Gold and silver fast in the bull market: सरार्फा बाजार में सोने और चांदी तेज

बुधवार को दिल्ली सरार्फा बाजार में सोना 90 रुपये की तेजी के साथ 33,070 रुपये प्रति दस ग्राम पर पहुंच गया। अखिल भारतीय सरार्फा संघ से मिली जानकारी के अनुसार औद्योगिक इकाइयों तथा सिक्का विनिमार्ताओं का उठाव बढ़ने से दिल्ली में चांदी भी 715 रुपये की तेजी के साथ 38,725 रुपये प्रति किलोग्राम तक पहुंच गयी। बाजार सूत्रों ने कहा कि विदेशों में सोने के 1,300 डॉलर के ऊपर चले जाने से घरेलू बाजार में भी पीली धातु के प्रति धारणा मजबूती की बनी हुई है। न्यूयॉर्क में सोने का भाव चढ़ कर 1,305 डॉलर प्रति औंस हो गया जबकि चांदी 15.31 डॉलर प्रति औंस के पिछले बंद भाव पर स्थिर रही। मंगलवार को सोने में 235 रुपये की गिरावट आई थी। दिल्ली सरार्फा बाजार में सोना 99.9 प्रतिशत और 99.5 प्रतिशत शुद्धता 90-90 रुपये की तेजी के साथ क्रमश: 33,070 रुपये और 32,900 रुपये प्रति दस ग्राम हो गया। आठ ग्राम की गिन्नी 26,400 रुपये प्रति इकाई पर पूर्ववत कायम रही। चांदी हाजिर 715 रुपये की तेजी के साथ 38,725 रुपये प्रति किलोग्राम जबकि चांदी साप्ताहिक डिलिवरी 87 रुपये की हानि के साथ 37,743 रुपये प्रति किलोग्राम पर आ गयी। चांदी सिक्कों की भी अच्छी मांग के समर्थन से 1,000 रुपये की तेजी के साथ लिवाल 80,000 रुपये और बिकवाल 81,000 रुपये प्रति सैकड़ा पर बंद हुआ।

JET AIRWAYS: जेट का विमान एम्सटर्ड में जब्त

जेट एयरवेज की मुसीबतों में कमी नहीं आ रही है। यूरोप की एक कार्गो सेवा प्रदाता ने बकाये का भुगतान नहीं होने की वजह से कंपनी के बोइंग विमान को एम्सटर्डम हवाई अड्डे पर जब्त कर लिया। एयरलाइन के एक सूत्र ने कहा कि इस विमान के जरिये बृहस्पतिवार से मुंबई से एम्सटर्डम के लिए उड़ान (9 डब्ल्यू 321) सेवा का परिचालन किया जाना था। एयरलाइन के एक सूत्र ने बुधवार को पीटीआई-भाषा से कहा, ”कार्गो एजेंट ने एयरलाइन की ओर से बकाये का भुगतान नहीं होने की वजह से जेट एयरवेज का बोइंग 777-300 ईआर (वीटी-जेईडब्ल्यू) अपने कब्जे में ले लिया। पट्टे पर विमान देने वाली कंपनियों के बकाये का भुगतान नहीं होने की वजह से जेट एयरवेज अपने बेड़े के 75 प्रतिशत से अधिक विमानों को खड़ा कर चुकी है। अब एयरलाइन सिर्फ 25 विमानों के जरिये परिचालन कर रही है, जबकि पहले वह 123 विमानों के साथ परिचालन कर रही थी।
नकदी संकट की वजह से एयरलाइन अपने 16,000 से अधिक कर्मचारियों के आंशिक वेतन का ही भुगतान कर पा रही है। कंपनी के पायलटों के एक वर्ग ने मंगलवार को कंपनी प्रबंधन को कानूनी नोटिस भेजा है। फिलहाल कंपनी का प्रबंधन भारतीय स्टेट बैंक की अगुवाई वाला बैंकों का गठजोड़ कर रहा है।

