Home राजनीति Azam Khan to celebrate black day on June 21: आजम खान 21 जून को मनाएंगे काला दिवस

Azam Khan to celebrate black day on June 21: आजम खान 21 जून को मनाएंगे काला दिवस

0 second read
0
0
59

 जब राष्ट्रपति संसद भवन में सांसदों को संबोधित कर रहे होंगे तब मैं यहां रामपुर में समाजवादियों के साथ मिलकर काला दिवस मनाऊंगा। वार्डसेव पर समाजवादी पार्टी के कद्दावर नेता और रामपुर नवनिर्वाचित सांसद आजम खान ने अपनी पार्टी कार्यालय से एक बड़ी घोषणा की है। उन्होंने कहा है कि मैं आगामी 21 जून को जब देश के राष्ट्रपति संसद भवन में संसद को संबोधित कर रहे होंगे तब मैं रामपुर में अपने समर्थकों के साथ अपने हाथ की बाहों में काली पट्टी बांधकर काला दिवस मनाऊंगा। आजम खान कह रहे हैं कि सरकार और सरकार का प्रशासन मेरे पर नाजायज दबाव बनाकर हमलावर है।आतंकियों की तरह मेरे पर हमला कर रहे हैं उन्होंने अपने जिले के सीओ सिटी समेत कई अफसरों पर भी गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि कई ऐसे अफसर हैं जो मेरी हत्या कराना चाहते हैं रामपुर को खून में नहाना चाहते हैं लेकिन मैं रामपुर को खून में नहाने नहीं दूंगा उसके लिए चाहे मुझे किसी भी हद तक आगे जाना पड़े क्योंकि एक लोकतांत्रिक देश है भारत और लोकतांत्रिक देश होने के नाते में यह का भारतीय नागरिक हूं इसीलिए में लोकतांत्रिक तरीके से उस दिन को काला दिवस के रूप में मनाऊंगा लूंगा
आजम खान बीती रात किले के मैदान में एक विशाल जनसभा को संबोधित कर रहे थे आजम खान का कहना है कि चुनाव जीतने के बाद पहली बार रामपुर की जनता से मुखातिब था 1 मिनट भी मैंने भाषण 10:00 बजे से आगे नहीं बोला फिर नही सीओ सिटी और कई पुलिसकर्मियों ने जाकर मुझे एक सांसद को बोलने से रोका। सीओ बोले आप भाषण बंद करिए एक सांसद पर खाकी वर्दी वाले कैसे रौब जमा कर यह भाषा बोल रहे हैं कि आप अपना भाषण बंद करिए यह क्या है यह लोकतंत्र की हत्या करना जैसा ही है हमें जनता ने चुना है और जनता के बीच में है जब हम उनसे बात कर रहे हैं तो हमें इस तरह से रोका जाएगा।

Load More Related Articles
Load More By Aajsamaaj Network
Load More In राजनीति

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

The disclosure of Lavasa’s disagreeable comment can endanger anyone’s life: Election Commission: लवासा की असहमति वाली टिप्पणी का खुलासा करने से किसी की जान खतरे में पड़ सकती है: चुनाव आयोग

नई दिल्ली। निर्वाचन आयोग (ईसी) ने आरटीआई अधिनियम के तहत चुनाव आयुक्त अशोक लवासा की असहमति …