Home देश Congress ” Nayay ” scheme: Surgical strikes on poverty – Rahul Gandhi: कांग्रेस की ‘न्याय’ योजना गरीबी पर सर्जिकल स्ट्राइक- राहुल गांधी

Congress ” Nayay ” scheme: Surgical strikes on poverty – Rahul Gandhi: कांग्रेस की ‘न्याय’ योजना गरीबी पर सर्जिकल स्ट्राइक- राहुल गांधी

0 second read
0
0
133

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने शनिवार को कांग्रेस पार्टी की ओर से जारी अपनी ‘न्याय’ योजना की तारीफ की। उन्होंने इस योजना को गरीबी पर सर्जिकल स्ट्राइक की तरह बताया। उन्होंने कहा कि 21वीं सदी में भारत गरीबी मिटाकर रहेगा। गांधी ने आज बिलासपुर में चुनावी रैली को संबोधित करते हुए न्यूनतम आय योजना (न्याय) के बारे कहा कि यह 21वीं सदी में भारत से गरीबी मिटाकर ही रहेगा। यह योजना हिंदुस्तान की अर्थव्यवस्था में पेट्रोल का काम करेगी जिससे अर्थव्यवस्था का इंजन एक झटके में स्टार्ट हो जाएगा।
राहुल गांधी ने कहा कि हमने किसानों से वादा किया था कि राज्य में कांग्रेस की सरकार बनने के बाद 10 दिनों के भीतर उनका कर्ज माफ कर दिया जाएगा। जहां सरकार ने उद्योगों के लिए उनकी जमीन ली है और जिन जमीनों पर उद्योग नहीं लगे हैं वह किसानों को लौटा दी जाएगी। इस घोषणा के माध्यम से हम किसानों को संदेश देना चाहते थे कि यह राज्य आपका है और इसका फायदा आपको मिलना चाहिए।
कांग्रेस ने जो कहा वह करके दिखा दिया, हमने 10 दिनों के भीतर किसानों का कर्ज माफ कर दिया और उनकी जमीन उन्हें वापस कर दी गई। यहां टाटा के लिए जमीन दी गई थी। उसे किसानों को वापस कर दिया गया। गांधी ने कहा कि दूसरी तरफ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वर्ष 2014 में आए और उन्होंने बड़े बड़े वादे किए।
उन्होंने कहा कि दो करोड़ लोगों को रोजगार देंगे, लोगों के बैंक खातों में 15 लाख रूपए आएगा। लेकिन कोई भी वादा पूरा नहीं हुआ, गरीबों का पैसा छीनकर अमीरों की जेब में डाल दिया गया। तब मैने सोचा कि क्या उनकी जेब से निकालकर यह पैसा आप की जेब में डाला जा सकता है। कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि इसके बाद मैने कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं को विश्व के बड़े अर्थशास्त्रियों से यह पूछने को कहा कि हम गरीबों के खाते में कितना पैसा डाल सकते हैं। गांधी ने कहा कि कुछ समय बाद पूर्व केंद्रीय मंत्री पी चिदंबरम ने कहा कि हम 72 हजार रूपए दे सकते हैं। जब मैने पूछा कि कितने दिनों में हम दे सकते हैं तब उन्होंने कहा कि एक साल में हम पांच करोड़ परिवारों को दे सकते हैं। उन्होंने कहा कि मैं महिलाओं को बताना चाहता हूं कि यह पैसा महिलाओं के खातों में जाएगा। नोटबंदी के दौरान सबसे ज्यादा परेशानी महिलाओं को हुई है। यह पैसा महिलाओं के अकाउंट में जाएगा तो पूरे परिवार के खाते में जाएगा। पूरे परिवार को पैसा मिलेगा। गांधी ने आरोप लगाया कि देश में पिछले 45 वर्षों में यह सबसे ज्यादा बेरोजगारी का समय है। नोटबंदी और गब्बर सिंह टैक्स (जीएसटी) के कारण लाखों लोग बेरोजगार हुए हैं। नोटबंदी के दौरान गरीबों का पैसा निकालकर बैंक में डाला गया और बैंक से निकाल कर नीरव मोदी, अनिल अंबानी और विजय माल्या जैसे लोगों को दे दिया गया। नीरव मोदी और विजय माल्या जैसे लोग पैसे लेकर फरार हो गए। इससे बेरोजगारी और गरीबी बढ़ गयी।

Load More Related Articles
Load More By Aajsamaaj Network
Load More In देश

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

CBI team reaches inside Chidambaram’s house by hanging the wall: दीवार फांदकर सीबीआई की टीम चिदंबरम के घर के अंदर पहुंची

नई दिल्ली। पूर्व वित्तमंत्री पी. चिदंबरम लगभग 27 घंटे बाद सबके सामने प्रेस कॉन्फ्रेंस में …