Dhoni sleeps on the ground at airport: एयरपोर्ट पर जमीन पर सो गए धोनी

नई दिल्ली। आईपीएल (आईपीएल 2019) में चेन्नई सुपर किंग्स टॉप पोजीशन पर आ चुकी है। उसने पिछले मुकाबले में कोलकाता नाइट राइडर्स को हराकर ये पोजीशन हासिल की। इससे पहले कोलकाता नाइट राइडर्स पहले स्थान पर थी। एमएस धोनी की कप्तानी में इस साल भी चेन्नई सुपर किंग्स शानदार प्रदर्शन कर रही है। धोनी मैच के बाद इतना थक गए थे कि उनकी नींद पूरी नहीं हो पाई। ऐसे में वो एयरपोर्ट पर ही जमीन पर सो गए। जिसकी तस्वीर उन्होंने खुद इंस्टाग्राम पर शेयर की है। तस्वीर शेयर करते हुए लिखा कि आईपीएल टाइमिंग के आदी होने के बाद अगर सुबह की उड़ान हो तो यही होता है।
यूजर्स को भाई पोस्ट
लोग उनकी तस्वीर को काफी पसंद कर रहे हैं। गौरतलब है कि धोनी सोशल मीडिया पर बहुत कम एक्टिव रहते हैं। इससे पहले उन्होंने 24 मार्च को पोस्ट किया था। जिसमें वो जीवा के साथ मस्ती करते दिखे थे। 17 दिन बाद उन्होंने ये तस्वीर शेयर की। एक यूजर ने लिखा : ‘शांत रहो… भगवान सो रहे हैं…’
मंगलवार के मैच की बात करें तो, कोलकाता की टीम 20 ओवरों में नौ विकेट के नुकसान पर 108 रन ही बना सकी और इसमें अकेले आंद्रे रसेल का योगदान नाबाद 50 रनों का रहा। इस लक्ष्य को चेन्नई ने 17.2 ओवरों में तीन विकेट खोकर हासिल कर लिया। आंद्रे रसेल ने एक बार फिर शानदार पारी खेली, लेकिन वो भी कोलकाता को सम्मानजनक तो दूर, कोई कायदे का स्कोर भी नहीं दिला सकी। इस स्कोर को हासिल करने में मौजूदा विजेता को ज्यादा परेशानी नहीं हुई। इस जीत से चेन्नई एक बार फिर अंकतालिका में पहले स्थान पर आ गई है। उसके अब 10 अंक हो गए हैं। मेजबान टीम के लिए फाफ डु प्लेसिस ने नाबाद 43 रन बनाए, जिसके लिए उन्होंने 45 गेंदों का सामना किया और तीन चौके मारे। केदार जाधव आठ रन बनाकर नाबाद रहे। चेन्नई को जीत के लिए जब चार रन चाहिए थे, तब सुनील नरेन ने वाइड गेंद फेंक दी, जो चौके के लिए चली गई और चेन्नई की जीत की औपचारिकता पूरी हो गई।

Rohit Sharma injured during IPL: आईपीएल के दौरान घायल हुए रोहित शर्मा

नई दिल्ली। विश्व कप 2019 से ठीक पहले टीम इंडिया के लिए बुरी खबर है। 15 अप्रैल को टीम का ऐलान करने वाली है और ठीक घोषणा से पहले ओपनर बल्लेबाज रोहित शर्मा घायल हो गए हैं। वह मैदान पर अपना पैर पकड़कर सहारा लेकर चलते हुए दिखाई दिए। सूत्रों के मुताबिक, वानखेड़े में प्रैक्टिस सेशन के दौरान रोहित शर्मा रनिंग करते हुए अचानक अपना पांव पकड़कर खड़े दिखाई दिए। कुछ कदम चलने के बाद वह जमीन पर लेट गए। मुंबई के फिजियो नितिन पटेल रोहित की मदद करने के लिए फौरन मैदान पर पहुंचे। मैदान पर थोड़ा उपचार देने के बाद वह वह उन्हें ग्राउंड से बाहर ले आए। रोहित शर्मा ड्रेसिंग रूम तक बिना सहारे के चलकर गए। हालांकि अब तक रोहित शर्मा की चोट पर टीम ने कोई बयान जारी नहीं किया है। इससे पहले मुंबई इंडियंस और भारतीय टीम के अहम गेंदबाज जसप्रीत बुमराह भी चोटिल हो गए थे। वर्ल्ड कप को देखते हुए इस बारे में भारतीय टीम के फिजियो पैट्रिक क बता दिया गया था जिसके बाद उनका उपचार हुआ और वह फिट होकर मैदान पर लौटे।

Congress supremo Sonia Gandhi will file nomination tomorrow by Rae Bareli: कांग्रेस सुप्रीमो सोनिया गांधी कल रायबरेली से करेंगी नामांकन

रायबरेली: कांग्रेस का गढ़ मानी जानी वाली लोकसभा सीट रायबरेली पर एक बार फिर देश की नजरे टिक गई हैं। कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी कल (गुरुवार) अपने चुनावी अभियान की शुरुआत के पूजा-अर्चना के साथ करेंगी।
कांग्रेस की पूर्व राष्टÑीय अध्यक्ष और रायबरेली की सांसद सोनिया गांधी सांसद पद के लिए अपना पांचवी बार नामांकन करेंगी। सोनिया गांधी पहले भगवान श्रीगणेश का आशीर्वाद लेंगी। इसके बाद नामांकन करने कलेक्ट्रेट पहुंचेंगी। उनके साथ उनके पुत्र व कांग्रेस के अध्यक्ष राहुल गांधी और कांग्रेस की महासचिव यानि उनकी पुत्री प्रियंका गांधी साथ रहेगीं।

सोनिया गांधी के नामांकन से पहले हवन पूजन करवाने वाले पंडित राधे श्याम दीक्षित का कहना है कि वह बीते चार बार से लगातार सोनिया गांधी का हवन पूजन करने के बाद अपना नामांकन करती हैं और कल पांचवी बार हवन पूजन करने के बाद एक बार फिर अपना नामांकन करने जाएगीं।
विरोधियो द्वारा गांधी परिवार पर हिन्दू धर्म पर निशाना साधने वाले पर पंडित जी का कहना है की सोनिया गांधी पूरे विधि विधान से पूजा करती हैं। विरोधियो का काम है निशाना साधना।

रायबरेली में सोनिया गांधी का कार्यक्रम

सुबह 11:30 भुएमऊ गेस्ट हाउस से प्रस्थान
11:45 हवन पूजन केंद्रीय कांग्रेस कार्यालय
12:45 रोड शो
2:00 बजे नामांकन
2:30 मौलाना अली मियां
3:00 भएमऊ में कांग्रेस वर्कर्स के साथ मीटिंग
4:00 दिल्ली के लिए प्रस्थान

