Home खास ख़बर BSP Supremo Mayavati vs SP’S Akilesh yadav: अब और नहीं होगा बुआ-बबुआ का साथ, मायावती ने किया किनारा

BSP Supremo Mayavati vs SP’S Akilesh yadav: अब और नहीं होगा बुआ-बबुआ का साथ, मायावती ने किया किनारा

2 second read
0
0
111

लखनऊ। लोकसभा चुनाव 2019 जीतने के लिए कई पार्टियों ने गठबंधन किया जिसमें से सपा और बसपा का गठबंधन खूब चर्चा में रहा। यह एक दूसरे से बिल्कुल विपरीत पार्टियां है। अब चुनावों के बाद बुआ को बबुआ की जरूरत नहीं महसूस हो रही है तो उन्होंने इस गठबंधन को समाप्त कर दिया है। यही नहीं गठबंधन समाप्त करने के साथ ही सपा पर बसपा सुप्रीमों ने कई आरोप भी लगाए हैं। उन्होंने गठबंधन के संदर्भ में ट्वीट कर कहा कि सपा सरकार में दलित विरोधी फैसले हुए। लोकसभा में समाजवादी पार्टी का व्यावहार अच्छा नहीं था। मायावती ने लिखा कि 2012-17 में सपा सरकार के दलित विरोधी फैसलों को दरकिनार करके देश व जनहित में सपा के साथ गठबंधन धर्म को पूरी तरह से निभाया। उन्होंने कहा कि आगे होने वाले सभी छोटे-बड़े चुनाव पार्टी अकेले अपने बूते पर ही लड़ेगी।

मायावती ने ट्वीट कर लिखा- बीएसपी की आल इंडिया बैठक कल लखनऊ में ढाई घंटे तक चली। इसके बाद राज्यवार बैठकों का दौर देर रात तक चलता रहा जिसमें भी मीडिया नहीं था। फिर भी बीएसपी प्रमुख के बारे में जो बातें मीडिया में फ्लैश हुई हैं वे पूरी तरह से सही नहीं हैं जबकि इस बारे में प्रेसनोट भी जारी किया गया था।
बसपा सुप्रीमो मायावती ने सपा से गठबंधन तोड़ने के बाद पहली बार अखिलेश यादव पर हमला बोलते हुए कहा था कि अखिलेश नहीं चाहते थे कि लोकसभा चुनाव में मुस्लिमों को अधिक टिकट दिए जाएं। उन्हें डर था कि इससे वोटों का ध्रुवीकरण होगा, जबकि वह चाहती थी कि अधिक टिकट दिए जाएं।

Load More Related Articles
Load More By Aajsamaaj Network
Load More In खास ख़बर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

The congregation should be held under the supervision of Shri Akal Takht Sahib: CM: श्री अकाल तख्त साहिब की सरपरस्ती में हो समागम : सीएम

चंडीगढ़। श्री गुरु नानक देव जी के 550वें प्रकाश पर्व के अवसर पर मुख्य समागम को मनाने के लिए…