अपनी खोई लय हासिल कर ली है क्योंकि भारत के इस स्पिनर का मानना है कि उन्होंने अपनी लय कभी खोई ही नहीं थी । पाकिस्तान के खिलाफ रविवार को भारत को मिली शानदार जीत में कुलदीप की अहम भूमिका रही जिन्होंने शानदार फार्म में दिख रहे बाबर आजम और फखर जमां को आउट किया । कुलदीप ने मिश्रित जोन में मीडिया से बातचीत में कहा ,ह्यह्य हर कोई मेरी लय के बारे में बात कर रहा है लेकिन मैने कभी लय खोई नहीं थी ।ह्णह्ण बाबर के विकेट के बारे में उन्होंने कहा कि यह उनकी सर्वश्रेष्ठ गेंद में से एक थी । उन्होंने कहा ,ह्यह्य वह इस टूनार्मेंट में मेरी सर्वश्रेष्ठ गेंद में से एक थी । मैने बाबर आजम को पहले भी एशिया कप में आउट किया था ।

वह स्पिन को बखूबी खेलता है ।ह्णह्ण कुलदीप ने कहा ,ह्यह्य टीम के नजरिये से बाबर और जमां अच्छा खेल रहे थे । दोनों स्ट्राइक रोटेट कर रहे थे । हमें पता था कि वह विकेट कितना अहम है । उन पर दबाव बन गया और फखर भी जल्दी आउट हो गया । कुलदीप का इकानामी रेट पांच रन प्रति ओवर रहा और वह इससे काफी खुश है । उन्होंने कहा , कई बार ऐसा होता है कि आपको विकेट नहीं मिलते । एक खिलाड़ी के लिये और परिवार के लिये भी यह निराशाजनक होता है कि उसे विकेट नहीं मिलते। जब विकेट नहीं मिल रहे थे तो मैने सोचना शुरू किया कि ऐसा क्यो हो रहा है ।ह्णह्ण उन्होंने कहा ,ह्यह्य पिछले तीन मैच में मैने अच्छी गेंदबाजी की । आस्ट्रेलियाई बल्लेबाज भी मुझे खेल नहीं पा रहे थे । बल्लेबाजों को परेशान करना और गेंद का रोटेशन स्पिनर के लिये अहम है । यही मेरी ताकत है और मुझे यह पसंद है ।ह्णह्ण उपकप्तान रोहित शर्मा ने कहा कि कुलदीप आत्मविश्वास से भरपूर है और टीम के लिये बड़ा मैच विनर है ।

Load More Related Articles
Load More By Aajsamaaj Network
Load More In क्रिकेट

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

EVM and VVPAT in three tier security: ईवीएम व वीवीपैट थ्री टीयर सुरक्षा में

चंडीगढ़। हरियाणा पुलिस द्वारा प्रदेश में विधानसभा चुनाव के लिए शांतिपूर्ण तरीके से संपन्न ह…