Naxalites attack in Maharashtra: महाराष्ट्र में नक्सलियों का हमला, एक जवान घायल

नक्सलियों ने असम में हमला कर बीजेपी नेता की हत्या कर दी थी और आज महाराष्ट्र के गढ़चिरौली जिले में नक्सलियों का घात लगाकर हमला हुआ। यह आईईडी विस्फोट रहा। पुलिस के मुताबिक नक्सलियों द्वारा किये गये आईईडी विस्फोट में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल का एक जवान घायल हो गया। घायल जवान की हालत गंभी र बताई जा रही है। जवान का पास के एक अस्पताल मे इलाज हो रहा है। यह विस्फोट बुधवार शाम को गढ़चिरौली जिले के गट्टा-एटापल्ली इलाके में हुआ है, जहां 191 वीं बटालियन के जवान गश्त पर थे। बता दें कि के सीआरपीएफ के जवान चुनाव से पहले इलाके को सुरक्षित करने के लिए निकले थे। यहां 11 अप्रैल को लोकसभा चुनाव के पहले चरण के लिए मतदान किया जाएगा।

BJL MLA Jagan Prasad Garg died : अस्पताल में भर्ती आगरा से बीजेपी विधायक जगन प्रसाद गर्ग का निधन

आगरा। आगरा से बीजेपी विधायक जगन प्रसाद गर्ग का बुधवार को निधन हो गया। मिली जानकारी के मुताबिक वह अस्पताल में भर्ती थे। जगन प्रसाद गर्ग उत्तर विधानसभा सीट से पांचवीं बार विधायक चुने गए थे।
तबीयत खराब होने की वजह से उन्हें आज (बुधवार) सुबह एक अस्पताल में भर्ती कराया गया था। जहां पर वह जिंदगी की जंग हार गए। जगन प्रसाद गर्ग मुखर बयानों के चलते सुखिर्यों में रहते थे। नरेन्द्र मोदी सरकार के नोटबंदी वाले फैसले पर उन्होंने खुलकर बोला था। जगन प्रसाद गर्ग ने आगरा कॉलेज से स्नातक की शिक्षा प्राप्त की थी। साल 1998 में उन्होंने विधानसभा का उपचुनाव जीता था। इसके बाद वे उत्तर विधानसभा सीट से लगातार चुनाव जीतते रहे। उत्तर विधानसभा सीट पर वे खासे चर्चित विधायक थे।

I thank the Supreme Court- Rahul Gandhi: सुप्रीम कोर्ट का धन्यवाद करता हूं-राहुल गांधी

वुधवार को राहुल गांधी ने कांग्रेस की पारंपरिक सीट अमेठी से अपना नामांकन भरा। अपने नामांकन पत्र भरने के बाद वह पत्रकारों से मिले और कहा कि मैं सुप्रीम कोर्ट का धन्यवाद कहा। राहुल गांधी ने अमेठी में कहा कि प्रधानमंत्री दावा कर रहे थे कि राफेल सौदे में सुप्रीम कोर्ट ने उन्हें क्लीन चिट दे दी है। लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने राफेल मामले में भ्रष्टाचार माना है। उन्होंने आगे कहा कि मैं सुप्रीम कोर्ट का धन्यवाद करता हूं। कोर्ट ने आज इंसाफ किया है। इससे पहले बुधवार सुबह सुप्रीम कोर्ट ने राफेल मामले पर सुनवाई करते हुए केंद्र सरकार द्वारा दर्ज की गई प्रारंभिक आपत्तियों को सर्वसम्मति से खारिज कर दिया। इसके साथ ही राफेल मामले में पुनर्विचार याचिका पर अब योग्यता के आधार पर सुनवाई होगी और अदालत इससे संबंधित प्रकाशित दस्तावेजों को देखेगी। कोर्ट ने केंद्र सरकार की उन प्राथमिक आपत्तियों को खारिज कर दिया जिसमें उसने उन दस्तावेजों पर विशेषाधिकार का दावा किया था जो याचिकाकतार्ओं ने अदालत के दिसंबर 2018 के निर्णय पर पुनर्विचार करने की मांग के साथ पेश किए गए थे।

Rahul Gandhi has done contempt of court-defense minister: राहुल गांधी ने कोर्ट की अवमानना की-रक्षा मंत्री

सुप्रीम कोर्ट ने आज राफेल पर पुनर्विचार याचिका स्वीकार कर ली जिस पर कांग्रेस ने सरकार को भष्ट बतान शुरु किया और चोरी का आरोप लगाया। इसके ठीक बाद भाजपा ने इस पर पलटवार किया। पलटवार के लिए स् वयं रक्षा मंत्री सामने आर्इं। रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने प्रेसवार्ता कर कहा कि राहुल गांधी ने कोर्ट की अवमानना की है। बिना सबूत के आरोप लगाना राहुल गांधी की आदत है। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी वही बोलते हैं जो उन्हें बताया जाता है। राफेल मामले में याचिकाकर्ताओं द्वारा प्रस्तुत किए गए दस्तावेजों को लेकर उन्होंने कहा कि याचिकाकर्ताओं ने आधे-अधूरे दस्तावेज पेश किए हैं। जो जमानत पर हैं वो देश को गुमराह कर रहे हैं। उन्होंने कहा, ‘हम सब जानते हैं कि कांग्रेस अध्यक्ष ने दस्तावेजों का आधा पैराग्राफ भी नहीं पढ़ा होगा। सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद राहुल गांधी ने कहा कि अदालत ने भी यह मान लिया है कि चौकीदार ने चोरी कराई। जबकि कोर्ट ने ऐसा कुछ भी नहीं कहा। यह अदालत की अवमानना है।’

