Home टॉप न्यूज़ वाराणसी फ्लाईओवर दुर्घटना में 50 लोगों के दबने और 12 की मौत की आशंका, कई गाड़ियां दबी

वाराणसी फ्लाईओवर दुर्घटना में 50 लोगों के दबने और 12 की मौत की आशंका, कई गाड़ियां दबी

वाराणसी के कैंट स्टेशन के सामने निर्माणाधीन पुल का एक हिस्सा गिर गया है. जानकारी के अनुसार दुघर्टना में 50 लोगों के दबने की आशंका है. करीब 12 लोगों के मौत की खबर है. हालांकि अभी तक मृतकों व घायलों की कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं की गई है. उधर पुल​ गिरने की घटना से इलाके में हड़कंप मच गया है. मौके पर आला अधिकारी और एनडीआरएफ की टीम पहुंच गई है. इलाके को स्थानीय पुलिस ने सुरक्षा की दृष्टि से घेर लिया है. उधर मौके स्थानीय प्रशासन को लोगों के रोष का भी सामना करना पड़ा. राहत बचाव कार्य शुरू हो गया है. उधर मौके पर मौजूद लोग भी राहत कार्य में हाथ बटा रहे हैं.

जानकारी के अनुसार कैंट इलाके में ये फ्लाईओवर मौजूद हैं, जिस पर अर्से से निर्माण कार्य चल रहा था. मंगलवार शाम अचानक इसका एक हिस्सा गिर गया. इसमें मौके पर मौजूद कई गाड़ियां दब गई. वहीं कई लोग भी दब गए. मामला सिगरा थाना क्षेत्र के लहरतारा का है. जानकारी के अनुसार ये पुल अर्से से ​बन रहा है. हाल ही में डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने यहां का दौरा किया था तो इस पुल का निर्माण पूरा करने का आदेश दिया था. लोगों ने बताया कि पुल का अधिकतर हिस्सा पूरा हो चुका है, बस आखिरी काम चल रहा था. आज अचानक एक हिस्सा नीचे आ गिरा.

मामले में डीजीपी ओपी सिंह ने बताया कि मौके पर पुलिस की टीमें भेजी गई है. मौके पर राहत बचाव कार्य के साथ ही ट्रैफिक नियंत्रण पर भी खास ध्यान रखा जा रहा है. उन्होंने कहा कि अभी कुछ लोगों के दबने की बात सामने आई है लेकिन अभी हम संख्या नहीं बता सकते हैं. हमारी कोशिश है कि सभी घायलों को वहां से जल्द से जल्द निकाला जाए. उन्होंने कहा कि स्थानीय पुलिस मौके पर तत्काल पहुंच गई थी. ये बात जरूर है कि राहत बचाव कार्य के लिए पुलिस के पास चूंकि कोई साधन नहीं था, लिहाजा कार्य थोड़ी देर में शुरू हुआ. डीजीपी ने कहा कि एनडीआरएफ एक प्रोफेशनल टीम है, वह अपना काम कर रही है.

डीएम रामेश्वर मिश्रा ने कहा रेस्क्यू वर्क चल रहा है. एनडीआरएफ के साथ ही जिला प्रशासन व पूरा अहम इसमें लगा हुआ है. उन्होंने कहा कि मेडिकल टीमें मौके पर लगी हुई है. उन्होंने कहा कि अभी राहत बचाव कार्य चल रहा है. कार्य पूरा होने के बाद जांच की जाएगी कि ये हादसा कैसे हुआ?

Load More Related Articles
Load More By आजसमाज ब्यूरो
Load More In टॉप न्यूज़

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

कभी शिकारी थे, अब वन संरक्षण में मददगार बने पारधी

भोपाल। आम लोगों में पारधी समुदाय के लोगों की छवि शिकारियों, अपराधियों की ही रही है। लेकिन …