Home राज्य Criminal case on 10% leaders: 10%नेताओं पर क्रिमनल केस

Criminal case on 10% leaders: 10%नेताओं पर क्रिमनल केस

0 second read
Comments Off on Criminal case on 10% leaders: 10%नेताओं पर क्रिमनल केस
0
47

चंडीगढ़। विधानसभा चुनाव में साफ व बढ़िया छवि के उम्मीदवार उतारने के दावे भले ही सभी राजनीतिक पार्टियां कर रही हों, लेकिन चीजें इसके उलट ही हैं। करीब 10 फीसदी उम्मीदवार दागी छवि के हैं और इन पर किसी ना किसी तरह के आपराधिक मामलों के दाग इनके दामन पर हैं। इसका खुलासा हुआ है एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफोर्म्स की रिपोर्ट में। चुनाव लड़ने वाले 1169 उम्मीदवारों में से 1139 के में से 1138 के शपथ पत्रों का विश्लेषण संस्था की रिपोर्ट में किया गया है। वहीं 31 कैंडिडेट्स के शपथ पत्रों में स्पष्ट जानकारी नहीं दी गई है जिसके चलते उनको विश्लेषण में शामिल नहीं किया गया। आपको जानकर हैरानी होगी कि हत्या के प्रयास, बलात्कार जैसे गंभीर अपराध में संलिप्त नेता भी चुनाव मैदान में हैं तो कहां सिस्टम को सुधारने की बात होगी। जब नेता ही खुद दागदार हों तो डेमोक्रेसी में पारदर्शिता की बात कैसे होगी। बीजेपी, कांग्रेस व बसपा जैसी राष्ट्रीय पार्टियां ऐसे दागी नेताओं को टिकट देने से परहेज नहीं कर रही है तो क्या उम्मीद की जाए।
1138 में से 117 पर मामले
वर्तमान राजनीतिक परिदृश्य से साफ है कि हालात वाकई गंभीर हैं अगर चुनाव लड़ रहे 10 फीसदी कैंडिडेट्स आपराधिक छवि वाले हैं। इस बार 1138 में से 117 कैंडिडेट्स के ऊपर आपराधिक मामले दर्ज हैं जो 10 फीसद से भी अधिक है तो वहीं साल 2014 में 1343 में से 94 कैंडिडेट्स के ऊपर आपराधिक मामले दर्ज थे जो कुल का करीब 7 फीसद था। ऐसे में साफ है कि मामले बढ़े हैं। वहीं 70 कैंडिडेट्स जो कि करीब 6 फीसद हैं, ने बताया कि उन पर गंभीर मामले दर्ज हैं, जबकि साल 2014 में ऐसे कैंडिडेट्स 5 फीसद थे।
279 राष्ट्रीय दलों से हैं मैदान में
रिपोर्ट में यह भी सामने आया है कि 279 उम्मीदवार ऐसे हैं जो राष्ट्रीय दलों की टिकट पर चुनाव लड़ रहे हैं तो वहीं 145 कैंडिडेट्स राज्य दलों से चुनाव लड़ रहे हैं। 369 कैंडिडेट्स गैर मान्यता प्राप्त पार्टियों व 376 निर्दलीय ही चुनाव लड़ रहे हैं। इस बार पिछली दफा की तुलना में ज्यादा राजनीतिक दल मैदान में हैं ।

भाजपा, कांग्रेस और बसपा के सबसे ज्यादा दागी कैंडिडेट्स
रिपोर्ट में सामने आया है कि कांग्रेस ने 87 में से 13 आपराधिक छवि वाले कैंडिडेट्स को टिकट दी है तो भाजपा ने 89 में से 3 ऐसे कैंडिडेट्स को टिकट दी है। बसपा ने 86 में से 12, इनेलो ने 87 में से 8 आपराधिक छवि वाले कैंडिडेट्स को मैदान में उतारा है। जजपा ने 87 में से ऐसे 10 कैंडिडेट्स को टिकट दी है।
बलात्कार व हत्या
समेत गंभीर अपराध के मामले दर्ज हैं
रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि कई कैंडिडेट्स के खिलाफ गंभीर अपराध के मामले भी दर्ज हैं। 5 कैंडिडेट्स के खिलाफ महिला अत्याचार जिनमें से 2 तो बाकायदा रेप के मामले में नामजद हैं। बीएसपी के 9, कांग्रेस के 8, जेजेपी के 6, इनेलो के 5, बीजेपी के 1 कैंडिडेट पर गंभीर अपराध के मामले दर्ज हैं। इनके अलावा कुल 5 कैंडिडेट्स पर हत्या के प्रयास(आईपीसी 307) के तहत मामले दर्ज हैं जो कि वाकई झकझोरना वाला है । 11 ऐसे उम्मीदवार हैं जिनके ऊपर दोष सिद्ध अलग-अलग मामलों में हो चुके हैं।


डॉ. रविंद्र मलिक

Load More Related Articles
Load More By Aajsamaaj Network
Load More In राज्य
Comments are closed.

Check Also

Seven killed in bomb blast in capital Kabul: राजधानी काबुल में बम विस्फोट में सात लोगों की मौत

एजेंसी,काबुल। अफगानिस्तान के काबुल में कार बम विस्फोट में बुधवार को कम से कम सात लोगों की …