After PM Modi’s biopic, now ban on NaMo TV: पीएम मोदी की बायोपिक के बाद अब नमो टीवी पर भी रोक

चुनाव आयोग ने बुधवार को पीएम मोदी की बायोपिक पर रोक लगाने के बाद अब नमो टीवी पर भी रोक लगा दी है। बुधवार को चुनाव आयोग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बायोपिक ‘पीएम नरेन्द्र मोदी के मामले में जारी आदेश का हवाला देते हुये बताया कि चुनाव आचार संहिता लागू रहने के दौरान नमो टीवी के प्रसारण पर रोक रहेगी। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि आदेश में स्पष्ट है कि ‘पहले से प्रमाणित किसी भी प्रचार सामग्री से जुड़े पोस्टर या प्रचार का कोई भी माध्यम, जो किसी उम्मीदवार के बारे में चुनावी आयामों का प्रत्यक्ष या परोक्ष रूप से चित्रण करता हो, चुनाव आचार संहिता के दौरान इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में इस्तेमाल नहीं किया जा सकेगा। उल्लेखीय है कि आयोग ने मोदी की बायोपिक के प्रदर्शन को यह कहते हुये रोक दिया कि किसी भी राजनीतिक दल या राजनेता के चुनावी हितों को साधने के मकसद को पूरा करने वाली किसी फिल्म को इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में प्रदर्शित नहीं किया जा सकता है।

Politicians do not work after watching clock- Sumitra Mahajan: राजनेता घड़ी देखकर काम नहीं करते-सुमित्रा महाजन

भारतीय जनता पार्टी ने इस वर्ष 75 वर्ष पार कर चुके सभी नेताओं का टिकट काट दिया है। जिसमें भाजपा के दिग्गज नेता लाल कृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोश सरीखे नेता शामिल हैं। हालांकि सुमित्रा महाजन ने स्वयं ही पांच दिनों पहले कह दिया था कि वह चुनाव नहीं लड़ेंगी। लेकिन आज उन्होंने कहा कि राजनीतिक क्षेत्र की उस सरकारी नौकरी से कतई तुलना नहीं की जा सकती जिसमें निश्चित उम्र पूरी करने पर हर कर्मचारी को रिटायर होना ही पड़ता है। ‘ताई’ के नाम से मशहूर भाजपा की वरिष्ठ ने पीटीआई-भाषा को दिये साक्षात्कार में कहा, “राजनीति से सरकारी नौकरी की बिल्कुल भी तुलना नहीं की जा सकती। सरकारी नौकरी में सेवानिवृत्ति की उम्र पहले से तय होती है। लेकिन राजनीति में ऐसा नहीं हो सकता क्योंकि आम जनता के दु:ख-सुख से सीधे जुड़े राजनेता न तो घड़ी देखकर काम करते हैं, न ही वे बंधा-बंधाया जीवन जीते हैं।” उन्होंने याद दिलाया, “मोरारजी देसाई अपनी उम्र के 81वें साल में देश के प्रधानमंत्री बने थे। इंदौर से वर्ष 1989 से लगातार आठ बार चुनाव जीतने वाली महाजन को मध्यप्रदेश की इस सीट से भाजपा के टिकट का शीर्ष दावेदार माना जा रहा था। इस बीच, भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने “द वीक” पत्रिका को दिये साक्षात्कार में कहा कि यह उनकी पार्टी का फैसला है कि 75 साल से ज्यादा उम्र के नेताओं को लोकसभा चुनावों का टिकट नहीं दिया जायेगा। शाह ने इस साक्षात्कार में हालांकि महाजन का नाम नहीं लिया था। लेकिन 12 अप्रैल को 76 वर्ष की होने जा रहीं महाजन ने पांच अप्रैल को खुद घोषणा कर दी थी कि वह आसन्न लोकसभा चुनाव नहीं लड़ेंगी।
शाह के इस बयान के बारे में पूछे जाने पर महाजन ने कहा, “लोकसभा अध्यक्ष के पद पर आसीन होने की मयार्दा के कारण मैं पिछले पांच साल के दौरान केंद्रीय भाजपा संगठन की बैठकों में शामिल नहीं हुई हूं। फिलहाल मुझे इसकी प्रामाणिक जानकारी नहीं है कि उम्रसीमा की नीति पार्टी की किस बैठक में तय की गयी है? इस बारे में खुद शाह ही कुछ कह सकते हैं।” भाजपा की वरिष्ठम नेताओं में शुमार महाजन ने हालांकि कहा, “अगर उम्र को लेकर भाजपा संगठन में वाकई कोई नीति तय की गयी है, तो सभी पार्टी कार्यकतार्ओं को इसका पालन करना ही है।”
महाजन ने एक सवाल पर कहा, “अभी मेरी इतनी उम्र भी नहीं हुई है कि मुझे राजनीति से संन्यास लेना पड़े। मैं भाजपा के लिये आज भी काम कर रही हूं और आगे भी करती रहूंगी।” उन्होंने विपक्षी दलों के “महागठबंधन” पर निशाना साधते हुए कहा, “केंद्र में सरकार बनाने के लिये किसी भी सियासी खेमे के पास कम से कम 272 लोकसभा सीटें होनी चाहिये।

UK Prime Minister regret at Jallianwala Bagh massacre: ब्रिटेन की प्रधानमंत्री ने जलियांवाला बाग हत्याकांड पर अफसोस जताया

भारत में ब्रिटेन के राज के समय जलियांवाला बाग में सैकड़ों निहत्थे लोगों पर गोलियां चलवा दी गर्इं थी। आज ब्रिटेन की प्रधानमंत्री टेरीजा मे ने ब्रिटिश संसद में जलियांवाला बाग हत्याकांड पर अफसोस जताया। टेरीजा मे ने कहा, ‘जो भी हुआ था और उससे लोगों को जो पीड़ा हुई उसका हमें बेहद अफसोस है।’ टेरीजा ने इस घटना को ब्रिटिश-भारतीय इतिहास में शर्मनाक दाग बताया। बता दें कि 13 अप्रैल 1919 को अमृतसर के जालियांवाला बाग में हुए इस नरसंहार में सैकड़ों लोगों की मौत हो गई थी। इस घटना को सौ साल पूरे होने वाले हैं। इससे पहले मंगलवार को इस घटना को लेकर ब्रिटेन सरकार द्वारा माफी मांगने के प्रस्ताव रखा गया था, जिसपर वहां बहस हुई। लगभग सभी सांसदों ने इस प्रस्ताव का समर्थन किया था। हालांकि, ब्रिटिश सरकार के एशिया-प्रशांत क्षेत्र मामलों के मंत्री मार्क फील्ड ने इस घटना को लेकर संसद में संवेदना तो जताई थी, लेकिन माफी मांगने से इनकार कर दिया था।

US Secretary of State Pompeo told Kim “dictator”: अमेरिकी विदेश मंत्री पोम्पिओ ने किम को कहा ‘तानाशाह’

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड भले ही कहते हों कि उन्हें उत्तर कोरियाई नेता किम जोंग-उन से प्यार है लेकिन उनके विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ किम को ‘तानाशाह’ मानते हैं। उत्तर कोरिया के साथ बातचीत सफल करने के उद्देश्य से पोम्पिओ पिछले साल चार बार प्योंगयांग गए थे। गौरतलब है कि सीनेट की उपसमिति के समक्ष पेश हुए पोम्पिओ को उत्तर कोरिया को लेकर कई कड़े सवालों का जवाब देना पड़ा। डेमोक्रेटिक सीनेटर पैट्रिक लीह ने वेनेजुएला के वामपंथी राष्ट्रपति निकोलस मादुरो को “तानाशाह” कहने के लिए पोम्पेओ की निंदा की और पूछा कि क्या वह किम के लिए इसी तरह की भाषा का उपयोग करेंगे। पोम्पिओ ने इसके जवाब में कहा कहा, ”जी हां, मुझे यकीन है मैं पहले ही यह कह चुका हूं।”
वहीं दूसरी ओर उत्तर कोरिया के शासक किम जोंग उन ने बुधवार को सत्तारूढ़ वर्कर्स पार्टी की एक शीर्ष समिति की बैठक बुलाई है। इस बैठक में ‘मौजूदा’ तनावपूर्ण स्थिति पर चर्चा होगी। सरकारी मीडिया ने अपनी रिपोर्ट में यह जानकारी दी है। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के साथ किम की फरवरी में हनोई में हुई शिखर वार्ता विफल रहने के बाद केंद्रीय समिति की यह बैठक हो रही है। फरवरी में हुई इस बैठक में दोनों नेताओं के बीच सहमति नहीं बन पाई थी।

Live telecast on TV of A search of the two and a half thousand years old Mummy: मिस्त्र की ढाई हजार साल पुरानी ममी की खोज का टीवी पर सीधा प्रसारण

मिस्र की एक ममी की खोज को लाइव प्रसारित किया गया। डिस्कवरी चैनल ने मिस्त्र की राजधानी कायरो से 165 मील दूर अल घोरिफा में एक क्रबिस्तान से ढाई हजार साल पुरानी ममी की खोज का लाइव प्रसारण किया। इस ममी के साथ और कई पौराणिक वस्तुएं मिली हैं। इस साइट को खोजने वाले अन्वेषण जॉस गेट्स और प्रसिद्ध पुरातत्वविद् जाहि हवास ने इस क्रबिस्तान की खोज का लाइव प्रसारण डिस्कवरी चैनल में किया। इस प्रोग्राम का नाम ह्यएक्सपीडिशन अननोन : इजिप्ट लाइवह्ण था। सोने में लिपटी ममी : इस प्रसारण में एक पत्थर के ताबूत को खोलते हुए दिखाया गया है। इस ताबूत में सोने की पट्टियों में लिपटी ममी पाई गई है। पुरातत्वविद् का मानना है कि यह ममी किसी उच्च कोटि के पुजारी की है। यह ममी ऊपर से लेकर नीचे तक सोने की पट्िटयों में लिपटी हुई पाई गई है।इसके अलावा ताबूत में कई अन्य पौराणिक वस्तुएं भी पाई गई हैं। इसके साथ दो और ममी मिली हैं। यह ममी 2500 साल पुराने एक पारिवारिक मकबरे में मिली हंै, जिसे एक परिवार का आखिरी आरामगाह बताया जा रहा है। इस मकबरे में कई पौराणिक मिस्र की वस्तुएं जैसे बोर्ड गेम, कुत्तों की हड्डियां और चार कांच की बोतलें पाई गई हैं। इन बोतलों में ममी के अंग संभाल कर रखे गए हैं। दूसरी और तीसरी ममी के ताबूतों में लिखी जानकारी के अनुसार यह ममी मिस्र के पौराणिक भगवान के मंदिर में गायक की थी। इस खुदाई के दौरान मिस्र के एक और पुजारी का सिर भी मिला जिसे संरक्षित करके रखा गया था। गेट्स ने प्रसारण में कहा, इतनी पुरानी ममी बहुत कम ही मिली हैं। यह हमारे लिए उपलब्धि है कि हम दर्शकों तक रीयल टाइम में ममी की खोज दिखा पाए।

Kim Jong called for high level meeting: किम जोंग ने बुलाई हाई लेवल मीटिंग

उत्तर कोरिया के शासक किम जोंग उन की अमेरिकी राष्टÑपति ट्रंप से मुलाकात बेनतीजा ही खत्म हो गई थी। उस मुलाकात के एकदम से खत्म हो जाने के कई मायने निकाले जा रहे थे। अब किम ने बुधवार को सत्तारूढ़ वर्कर्स पार्टी की एक शीर्ष समिति की बैठक बुलाई है। इस बैठक में ‘मौजूदा’ तनावपूर्ण स्थिति पर चर्चा होगी। सरकारी मीडिया ने अपनी रिपोर्ट में यह जानकारी दी है। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के साथ किम की फरवरी में हनोई में हुई शिखर वार्ता विफल रहने के बाद केंद्रीय समिति की यह बैठक हो रही है। फरवरी में हुई इस बैठक में दोनों नेताओं के बीच सहमति नहीं बन पाई थी। वहीं दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति मून जेइ-इन अमेरिकी नेता से वार्ता करने के लिए वॉशिंगटन गए हैं। हालांकि उत्तर कोरिया की सरकारी समाचार एजेंसी कोरियन सेंट्रल न्यूज एजेंसी (केसीएनए) की खबर से यह प्रतीत हो रहा है कि किम प्योगयांग की आर्थिक स्थिति में सुधार के रास्ते पर अपना ध्यान केंद्रित कर सकते हैं। केसीएनए ने अपनी खबर में कहा है कि मंगलवार को वरिष्ठ अधिकारियों के साथ हुई एक बैठक में किम ने उन्हें मौजूदा तनावपूर्ण स्थिति में पार्टी की नई सामरिक रेखा का पालन करने के लिए कहा है। ट्रंप और किम के बीच गत जून में सिंगापुर में पहली ऐतिहासिक बैठक हुई थी। केसीएनए की रिपोर्ट के अनुसार किम ने ”पार्टी” और देश में लंबित मामलों के तत्काल समाधान के लिए गहन विश्लेषण किया। बुधवार की बैठक में केन्द्रीय समिति मौजूदा स्थिति की जरूरत के अनुरूप नई नीति और संघर्ष के तरीकों पर निर्णय लेगी।

Hesitant to apologize for the things gone by-Mark field: बीत चुकी बातों पर माफी मांगने में हिचकिचाहट-मार्क फील्ड

ऐसी मांग उठी थी कि जलियांवाला बाग नरसंहार कांड की बरसी के मौके पर ब्रिटेन की सरकार औपचारिक माफी मांगे। लेकिन ब्रिटिश सरकार ने कहा है कि वह इसपर विचार करने के लिए वित्तीय मुश्किलों पर भी ध्यान देगी। हाउस आॅफ कॉमंस परिसर के वेस्टमिंस्टर हॉल में आयोजित बहस के दौरान ब्रिटिश विदेश मंत्री मार्क फील्ड ने कहा कि हमें उन बातों की एक सीमा रेखा खींचनी होगी जो इतिहास का ‘शर्मनाक हिस्सा’ हैं। बता दें कि ब्रिटिश शासन के दौरान हुए जलियावाला बाग हत्याकांड के शताब्दी वर्ष के सिलसिले में 19 फरवरी, 2019 को हाउस आॅफ लॉर्ड्स (ब्रिटिश संसद) में हुई बहस के दौरान एक मंत्री ने सदन से कहा था कि ब्रिटिश सरकार औपचारिक माफी की मांग पर विचार कर रही है। इस पर कहा गया कि ब्रिटिश राज से संबंधित समस्याओं के लिए बार-बार माफी मांगने से अपनी तरह की दिक्कतें सामने आती हैं। फील्ड ने कहा कि वह ब्रिटेन के औपनिवेशिक काल को लेकर थोड़े पुरातनपंथी हैं और उन्हें बीत चुकी बातों पर माफी मांगने को लेकर हिचकिचाहट होती है। उन्होंने कहा कि किसी भी सरकार के लिए यह चिंता की बात हो सकती है कि वह माफी मांगे। इसकी वजह यह भी हो सकती माफी मांगने में वित्तीय मुश्किलें हो सकती हैं।

फील्ड ने कहा कि अगर हम माफी मांगते हैं तो कई घटनाओं के लिए मांगनी होगी। इससे मुद्रा भी गिर सकती है। 13 अप्रैल को इस घटना को 100 साल पूरे होंगे। इस दिन ब्रिटिश सरकार की ओर से औपचारिक माफी मांगे जाने की बात की गई थी। अमृतसर के जलियांवाला बाग में 13 अप्रैल, 1919 को महात्मा गांधी की तरफ से देश में चल रहे असहयोग आंदोलन के समर्थन में हजारों लोग एकत्र हुए थे। जनरल डायर ने इस बाग के मुख्य द्वार को अपने सैनिकों और हथियारंबद वाहनों से रोककर निहत्थी भीड़ पर बिना किसी चेतावनी के 10 मिनट तक गोलियों की बरसात कराई थी। इस घटना में तकरीबन 1000 लोगों की मौत हो गई थी, जबकि 1500 से ज्यादा घायल हुए थे। लेकिन ब्रिटिश सरकार मरने वाले लोगों की संख्या 379 और घायल लोगों की संख्या 1200 बताती है। हाउस आॅफ लॉर्ड्स के निचले सदन में ‘अमृतसर नरसंहार: शताब्दी’ के नाम से चल रही चर्चा के दौरान ब्रिटिश मंत्री एनाबेल गोल्डी ने यह भी कहा था कि सरकार ने इस दुर्भाग्यपूर्ण घटना के 100 साल पूरे होने के मौके को यथोचित व सम्मानित तरीके से याद किए जाने की योजना बनाई है। कंजर्वेटिव पार्टी के सांसद बॉब ब्लैकमैन द्वारा इसपर बहस कराई गई थी।

PM apologizes to the country for lying-Mayawati: झूठ बोलने के लिए देश से माफी मांगे पीएम-मायावती

राफेल डील मामले में पुनर्विचार याचिका को स्वीकार कर लिया है। इसे केंद्र की मोदी सरकार के लिए बड़ा झटका माना जा रहा है। सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार की उस आपत्ति को खारिज कर दिया है, जिसमें गोपनीय दस्तावेजों के आधार पर पुनर्विचार खारिज करने की मांग की गई थी। कोर्ट के आदेश के बसपा सुप्रीमो मायावती ने ट्वीट कर कहा कि संसद के भीतर व बाहर बार-बार झूठ बोलकर देश को गुमराह करने के लिए पीएम मोदी माफी मांगे व रक्षा मंत्री इस्तीफा दें। मायावती ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले के तुरंत बाद अपने ट्विटर अकाउंट पर एक ट्वीट किया, उन्होंने लिखा, राष्ट्रीय सुरक्षा की आड़ में राफेल रक्षा सौदे में भारी गड़बड़ी/भ्रष्टाचार को छिपाने की पीएम मोदी सरकार की कोशिश विफल। सुप्रीम कोर्ट में बीजेपी सरकार पूरी तरह घिरी है। संसद के भीतर व बाहर बार-बार झूठ बोलकर देश को गुमराह करने के लिए पीएम मोदी माफी मांगे व रक्षा मंत्री इस्तीफा दें।
14 मार्च को सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार की शुरूआती आपत्तियों (गोपनीयता, विशेषाधिकार, राष्ट्रीय सुरक्षा) पर आदेश सुरक्षित रख लिया था। इससे पहले केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में नया हलफनामा दाखिल कर कहा था कि केंद्र सरकार की बिना मंजूरी के संवेदनशील दस्तावेजों की फोटोकॉपी की गई। इन दस्तावेजों की अनाधिकृत फोटो कॉपी के जरिए की गई चोरी ने देश की सुरक्षा, सम्प्रभुता और दूसरे देशों के साथ दोस्ताना सम्बधों को बुरी तरह प्रभावित किया है।

Election Commission bans PM Modi’s biopic: चुनाव आयोग ने पीएम मोदी की बायोपिक पर रोक

पीएम मोदी के जीवन पर आधारित फिल्म की चर्चा जोरों पर थी। लगातार इस पर रोक लगाने की मांग हो रही थी। अब निर्वाचन आयोग ने ही इस पर रोक लगा दी है। यह फिल्म चुनाव अवधि में रिलीज नहीं होगी। बता दें कि यह फिल्म 11 अप्रैल को रिलीज होने वाली थी। इस मामले को कोर्ट में भी ले जाया गया था। इस पर सुनवाई के बाद सुप्रीम कोर्ट ने इस बायोपिक को रिलीज करने या न करने का फैसला चुनाव आयोग पर छोड़ा था। विपक्ष लगातार फिल्म की रिलीज पर रोक लगाने की मांग कर रहा था। विपक्ष का मानना था कि इससे आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन होता है। फिल्म की रिलीज से एक पार्टी या व्यक्ति विशेष के प्रति मतदाता प्रभावित होंगे। फिल्म की रिलीज पर रोक लगाने का फैसला ऐसे समय पर आया है जब एक दिन पहले ही सेंसर बोर्ड से इसे यू सर्टिफिकेट मिल चुका है। मंगलवार को फिल्म को यू सर्टिफिकेट मिला था और अब यह सुनिश्चित करना निमार्ताओं के हाथ में था कि वह उसे पूर्व निर्धारित तारीख पर रिलीज करते हैं या नहीं। देश में आम चुनाव होने हैं और देश में आचार संहिता लागू है। इस बाबत कांग्रेस के लोगों ने पीएम मोदी की बायोपिक रिलीज न करने की मांग की थी। जिसपर मंगलवार को सुनवाई करते हुए न्यायालय ने याचिका को खारिज कर दिया था। उच्चतम न्यायालय ने कहा था कि वह फिल्म की रिलीज पर रोक लगाने की मांग वाली याचिका पर सुनवाई नहीं कर रहा है क्योंकि याचिका अपरिपक्व है। फिल्म को अभी सेंसर बोर्ड ने भी प्रमाण पत्र जारी नहीं किया है। न्यायालय ने कहा था कि अगर फिल्म 11 अप्रैल को रिलीज होती है जैसा कि कांग्रेस कार्यकर्ता ने दावा किया है तो भी यह उचित होगा कि वह निर्वाचन आयोग के पास जाए। यह फैसला चुनाव आयोग को करना है कि क्या फिल्म आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन करती है या नहीं।

Modi and Pakistan alliance: Congress: मोदी और पाकिस्तान का गठजोड़ हो गया: कांग्रेस

नई दिल्ली। लोकसभा चुनावों को जीतने के लिए कांग्रेस और बीजेपी दोनों अपना पूरा दम लगा रहे हैं। भारत में लोकसभा चुनाव के लिए गुरुवार से सात चरणों का मतदान शुरू होगा। इस बार पाकिस्तान एक बड़ा मुद्दा बना हुआ है। अब कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को घेरने की कोशिश की। रणदीप सुरजेवाला ने पाक प्रधानमंत्री इमरान खान के एक बयान का हवाला देते हुए कहा कि पाकिस्तान का मोदी के साथ आधिकारिक रूप से गठजोड़ हो गया है। पीएम नरेंद्र मोदी को वोट देने का मतलब है कि आप पाकिस्तान को वोट दे रहे हैं। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि ‘पाकिस्तान का मोदी के साथ आधिकारिक रूप से गठजोड़ हो गया है। मोदी को वोट का मतलब पाकिस्तान के लिए वोट.’ रणदीप सुरजेवाला ने दावा किया, ‘मोदी जी, पहले नवाज शरीफ से प्यार और अब इमरान खान आपका चहेता यार! ढोल की पोल खुल गई है।’ खबरों के मुताबिक इमरान खान ने विदेशी पत्रकारों को दिए एक साक्षात्कार में कहा, लोकसभा चुनाव में अगर बीजेपी जीती…कश्मीर पर किसी तरह के समझौता पर पहुंचा जा सकता है। उन्होंने कहा कि अन्य दलों को कश्मीर मुद्दे पर समझौता करने के मामले में दक्षिण-पंथी प्रतिक्रिया का डर होगा। भारत और पाकिस्तान के बीच शांति वार्ता की ज्यादा बेहतर संभावना रहेगी। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान का मानना है कि आम चुनावों में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की पार्टी के जीतने से भारत के साथ शांति वार्ता और कश्मीर मुद्दा हल होने की संभावनाएं अधिक होगी।

Yasin Malik sent to custody: यासिन मलिक को हिरासत में भेजा गया

जम्मू-कश्मीर के अलगावादी नेता यासीन मलिक को बुधवार को अदालत में पेश किया गया। राष्ट्रीय जांच एजेंसी ने जम्मू-कश्मीर में आतंकवादियों और अलगाववादी समूहों को धन मुहैया कराने के मामले में उन्हें अदालत में पेश किया। जेकेएलएफ प्रमुख यासीन मलिक को कोर्ट ने 22 अप्रैल तक एनआईए की हिरासत में भेज दिया है। एनआईए की विशेष अदालत ने जांच एजेंसी को उसे हिरासत में लेकर पूछताछ करने का आदेश देने के बाद मलिक को मंगलवार शाम राष्ट्रीय राजधानी लाया गया था। जम्मू-कश्मीर लिबरेशन फ्रंट प्रमुख को तिहाड़ जेल ले जाया गया। जम्मू-कश्मीर पुलिस ने फरवरी में भी उसे एहतियाती तौर पर हिरासत में लेकर जम्मू जेल में स्थानांतरित कर दिया गया था। जम्मू-कश्मीर उच्च न्यायालय ने सीबीआई की तीन दशक पुराने उस मामले पर दोबारा सुनवाई करने वाली याचिका पर फैसला सुरक्षित रख लिया था, जिसमें मलिक आरोपी है। जेकेएलएफ प्रमुख पर तत्कालीन केंद्रीय गृहमंत्री मुफ्ती मोहम्मद सईद की बेटी रुबैया सईद का 1989 में अपहरण करने और 1990 के शुरूआती दौर में भारतीय वायुसेना के चार कर्मियों की हत्या में शामिल होने का आरोप है।